जंगल में अवैध अतिक्रमण रोकने पहुंचे रेंजर सहित वन विभाग के 3 कर्मचारियों पर जानलेवा हमला

जंगल में अवैध अतिक्रमण रोकने पहुंचे रेंजर सहित वन विभाग के 3 कर्मचारियों पर जानलेवा हमला

गरियाबंद से संवाददाता विजय साहू की रिपोर्ट

लाठी डंडे से लैंस ग्रामीणों ने रेंजर औए कर्मचारियों को कपड़ा उतारकर बुरी तरह से पीटा

गरियाबंद। जंगल में अतिक्रमण रोकने गए रेंजर समेत 3 वन कर्मियों के कपड़े उतार अतिक्रमणकारियों ने लाठी डंडे से बेदम पिटाई की।  अर्धनग्ध हालत में एक वन कर्मी के घर पहुंच मदद मांगी। मैंनपुर में प्राथमिक इलाज के बाद गंभीर घायल अवस्था को देख सभी को गरियाबंद रेफर किया गया।
उदंती सीतानदी टाइगर रिजर्व के बफर जोन के तौरेंगा वन परिक्षेत्र में शनिवार को वन परिक्षेत्र अधिकारी राकेश परिहार अपने शासकीय वाहन से कर्मी पिताम्बर डोंगरे के साथ सूचना के आधार पर अवैध अतिक्रमण को रोकने वन कक्ष क्रमांक 1138 पहुंचे थे। गोना नवापारा निवासी अशोक द्वारा टैक्ट्रर से वन भूमि में अवैध रूप से जोताई कार्य किया जा रहा था,जिसे रेंजर द्वारा रोका गया। वन अमला को देख चालक ट्रेक्टर सहित गांव की ओर भाग गया।

घटना स्थल का मुआयना अमला कर रहा था, तभी गांव की ओर से 25 से 30 महिला पुरूष वन अफसर रेंजर और उनके वन कर्मचारियों को चारों तरफ से घेरकर पकड़ लिया। रेंजर परिहार व अन्य तीनो कर्मियों के कपड़े उतरवाए। मोबाइल पैसा भी छीना गया। फिर उन्हें भीड़ ने लाठी व डंडे से तब तक पीटते रहे जब तक शरीर से चमड़ी न उधड़ गई ।
घायल वन परिक्षेत्र अधिकारी राकेश परिहार ने बताया कि हम लोग अवैध अतिक्रमण रोकने गये थे और 25 से 30 महिला पुरूषों ने हमें पकडकर जमकर मारपीट किया। साथ ही हमारे कपड़े उतार दिये। मोबाईल, पर्स, जुता, चप्पल, पैसा सब छीन लिया। हम लोग अपने जान बचाने भागने लगे। फिर एक महिला के द्वारा मात्र शासकीय वाहन बोलेरो की चाबी दिया गया ।

अर्ध नग्न हालत में घायल रेंजर एव वन कर्मचारी रक्शापत्थरा लघु वनोपज सहकारी समिति के प्रबंधक के घर पहुंच सहयोग लिया। वहां सहयोगी कर्मियो ने मौजूद धोती साड़ी में लपेट कर पहले शोभा थाना पहुंचाया । जहां रेंजर राकेश परिहार ने मामले की लिखित शिकायत दर्ज कराई। घायलों को मैनपुर अस्पताल में भर्ती कर आरंभिक उपचार कराया गया। फिर उन्हें गरियाबंद अस्पताल के लिए रेफर किया गया।
घटना की सूचना लगते ही सहायक संचालक व पुलिस अफसर अस्पताल पहुंच गए थे। मामले की पुष्टि करते उदंती सीतानदी टाइगर रिजर्व के उपनिदेशक वरुण जैन ने कहा की वन कर्मी अफसरों के साथ अतिक्रमण कारियों ने मारपीट किया है। इसमें उचित कानूनी कार्रवाई कराने आला अफसरों को कहा गया है। घायलों को उचित उपचार कराया जा रहा है। आरोपियों की यह कायराना हरकत है। अतिक्रमण हटाओ अभियान सतत जारी रहेगी ।

मैनपुर एसडीओपी पुलिस बाजीलाल सिंह ने बताया कि वन विभाग द्वारा मामले की सूचना दिया गया है। रिर्पोट दर्ज कराने के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी।