सुशासन,सूर्योदय और गारंटी का बजट : सांसद मोहन मंडावी

सुशासन,सूर्योदय और गारंटी का बजट : सांसद मोहन मंडावी

कांकेर। छत्तीसगढ़ राज्य की 2024 की बजट को कांकेर सांसद मोहन मंडावी ने सुशासन सूर्योदय व गारंटी की बजट कहा है। 9 फरवरी को छत्तीसगढ़ विधानसभा में वित्तमंत्री ओपी चौधरी द्वारा बजट प्रस्तुत किया गया। सांसद मोहन मण्डावी ने इस बजट को गरीब, युवा, अन्नदाता एवं नारी के उम्मीदों का तथा मोदी की गारंटी के साथ सुशासन व सूर्योदय वाला बजट कहा है। इस बजट को लेकर प्रेसविज्ञप्ति जारी कर सांसद मोहन मण्डावी ने कहा कि वित्तमंत्री ओ.पी. चौधरी ने 147500 करोड़ रूपए का अनुमानित बजट युवाओं, महिलाओं, गरीबों एवं किसानों के साथ सभी वगों के हित को ध्यान में रखते हुए प्रस्तुत किया ।

कांकेर सांसद मोहन मण्डावी ने प्रस्तुत बजट को लेकर कहा कि छत्तीसगढ़ को विकसित राज्य बनाने के लिए यह सुशासन एवं सुर्योदय का बजट है। इस बजट में 36 लाख गरीब परिवारों का मक्का आवास, महतारी वंदन योजना के लिए महिलाओं को 12000 रूपए सलाना, भूमिहिन कृषकों को 12000 रूपए, कृषि के लिए 10 हजार करोड़, श्रीरामलला दर्शन के लिए 35 करोड़, जल जीवन मिशन के लिए 4500 करोड़, टेक्नीकल रिफार्म के लिए 266 करोड़, शक्तिपीठ के लिए 5 करोड़, सिंचाई परियोजना के लिए 300 करोड़, गोदाम निर्माण के लिए 26 करोड़, मुख्यमंत्री सड़क योजना के लिए 94 करोड़, आवासीय विद्यालय के लिए 13 करोड़, नये सड़कों के लिए 841 करोड़, ब्याज मुक्त कृषि के लिए 8500 करोड़, सभी संभागों में स्नातकोत्तर छात्रावास के लिए 2.40 करोड़, सिंचाई परियोजना के लिए 156 करोड़, कुपोषण दूर करने के लिए 209 करोड़, जनमन योजना के लिए 300 करोड़, महिला सदन के लिए 50 करोड़, पंचायत एवं ग्रामीण विकास के लिए 17539 करोड़, पी.एच.ई. के लिए 5047 करोड़, नालंदा परिसर के तर्ज पर 22 स्थानों पर लायब्रेरी के लिए 148 करोड़, कैम्पा में 1 हजार करोड़, भवन विहिन हा.से./ हाई स्कूल के लिए 100 करोड़, अटल श्रम शक्ति योजना के लिए 123 करोड़, अस्पतालों के लिए 736 करोड़, 400 यूनिट बिजली खपत पर हाफ योजना का लाभ, सोलर पम्पों हेतु 670 करोड़, एकलबत्ती कनेक्शन में 450 करोड़, राज्य मार्गों के लिए 1.90 करोड़, नई रेल लाईन हाल्ट के लिए 120 करोड़, नये ग्रामीणों सड़को के लिए 841 करोड़, स्वच्छ भारत मिशन के लिए 400 करोड़, बाँधों की मरम्मत के लिए 72 करोड़ आदि विभिन्न कार्यों के लिए छत्तीसगढ़ के वित्तमंत्री ने बजट पेश की। यह बजट पिछले बजट की तुलना में 22 प्रतिशत अधिक है, इससे जी.डी.पी. 5 साल में दोगुना होगा। कृषि आधारित उद्योगों को बढ़ावा मिलेगा, बस्तर और सरगुजा को मिले विशेष पैकेज से क्षेत्र विकसित होगा, मत्स्य पालन को प्रोत्साहन मिलेगा यह विजन वाला बजट है गारंटी और टेक्नोलॉजी का बजट है। कांकेर सांसद ने इस बजट को विकसित छत्तीसगढ़ का बजट भी कहा है।