BJP प्रत्याशी ब्रम्हानंद पर कांग्रेस के आरोप पर भाजपा का पलटवार, पूर्व मंत्री कश्यप ने कहा – पहले आरोप सिद्ध करे कांग्रेस

BJP प्रत्याशी ब्रम्हानंद पर कांग्रेस के आरोप पर भाजपा का पलटवार, पूर्व मंत्री कश्यप ने कहा – पहले आरोप सिद्ध करे कांग्रेस

रायपुर. - भानुप्रतापुर उपचुनाव में बीजेपी प्रत्याशी ब्रम्हानंद नेताम पर कांग्रेस के आरोप पर सियासत तेज हो गई है. पूर्व मंत्री केदार कश्यप ने प्रेसवार्ता में कहा कि ब्रम्हानंद नेताम के ऊपर इल्जाम लगाने के बाद से हमारा पूरा बस्तर आक्रोशित है. कांग्रेस पार्टी सबसे पहले आरोप सिद्ध करे. केदार कश्यप ने कहा, मोहन मरकाम और मुख्यमंत्री के चरित्र को भी उजागर करेंगे. सबसे पहले जनता की अदालत जाएंगे. वहीं नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल ने कहा, एफआईआर में साजिश के तहत ब्रम्हानंद नेताम का नाम जोड़ा गया है.

केदार कश्यप ने कहा, एफआईआर में 5 लोग के नाम हैं. 18 तारीख को स्क्रूटनी का प्रावधान था तो उस समय तक चुप क्यों थे? इसका जवाब कांग्रेस पार्टी दे. सीडी बाटने का काम करते हैं, ये पूरा देश देखा है. कांग्रेस के रूआब मेमन चुनाव सह प्रभारी के ऊपर बलात्कार के आरोप हैं, इनको बचाने की कोशिश कांग्रेस कर रही है. उमंग सिंघार बलात्कार करके फरार है, पार्टी खुद गले तक घटनाओं में लिप्त है. ये केवल नेताम का चरित्र हनन नही है, ये पूरे आदिवासी समाज का हनन है.नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल ने कहा, स्तरहीन आरोप है. आरोप को खारिज करते हैं, तथ्यों से परे बेबुनियाद. मुख्यमंत्री और मोहन मरकाम से कहना चाहता हूं कि व्यवस्था मुद्दों की लड़ाई होती है. कांग्रेस ने सर्वे कराया है, भानुप्रतापुर में कांग्रेस हार की कगार पर है इसलिए ऐसी हरकत कर रही. कांग्रेस अपनी 4 साल की उपलब्धि लेकर जाए, हम विपक्ष में हैं. कमी खामी लेकर जाएंगे. मुद्दों पर चुनाव लड़े. इस तरह से हल्के स्तर पर चुनाव लड़ना ठीक नहीं है. नता प्रतिपक्ष चंदेल ने कहा, नामंकन पत्र की जांच हुई तब क्यों नहीं बोले. हेमंत सोरेन आजकल मुख्यमंत्री के सखा हो गए हैं. सोरेन भ्रष्टाचार में लिप्त हैं. व्यग्तिगत आरोप से सरकार को बचना चहिए. जांच प्रतिवेदन में नेताम का नाम स्पष्ट लिखा है. क्या प्रत्याशी बदलेंगे, इस सवाल पर चंदेल ने कहा, एफआईआर में नेताम का नाम नहीं है. मामला 2019 का हैं तब तक पार्टी क्या कर रही थी. 10वे नंबर में नाम हैं, साजिश के तहत बाद में जोड़ा गया है.