मोदी 3.0 में शामिल होने नए मंत्रियों को गया फोन,छत्तीसगढ़ से कोई नहीं,पं. नेहरू के 62 साल पुराने रिकॉर्ड की बराबरी करेंगे नरेंद्र मोदी

मोदी 3.0 में शामिल होने नए मंत्रियों को गया फोन,छत्तीसगढ़ से कोई नहीं,पं. नेहरू के 62 साल पुराने रिकॉर्ड की बराबरी करेंगे नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली/ रायपुर (चैनल इंडिया)। प्रधानमंत्री आज शाम 7:15 बजे राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री पद की तीसरी बार शपथ लेंगे। मोदी ने अपने दिन की शुरुआत राजघाट में महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देकर की। वे यहां से पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की समाधि सदैव अटल और फिर नेशनल वॉर मेमोरियल गए।
मोदी 3.0 में शामिल किए जाने मंत्रियों को फोन पहुंचना शुरू हो गए हैं। शपथ से पहले सभी मंत्रियों के साथ पीएम मोदी चाय पर चर्चा की। शपथ लेने के साथ ही मोदी पूर्व पीएम पं. जवाहरलाल नेहरू के लगातार तीन बार प्रधानमंत्री बनने के 62 साल पुराने रिकॉर्ड की बराबरी कर लेंगे। नेहरू 1952, 1957 और 1962 में लगातार तीन बार विजयी होकर पीएम बने थे। हालांकि, नेहरू की सरकार पूर्ण बहुमत की थी। मोदी की तीसरी पारी गठबंधन की बुनियाद पर चलेगी।
छत्तीसगढ़ के किसी भी सांसद को न फोन, न ही न्योता
भारतीय जनता पार्टी की छत्तीसगढ़ इकाई में सब कुछ ठीक होते हुए भी कुछ भी ठीक नहीं है। पार्टी अवश्य ही प्रदेश में 11 में से 10 लोक सभा सीट जीत कर उत्सव में डूबी हुई है, लेकिन नए चुने हुए सांसद, नेता और कार्यकत्र्ता रह-रह कर केंद्र के सन्देश का इंतजार कर रहे हैं कि किसी भी समय एक फोन आएगा और प्रदेश से एक चेहरे को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की टीम का सदस्य बनने पर बधाई प्रेषित किया जाएगा। मध्यप्रदेश से जिन भी चेहरों को मोदी चुनते हैं उन्हें सीधे कैबिनेट में स्थान मिलता है जबकि छत्तीसगढ़ से जिनको दिल्ली बुलाया जाता है उन्हें राजमंत्री का दर्जा दिया जाता है। इस बात की भाजपाइयों में थोड़ी नाराजगी भी है क्योंकि लोक सभा चुनाव में भाजपा के सीट समीकरण को छत्तीसगढ़ ने सदा मजबूती प्रदान की लेकिन मोदी ने कभी उसके किसी भी सांसद को कैबिनेट रैंक में नहीं लिया। छत्तीसगढ़ भाजपा में सबसे अधिक चर्चा इस बात की है कि मोदी मौका किसे देंगे। प्रदेश के 11 सांसदों में अनुभव को मापदंड बनाएं तो रायपुर से चुने गए सांसद बृजमोहन अग्रवाल इस दौड़ में सबसे आगे हैं। लेकिन मोदी सदा संतुलित टीम चुनते हैं जिसमे प्रदेशों के साथ साथ सभी वर्गों का प्रतिनिधित्व सुनिश्चित किया जाता है। 

अब तक इन सांसदों के पास पहुंचा फोन

डॉ. चन्द्रशेखर पेम्मासानी (टीडीपी)
किंजरापु राम मोहन नायडू (टीडीपी)
अर्जुन राम मेघवाल (बीजेपी)
सर्बानंद सोनोवाल (बीजेपी)
अमित शाह (बीजेपी)
नितिन गडकरी (बीजेपी)
राजनाथ सिंह (बीजेपी)
एचडी कुमारस्वामी (जेडीएस)
चिराग पासवान (एलजेपी-आर)
जयंत चौधरी (आरएलडी)
अनुप्रिया पटेल (अपना दल)
ज्योतिरादित्य सिंधिया (बीजेपी)
शिवराज सिंह चौहान (बीजेपी)
जीतनराम मांझी (हम)
जितेंद्र सिंह (बीजेपी)
ललन सिंह (जदयू)
अन्नामलाई कुप्पुसामी (बीजेपी)
रक्षा खडसे (बीजेपी)
राव इंद्रजीत सिंह (बीजेपी)
मनोहर लाल खट्टर (बीजेपी)
शांतुनु ठाकुर (बीजेपी)
अश्विनी वैष्णव (बीजेपी)
मनसुख मांडविया (बीजेपी)

प्रतापराव जाधव (शिवसेना शिंदे गुट)
शांतनु ठाकुर (बीजेपी)
कमलजीत सहरावत (बीजेपी)
रामदास अठावले (आरपीआई)
शांतनु ठाकुर (बीजेपी)
कमलजीत सहरावत (बीजेपी)
शपथ लेने वाले 

सांसदों से मिले मोदी

नरेंद्र मोदी शपथ लेने वाले मंत्रियों के साथ सुबह 11.30 बजे चाय पर मुलाकात की है। माना जा रहा है कि इस बैठक में कहीं न कहीं सभी सांसदों को बता दिया जाएगा कि उन्हें किस मंत्रालय की कमान सौंपी जाने वाली है। नरेंद्र मोदी की तीसरी कैबिनेट में इस बार सहयोगी दलों की भूमिका भी अहम होने वाली है।