वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से शहीद परिवारों की सुनी गई फरियाद

वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से शहीद परिवारों की सुनी गई फरियाद

गरियाबंद से संवाददाता विजय साहू की रिपोर्ट 

शहीद परिवार ने पुलिस अधीक्षक के माध्यम से मुख्यालय स्तर पर विभिन्न मांगों को लेकर रखी अपनी बाते 

गरियाबंद। पुलिस मुख्यालय नवा रायपुर शहीद पुलिस सेल अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक हिमांशु गुप्ता, उमनि पारूल पाथुर के द्वारा वीडियों कान्फ्रेंस के माध्यम से शहीद परिवारों का फरियाद सुने। शहीद परिवार के द्वारा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित तुकाराम काम्बले के माध्यम से विभिन्न बिन्दुओं में अपनी बात रखी जैसे अनुकम्पा नियुक्ति, पेंशन, शहीद स्मारक, शहीद के नाम पर स्कूल का नामकरण, शहीद परिवार आई.कार्ड, दिगर विभाग में नौकरी, शहीद परिवार को सरकारी नौकरी में छुट जैसे अन्य मुद्दों पर चर्चा किया गया। शासन एवं पुलिस प्रशासन द्वारा शहीद जवानों के परिवारों के देख-भाल के लिए एक शहीद पुलिस सेल का हर जिले में गठन किया गया है। इस सेल में पुलिस अधीक्षक के साथ कुल 10 सदसीय सेल का तैनात किया गया है।

शहीद पुलिस सेल के द्वारा समय-समय पर शहीद परिवारों के सदस्यों से भौतिक रूप से या दूरभाषा के माध्यम से संपर्क कर हाल-चाल पुछे जाते है। साथ ही साथ शासन एवं प्रशासन के योजनओं जैसे शहीद के परिवार को अनुकम्पा नियुक्ति देना, पेंशन का लाभ, निःशुल्क शिक्षा, चिकित्सा प्रावधानों का जानकारी के अलावा अन्य लाभ के संबंध में भी जानकारी बताया गया।
  गरियाबंद पुलिस कप्तान के द्वारा सीआरपीएफ के शहीद जवान राजेश कुमार ध्रुव की  पत्नि तुलसी ध्रुव निवासी ग्राम रवेली थाना छुरा के द्वारा अपने अनुकंपा नियुक्ति जिला स्तर पर ही सीआरपीएफ में नियुक्ति चा रही थी। वीडियों कॉन्फ्रेंस के दौरान उनकी बात को वरिष्ठ अधिकारी के समक्ष रखे। प्रत्येक माह शहीद पुलिस सेल का मुख्यालय स्तर पर मीटिंग आयोजित कर शहीद के परिवारों का हाल-चाल पुछते हुए लंबित फरीयादों को लेकर चर्चा की जायेगी साथ ही लंबित मांगों का त्वरित निराकरण किया जायेगा।  इस वर्चुअल मीटिंग में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गरियाबंद धीरेन्द्र पटेल नक्सल ऑप्स, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र चंद्राकर के साथ जिले के सभी शहीद पुलिस जवानों के परिवार उपस्थित रहे।