आवाज सुनकर छत पर सो रहे पड़ोसी की खुली नींद,लॉक तोड़कर बाइक ले जाते चोर पकड़ा गया

आवाज सुनकर छत पर सो रहे पड़ोसी की खुली नींद,लॉक तोड़कर बाइक ले जाते चोर पकड़ा गया

बाराद्वार से संवाददाता गनपत चौहान की रिपोर्ट

बाराद्वार। नगर के घनी आबादी वाले गर्ल्स स्कूल के पास से गुरूवार देर रात चोरी की नीयत से घर के सामने खड़ी बाइक ले जा रहे दो संदिग्ध युवकों को पड़ोसी के सहयोग से बाइक मालिक ने धर दबोचा। उनकी जमकर पिटाई करने के बाद पुलिस को सौंप दिया। घटना के संबंध में आशीष सिंघानिया पिता नत्थू सिंघानिया ने पुलिस को बताया कि वह नगर पंचायत क्षेत्र के वार्ड नं.7  का रहने वाला है , ट्रांसपोर्ट का काम करता है । 31 मई गुरुवार को देर रात सवा दो बजे बजे पड़ोसी सौरभ अग्रवाल ने घर का दरवाजा नॉक करके उसे उठाया  सौरभ ने बताया कि तुम्हारे घर के सामने खड़े मोटर साइकिल को दो संदिग्ध लड़के हेंण्डल तोड़कर पैदल ढुलाते हुए ले जा रहे हैं। उसने अपने पड़ोसी सौरभ अग्रवाल के साथ उसके मोटर सायकल से उन लड़को को पकड़ने निकले। घर से करीब 500 मीटर की दूरी पर दो लड़के मोटर साइकिल ले जाते दिखे।  हम लोग बिना आवाज किए उनके पास पहुंचकर देखा , वे मेरा मोटर साइकिल क्रमांक सीजी 11- BD -5569 को ले जा रहे थे। हम लोग उनके सामने रूक कर बोले  मोटर साइकिल को चोरी करके कहां ले जा रहे हो? बोलने पर दोनों लड़के मोटर सायकल को पटक कर भागनें लगे , जिसको तब वह और सौरभ अग्रवाल दौड़ा कर एक लड़के को पकड़ लिये, दूसरा लड़का खंण्डहर मकान की तरफ भाग गया। जो लड़का पकड़ाया उसने  पूछताछ करने पर अपना नाम पवन बरेठ पिता गोदावरी प्रसाद बरेठ निवासी चांपा जिला जांजगीर चांपा का रहने वाला बताया। उसने बताया कि अपने दोस्त मुकेश देवांगन के साथ मोटर साइकिल चोरी करने चांपा से अपने मोटर साइकिल क्रमांक CG-11-AV-4038 से चोरी करने बाराद्वार आया है। मौके पर उसके मोटर साइकिल के अलावा मोटर सायकल क्रमांक CG-11-AV-4038 मिला,जिसे पवन बरेठ मेरा गाड़ी है बोलकर बताया है। जिसे 112 को डायल करके पुलिस वालों को बुलाकर दोनो मोटर साइकिल व पवन बरेठ को सौप दिया गया।

*बाइक चोरों में एक पकड़ से बाहर*

गर्ल्स स्कूल के पास नत्थू सिंघानिया के घर के सामने से बाइक उड़ाने की घटना में पांच लड़कों के शामिल होने की खबर है। बताया जाता है कि चोरों का एक साथी अब तक पुलिस की पकड़ से बाहर है।

*सौरभ के साहस की सराहना*

बाइक चोरों को पकड़ने में सौरभ अग्रवाल की भूमिका की लोग सराहना कर रहे हैं। उसने देर रात नींद खुलने पर ट्रांसपोर्टर पड़ोसी आशीष सिंघानिया पिता नत्थू सिंघानिया के घर के बाहर खड़ी बाइक ले जा रहे चोरों तक पहुंचने के लिये आशीष को साथ लेकर चोरों का पीछा किया। चोरों तक पहुंचने में एसआई अनवर अली के रोल की भी  प्रशंसा हो रही है , उन्होंने भाग रहे चोर के साथियों को बिना देर किये धर-दबोचा। वे देर रात गश्त पर थे , इसी दौरान उन्हें जैजैपुर चौक की ओर तीन संदिग्ध युवक भागते दिखे थे।