मैं तो जिंदा हूं : भतीजे ने रची ऐसी साजिश की सरकारी रिकार्ड में महिला हो गई मृत

मैं तो जिंदा हूं : भतीजे ने रची ऐसी साजिश की सरकारी रिकार्ड में महिला हो गई मृत

नवापारा। गोबरा नवापार क्षेत्र में एक ऐसा मामला सामने आया है, जहां जीवित महिला को सरकारी रिकार्ड में मृत बताया दिया गया। दरअसल, महिला को मृत बताकर फर्जी दस्तावेज के आधार पर संपत्ति हथियाने यह साजिश रची है। मामले को लेकर महिला ने कुर्रा के कार्यवाहक सरपंच डमेश साहू, मुन्ना ध्रुव तथा संबंधित भू माफियाओं के खिलाफ जांच कर सख्त से सख्त कार्यवाही करने को लेकर थाना प्रभारी गोबरा नवापारा, तहसीलदार गोबरा नवापारा, पुलिस अधीक्षक रायपुर, नगर पुलिस अधीक्षक नया रायपुर को इस संबंध में आवेदन सौंपा है।

क्या है पूरा मामला

मनराखन सिंह ठाकुर की ग्राम पंचायत कुर्रा प. ह. नं. 16 रा.नि.मं. पिपरौद तहसील गोबरा नवापारा जिला रायपुर स्थित भूमि जिसका खसरा नंबर 107, 472, 493, 636, 798 रकबा क्रमशः 0.35, 0.28, 0.25, 0.47, 0.04 इस प्रकार कुल 3.475 एकड़ जमीन है। मनराखन की कुल पांच संताने सावित्री (अविवाहित मृत), दाऊ लाल (मृत), कौशल्या (विवाहित मृत), सुशीला (अविवाहित जीवित) और सबसे छोटी बेटी शीला उर्फ रमशिला (विवाहित जीवित) हैं।

जीवित को बताया मृत, लगाया मृत्यु प्रमाण पत्र

स्व. मनराखन ठाकुर की पांच संतानों में वर्तमान में दो संताने जीवित हैं जिसमें आवेदिका रामशिला ठाकुर पिता स्वर्गीय मनराखन सिंह ठाकुर ने आवेदन में बताया है कि उनका फर्जी मृत्यु प्रमाण पत्र लगाकर उक्त जमीन को हड़पने आवेदिका के भतीजे मुन्ना ध्रुव, कुर्रा के कार्यवाहक सरपंच डमेश साहू तथा भूमाफियाओं के साथ मिली भगत कर उनका मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाकर पूरी जमीन हड़पने की साजिश का आरोप लगाया है। साथ ही जमीन हथियाकर भू माफिया को बेचने का उद्देश्य बताया है। मृत्यु प्रमाण पत्र के अनुसार रामशिला साहू की मृत्यु 11 अगस्त 2016 तथा सुशीला की मृत्यु 15 जनवरी 2015 को बताया गया। जिसका बाकायदा मृत्यु प्रमाण पत्र भी संलग्न किया गया है।

कुर्रा सरपंच ने दी गलत जानकारी

आवेदन में रामशिला ने बताया है कि कुर्रा के कार्यवाहक सरपंच डमेश साहू ने सब कुछ जानते हुए भी मुन्ना ध्रुव तथा भू माफिया के साथ सांठ गांठ कर पूर्णतः असत्य जानकारी भरते हुए वंशावली प्रमाण पत्र जारी किया जिसमें मनराखन ठाकुर की चारों पुत्रियों को अविवाहित बताया। जबकि उनकी दो पुत्रियां विवाहित है। एक विवाहित और एक अविवाहित पुत्री वर्तमान में रायपुर में निवासरत हैं।*

मुन्ना ध्रुव ने दिया झूठा शपथ पत्र

आवेदिका के भतीजे मुन्ना ध्रुव ने बाकायदा झूठा शपथ पत्र नोटरी से सर्टिफाइड करके लगाया है। जिसमें उन्होंने अपनी सभी बुआओ को मृत बताया है और सिर्फ अपने परिवार को उत्तराधिकारी बताया है ।

क्या कहते हैं जिम्मेदार

इस संबंध में कुर्रा के कार्यवाहक सरपंच ने बताया मेरे पास पंच गैंदलाल माहेश्वरी और कोटवार आए थे। कागज में कोटवार के हस्ताक्षर थे और गैंदलाल ने बताया मैं ही उनकी जमीन को रेघा में बोता हूं। मैने आजतक परिवार के लोगों को देखा नहीं है। उनके कहने पे ही मैंने वंशावली जारी किया हैं। इस संबंध में हमारे प्रतिनिधि द्वारा नायाब तहसीलदार अशोक जंघेल के मोबाइल पर बार बार संपर्क किया गया परंतु उन्होंने फोन नहीं उठाया।