बेल्हाडीह में सरकारी जमीन को बनाया खेत,तहसीलदार की जांच में शिकायत सही मिली

बेल्हाडीह में सरकारी जमीन को बनाया खेत,तहसीलदार की जांच में शिकायत सही मिली

बाराद्वार से संवाददाता गनपत चौहान की रिपोर्ट

बेजाकब्जा करने वालों को नोटिस,शिकायतकर्ता सरपंच को धमकी ,पुलिस से दोषियों पर कार्रवाई की मांग

बाराद्वार। बेजाकब्जा करने वालों के हौसले इतने बुलंद हो गए हैं। अब उन्हें सरकारी जमीन निगलने में जरा भी गुरेज नहीं है। उन्हें प्रशासन का डर है न कार्रवाई की चिंता। एक ऐसा ही मामला ग्राम  बेल्हाडीह में सामने आया है। वहां  गांव के ही कुछ लोगों ने सरकारी जमीन पर बेजा कब्जा कर खेत बना लिया है। तहसीलदार ने काम रोकने के आदेश जरूर दिए हैं। मगर उन पर इसका कोई खास असर नहीं दिख रहा है। उल्टे उन्होंने बेजाकब्जा की शिकायत पर महिला सरपंच को देख लेने की धमकी दी है।

बाराद्वार तहसील के ग्राम पंचायत बेल्हाडीह में खसरा नम्बर 104 में अवस्थित 20.230 हेक्टेयर सरकारी जमीन के  0.40 एकड़ में गांव के ही रहने वाले दिनेश कुमार पिता शंकर लाल साहू , राजकुमार पिता शंकर लाल साहू एवं 0.45 एकड़ हिस्से में भरत लाल पिता शिवनंदन साहू ने बेजाकब्जा कर खेत बना लिया है। इस मामले में बेल्हाडीह सरपंच चन्द्रकला रात्रे की शिकायत पर तहसीलदार बाराद्वार ने बेजा कब्जा रोकने एवं पटवारी को मौका मुआयना करने के आदेश दिए थे।

जानकारी मिली है कि सरकारी जमीन पर बेजाकब्जा की शिकायत को पटवारी ने सही पाया है। इस मामले में 24 जून सोमवार को उन्हें तहसीलदार ने तलब किया।

जांच में सरकारी जमीन पर बेजाकब्जा की पुष्टि

बेल्हाडीह में सरकारी जमीन के खसरा नम्बर 104 के एक बड़े हिस्से में गांव के ही कुछ लोगों द्वारा बेजा कब्जा कर खेत बनाने की शिकायत जांच में सही पाई गई है। पिछले दिनों तहसीलदार बाराद्वार के आदेश पर हल्का पटवारी यशवंत पाटनवार ने मौका मुआयना किया था। जानकारी अनुसार पटवारी ने तहसीलदार को जांच प्रतिवेदन सौप दिया है। जिस पर बेजाकब्जा धारियों को कल 24 जून  सोमवार को तहसील में हाजिर किया।

बेजाकब्जा का असर विकास कार्यों पर

विकास कार्यों के लिये पैसों की कोई कमी नही है। बुनियादी जरूरतों के लिये पंचायतों को पर्याप्त राशि दी जा रही है। इसके बावजूद समय पर काम नही हो पा रहे हैं , इसका एक बड़ा कारण सरकारी जमीन पर बेख़ौफ़ जारी बेजाकब्जा है! जिसे लेकर अधिकारी भी गंभीर नही हैं।

शिकायत पर महिला सरपंच को देख लेने की धमकी

पिछले दिनों सरपंच चंद्रकला रात्रे ने गांव के ही रहने वाले शंकर लाल साहू , भरत लाल साहू एवं मोहन लाल साहू द्वारा सरकारी जमीन पर बेजाकब्जा कर खेत बनाने की शिकायत तहसील दार से की थी।  उसका आरोप है कि शिकायत से आग-बबूला होकर उपरोक्त बेजा कब्जाधारियों ने उसे गाली-गलौज कर समय आने पर देख लेने की धमकी दी है। जिससे वह खुद को प्रताड़ित महसूस कर रही है। सरपंच ने पुलिस में आवेदन देकर दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है।