छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन ने किया प्रशिक्षण का विरोध

छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन ने किया प्रशिक्षण का विरोध

नगरी से संवाददाता राजू पटेल की रिपोर्ट

भारी गर्मी के बीच शिक्षकों को दिया जा रहा था प्रशिक्षण

नगरी। पूरे प्रदेश में एफ.एल.एन प्रशिक्षण 10 जून से दिया जाना है,जिसके परिपालन में नगरी विकासखंड में प्रथम दिवस प्रशिक्षण स्थल पर छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन अपनी उपस्थिति देकर विरोध प्रदर्शित कर प्रशिक्षण को स्थगित करने का मांग की है।

40 डिग्री की गर्मी और उमस के बीच प्राथमिक स्तर के शिक्षकों का चार दिवसीय प्रशिक्षण प्रत्येक विकासखंड में दिया जा रहा है। प्रशिक्षण स्थल में कूलर पंखा का समुचित व्यवस्था नहीं होने के कारण पूरे शिक्षक गर्मी और उमस के बीच यह प्रशिक्षण लेने के लिए बाध्य था।इन सभी परिस्थितियों को देखते हुए छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन ने यह प्रशिक्षण स्थगित कराकर शाला खुलने के बाद रखने का मांग की,जिसके फलस्वरुप सभी प्रशिक्षार्थियों ने प्रशिक्षण का विरोध करते हुए प्रशिक्षण स्थल से बाहर निकल गए।

ज्ञात हो पूरे जिले को 12 जोन में बांटकर यह प्रशिक्षण दिया जा रहा था। नगरी विकासखंड में बीआरसी कार्यालय नगरी,कन्या परिसर दुगली,हायर सेकंडरी बेलरगांव,मगरलोड ब्लॉक में आत्मानंद विद्यालय भैंसमुंडी,बीआरसी मगरलोड,बालक शाला मगरलोड,धमतरी विकासखंड में छाती ज़ोन,बीआरसी धमतरी जोन,सहित सभी बारह जोन के प्रशिक्षक प्रशिक्षण का बहिष्कार कर दिया है।

छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन ब्लॉक अध्यक्ष शैलेंद्र कौशल सचिव टीकम चंद सिन्हा,आईटी सेल प्रभारी कैलाश सोन ने प्रशिक्षण स्थल पर उपस्थित होकर बीईओ एवं बीआरसी को प्रतिवेदन सौंपते हुए कहा कि सभी प्रशिक्षण शिक्षकों की सीखने के लिए प्रभावी प्रशिक्षण होता है किंतु अभी गर्मी अपने प्रचंड वेग पर है 40 डिग्री की गर्मी में 7 घंटे तक शिक्षकों को बैठाकर प्रशिक्षण देना अव्यवहारिक लग रहा है जिसका हमारे संगठन की ओर से विरोध है। शाला खुलने के पश्चात प्रशिक्षण रखा जाए जिससे हमारे शिक्षक पूरी तन्मयता के साथ प्रशिक्षण में अपनी सहभागिता प्रदान करेंगे। इस अवसर पर संगठन की ओर से सिधेश्वर साहू,राजकुमार सील एवं अन्य शिक्षक साथी उपस्थित थे।