धान का उठाव कराने जिलाधीश को सहकारी समिति के कर्मचारियों ने सौंपा ज्ञापन

धान का उठाव कराने जिलाधीश को सहकारी समिति के कर्मचारियों ने सौंपा ज्ञापन

सक्ती से संवाददाता मोहन अग्रवाल की रिपोर्ट 

सक्ती। जिले के अंतर्गत धान उपार्जन केंद्रों में रखे धान का यथा शीघ्र उठाव कराने एवं खरीफ विपणन वर्ष 2022-23 की धान खरीदी प्रोत्साहन राशि दिलाने  खरीफ विपणन वर्ष 2023 24 में धान
खरीदी का कार्य पूर्ण हो चुका है। सक्ति जिले अंतर्गत कुल 125 उपार्जन केंद्रों में लगभग 517475.64 टन धान खरीदी हुई है जिसमें अभी भी उपार्जन केंद्रों में लगभग 2 लाख टन धान जाम है। उपार्जन जिले के अधिकांश उपार्जन केंद्रों में धान उठाव हेतु 09.01.2024 के बाद कोई डीओ जारी नहीं हुआ है एवं जिन केन्द्रों में एक माह पूर्व भी डीओ जारी हुआ है उनका धान उठाव मिलर द्वारा नहीं किया गया है। खरीदी केंद्रों में चूहों एवं दीमकों से धान एवं धान भरे बारदाने को नुकसान हो रहा है। जबकि धान खरीदी के 72 घंटो के अंदर धान उठाव का प्रावधान है। ऐसे में अगर शीघ्र उठाव नहीं कराया जाता है तो धान में सूखत आना आवश्यक है। जिससे जिले में 0% शार्टेज का लक्ष्य हासिल करना मुश्किल है। अतः धान का उठाव शीघ्र कराई जावे, अन्यथा किसी भी प्रकार की क्षति व कमी के लिए प्रभारियों व समिति कर्मचारियों को जिम्मेदार ना माना जावे।
खरीफ विपणन वर्ष 2022-23 की धान खरीदी की धान खरीदी की प्रोत्साहन राशि अभी तक समितियां को अप्राप्त है जिसे शीघ्र समिति खाते में समायोजन किया जावे।

सहकारी समिति के कर्मचारियों ने निवेदन है किया है कि उक्त दोनों मांगो को एक सप्ताह के भीतर पूर्ण किया जावे। मांगे पूर्ण नहीं होने की स्थिति में सभी समिति कर्मचारी एवं धान खरीदी के समस्त कर्मचारी अवकाश लेकर दिनांक 13.02.2024 को एकदिवसीय जिला विपणन कार्यालय के सामने धरना प्रदर्शन करेंगे। जिसकी सम्पूर्ण जवाबदारी शासन प्रशासन की होगी ।