शिक्षा विभाग जांजगीर की प्रदर्शनी जाज्ज्वल्य देव महोत्सव में रही आकर्षण का केंद्र

शिक्षा विभाग जांजगीर की प्रदर्शनी जाज्ज्वल्य देव महोत्सव में रही आकर्षण का केंद्र

जांजगीर-चांपा से संवाददाता राजेश राठौर की रिपोर्ट 

जांजगीर-चांपा। जिला शिक्षा अधिकारी की सक्रियता से जिला शिक्षा विभाग का प्रदर्शनी स्थल बहुत ही आकर्षक रहा। शिक्षा विभाग की आज की मुख्य थीम पीएम श्री स्कूल रहीं।  स्कूल संबंधी आकर्षक झांकी प्रदर्शनी स्थल पर लगाई गई है। इस झांकी के माध्यम से पीएम श्री की भावी विद्यालय की छवि को प्रस्तुत किया गया है। इसके साथ ही साथ पी एम श्री स्कूल में मिलने वाले लाभ की भी जानकारी इस प्रदर्शनी स्थल में दी जा रही है।जिला शिक्षा अधिकारी भारती वर्मा की सक्रियता के चलते शिक्षा विभाग की इस प्रदर्शनी में जिले में बच्चों की कई गतिविधियों के संबंध में प्रदर्शनियां प्रस्तुत की गई है। प्रथम दिवस पंडाल में भोजपुर विद्यालय के बच्चों ने अपनी प्रस्तुति दी,जिसमें उन्होंने जिले के प्रभारी मंत्री ओपी चौधरी को भूकंप से रक्षा एवं जल संरक्षण के विषय में बनाई गई अपनी आकर्षक प्रदर्शनी के बारे में जानकारी प्रस्तुत की। प्रभारी मंत्री के द्वारा बच्चों की प्रशंसा की गई साथ ही विभाग द्वारा प्रदर्शित झांकी को लाभकारी बताया। इस प्रदर्शनी में व्याख्याता चक्रपाल तिवारी ने किचन गार्डन संबंधी आकर्षक थीम प्रस्तुत की जो देखनी योग्य रही। इसी प्रकार राज्यपाल पुरस्कृत व्याख्याता अनुराग तिवारी ने इस प्रदर्शनी में निशुल्क शिक्षा और साक्षर भारत के संबंध में लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया।  जिले के नवाचारी शिक्षक गुलजार बरेठ ने बच्चों को सरलता से शिक्षण सहायक सामग्री के माध्यम से ज्ञान कैसे स्थानांतरित किया जाए। इस विषय पर कई प्रकार की सहायक सामग्री रखी जो आकर्षण का केंद्र रहीं। इसी प्रकार बलौदा के शिक्षक दिलीप लहरे जी ने बच्चों के लिए बहुत सारे कागज से आकर्षक क्राफ्ट वर्क करके खिलौने बनाए थे, जिसको बच्चों ने काफी पसंद किया। इसके आलावा इस प्रदर्शनी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की परीक्षा पर चर्चा थीम पर सेल्फी जोन भी प्रस्तुत किया गया है, जिसमें कई बच्चों ने आकर अपनी सेल्फी प्रधानमंत्री के साथ ली। यह भी आकर्षण का केंद्र रही। इन सब को एक कड़ी में जोड़ने का सफल प्रयास जिला शिक्षा अधिकारी के द्वारा किया गया जिन्होंने एक-एक शिक्षकों को उनकी योग्यता के आधार पर इस प्रदर्शनी में शामिल किया। इस प्रकार शिक्षा विभाग की यह प्रदर्शनी चर्चा का केंद्र रहीं क्योंकि इतने आकर्षक ढंग से आम जनमानस को शिक्षा विभाग की इस प्रदर्शनी ने अपनी ओर खींचने का प्रयास किया।