राजिम कुंभ कल्प मेला की तैयारी के लिए कलेक्टर ने की समीक्षा, आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करने दिए निर्देश

राजिम कुंभ कल्प मेला की तैयारी  के लिए कलेक्टर ने की समीक्षा, आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करने दिए निर्देश

गरियाबंद। जिले के पवित्र धार्मिक नगरी राजिम के त्रिवेणी संगम में प्रतिवर्ष लगने वाले राजिम कुंभ कल्प मेला का आयोजन इस वर्ष 24 फरवरी से 8 मार्च तक किया जाएगा। मेला के लिए स्थल तैयारी युद्ध स्तर पर प्रारंभ हो गई है। मेला के सुव्यवस्थित आयोजन हेतु जिला प्रशासन द्वारा जिला स्तरीय अधिकारियों को नोडल प्रभारी अधिकारी नियुक्त किया गया है। कलेक्टर दीपक  अग्रवाल ने  कलेक्टोरेट सभाकक्ष में सभी जिला प्रमुख अधिकारियों की बैठक लेकर राजिम कुंभ कल्प मेला स्थल तैयारी की अद्यतन समीक्षा की। साथ ही अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। उन्होंने मेला स्थल पर स्वास्थ्य सुविधाएं के लिए स्वास्थ्य शिविर, लक्ष्मण झूला, स्नान कुंड, वाहनों के लिए पार्किंग व्यवस्था, मेला स्थल पर पर्याप्त मात्रा में पेयजल एवं टॉयलेट व्यवस्था, मंदिरों की पोताई एवं आकर्षक साज-सज्जा, विभागवार स्वागत गेट निर्माण, महानदी आरती स्थल पर समुचित प्रबंध, दाल-भात केन्द्र व राशन आबंटन की स्थिति सहित मेला में दिव्यांगों के लिए व्हील चेयर की व्यवस्था समय पर पूर्ण कर लेने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने राजिम कुंभ कल्प मेला के संपर्क मार्गों का मरम्मत कार्य व उबड़-खाबड़ मार्गों का डामरीकरण एवं क्रांकीटीकरण कराने, हेलीपेड, संकेतक बोर्ड लगाने, पानी टैंकर, पंडाल, मेला क्षेत्र के अंतर्गत संत-समागम स्थल, मुख्य मंच, लोमस ऋषि आश्रम सहित अन्य क्षेत्रों में बिना अवरोध विद्युत की आपूर्ति की व्यवस्था करने, हाईमास्क टॉवर लगाने, सड़कों की बैरिकेटिंग, साधू-संतों के रहने की व्यवस्था के लिए बांस-बल्लियां, मेले में आने-जाने वालों के लिए नियमित रूप से मेला अवधि के दौरान वाहनों का संचालन करने, कन्ट्रोल रूम बनाने, मेला क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधाओं की समुचित करने सहित डॉक्टरों को चौबीसों घंटे ड्यूटी लगाने, फायर ब्रिगेड, मेला क्षेत्र में विभागीय प्रदर्शनी लगाये तथा नई योजनाओं की जानकारी प्रदर्शित करने को कहा। मेले में भोजन व्यवस्था के लिए सामाजिक संस्थानों का भी सहयोग लेने को कहा। जिससे मेला में आने वाले आगंतुकों को खाने पीने में असुविधा न हो। कलेक्टर श्री अग्रवाल ने महानदी में पानी छोड़कर नदी को साफ करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने घाट निर्माण की प्रगति की जानकारी लेकर तेजी से पूर्ण करने, स्थानीय कलाकारों के सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुति के लिए एक अलग मंच बनाने के निर्देश दिये। बैठक में विभागों को दिये गये कार्यों की स्थिति की भी समीक्षा की गई तथा प्रक्रिया पूर्ण हो जाने पर शीघ्र कार्य प्रारंभ कराने के निर्देश दिये गये। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ श्रीमती रीता यादव, अपर कलेक्टर  अविनाश भोई, संयुक्त कलेक्टर  नवीन भगत, एसडीओपी  पुष्पेन्द्र नायक, एसडीमए, सीईओ, सीएमओ, सहित जिला अधिकारी उपस्थित थे।