32 सूत्रीय मांगों को मनवाने और समस्याओं का निराकरण नहीं होने से चरामा के पटवारी अनिश्चित कालीन हड़ताल पर

32 सूत्रीय मांगों को मनवाने और समस्याओं का निराकरण नहीं होने से चरामा के पटवारी अनिश्चित कालीन हड़ताल पर

चारामा। राजस्व पटवारी संघ छग के बैनर तले अपनी 32 सुत्रीय पुरानी मांगों, समस्याओं के निराकरण नहीं होने एवं मुईया साफॅटवेयर में हो रही समस्याओं को लेकर तहसील शाखा चारामा के सभी पटवारी 8 जुलाई से अनिश्चित कालीन हडताल पर हैं। पटवारी संघ की मांग है कि पटवारियों को आवश्यक संसाधन एवं नेट भत्ता दिया जाए। ऑनलाइन नक्शा बटांकन प्रक्रिया एवं उसका सर्वर सही किया जाए। जिले स्तर पर सहायक प्रोग्रामरों की पदस्थाना की जाए, त्रुटिपूर्ण खसरे को शुद्ध एवं विलोपित करने का आप्शन दिया जाए। भूमि के क्रय विक्रय में जितने रकबे का विक्रय होता है, उसका उल्लेख स्वतः ही मुईया पोर्टल में प्रविष्ट किया जाये, दूसरे राज्य से आये व्यक्ति के द्वारा खरीदी की गई जमीन हेतु युक्तियुक्त सुधार किया जाये, संकलन, विलोपन संशोधन के नाम पर पटवारियो के खिलाफ दुर्भावनापुर्वक कार्यवाही पर रोक लगाई जाये, किसानों द्वारा समिति या बैंक के माध्यम से लिये गये कर्ज को चुकता किये जाने के बाद ऑनलाइन मुईया से बैंक बंधक को हटाये जाने की प्रकिया की जाये, डिजिटल टोकन हेतु खर्च दिया जाये, ऑनलाईन रिकार्ड में आधार नम्बर एंव मोबाईल नम्बर, किसान किताब नम्बर की प्रविष्टि नहीं होने पर पटवारी के उपर कार्यवाही नही की जाये, ऑनलाइन रजिस्ट्री के बाद नामांतरण की प्रक्रिया को हिन्दी में की जाये, वर्तमान में प्रदेश स्तर पर 100 प्रतिशत् नक्शा बटांकन का दवाब बनाया जा रहा है, जबकि वर्तमान मे किसानी का कार्य चल रह है। इसमें किसान व्यस्त है और बटांकन का कार्य करने में दिक्कते आ रही है, जिसके लिए पटवारीयो को दोषी न ठहराया जाये, खसरो मे कमांकन एवं नई राजिस्ट्री और नामांतरण के बाद भी खसरे में पुराने नुस्वामी का नाम दर्ज हो गया है। इसके लिए पटवारियों को दोषी ठहराया जा रहा है, जो न्याय संगत नहीं है। वर्ष में 2 बाद उपायुक्त कार्यालय द्वारा पटवारियों का बस्ता जांच किया जा है,जबकि वर्तमान में सभी प्रकार के राजस्व अभिलेख ऑनलाईन है इसलिए बस्ता जांच प्रथा पर रोक लगाई जाए, अधिकतर समय मुईया सर्वर वीमा रहता है, इसलिए मुईयों में ऑनलाईन में कार्य करने का समय कार्यालय समय अनुसार 10 बजे से 5 बजे तक किया जाये, मुईया में कई प्रकार की विसंगतियो के कारण एक ओर जहाँ पटवारी का कार्य करने में परेशानी हो रही है। वही दूसरी ओर खाताधारकों भूमि स्वामियों कृषकों को भी अनावश्यक न्यायालयीन कार्यवाही का सामना करना पड रहा है। इसलिए कृषको के हित में साफटवेयर में सुधार करने का कष्ट करें। साथ ही मुईया साफटवेयर में सुधार करने के साथ ही जिम्मेदार अधिकारियो की जवाबदारी तय की जाये सहित अन्य मोंगो को लेकर पटवारी धरने पर बैठे हुए है। पटवारियो के धरने से वर्तमान में नये शिक्षा सत्र हेतु छात्र छात्राओ के जाति निवास बनाने में दिक्कते होगी, वही 15 जुलाई से गिरदावली का कार्य किया जाना है। वही खेती के इस समय किसानों को खाद बीज के लिए नक्शा एवं अन्य दस्तावेजों की आवश्यक्ता होती है, जो पटवारी के माध्यम से बनाये जाते है। ऐसे में ये सभी कार्य सहित अन्य कार्य भी प्रभावित होगे। पटवारियों के इस धरने में विकासखण्ड चारामा के सभी पटवारी धरने में शामिल रहे और मांग पुरी नहीं होने तक धरने पर बैठे रहने की बात कही।