जैन मंदिर में चोरी करने वाले आरोपी चढ़े पुलिस के हत्थे,4 घंटे में पुलिस ने सुलझाया मामला

जैन मंदिर में चोरी करने वाले आरोपी चढ़े पुलिस के हत्थे,4 घंटे में पुलिस ने सुलझाया मामला

रायपुर। राजधानी रायपुर के तिल्दा नेवरा थाना क्षेत्र में हुई जैन मंदिर में चोरी की गुत्थी पुलिस ने चार घंटे में सुलझा ली। आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे चोरी किए गए अष्टधातू से निर्मित सुनहरे कलश को जब्त किया गया है। अष्टधातू से निर्मित कलश की कीमत करीबन 1,50,000 रूपए आंकी गई है। आरोपियों को 4 घंटे के भीतर गिरफ्तार करने में पुलिस सफल रही। 

पुलिस के मुताबिक आरोपी प्रदीप कुमार वर्मा उर्फ पिन्टू (35 वर्ष) वार्ड 8 महामाया पारा नेवरा  
और नारायण प्रसाद वर्मा 38 वर्ष  वार्ड 6 गौरा चौरा के पास खपरीकला थाना तिल्दानेवरा जिला-रायपुर है।।

मामले में प्रार्थी अमित कुमार जैन  थाना आकर रिपोर्ट दर्ज कराया था। प्रार्थी शांति नाथ दिगम्बर जैन मंदिर नेवरा का वर्तमान में सचिव है। प्रार्थी ने पुलिस को बताया था कि मंदिर में लगे पुराना  तांबा पीतल अष्टधातु से बना है सुनहरी परत चढ़ी कलश सेट
को पुराने मंदिर से निकालकर मंदिर के पिछले वाले कुंआ के पास वाले कमरे में 9 जनवरी को रख दिए थे। कमरे का दरवाजा बंद था,जिसमें ताला लगा हुआ था।

प्रार्थी 22 जनवरी को शाम करीब 6 बजे कमरा का ताला खोलकर देखा तो कलश रखा हुआ था।  27 जनवरी के सुबह करीब 10:30 बजे नये मंदिर में काम कर रहे कारीगर मनोज कुमार राउत ने प्रार्थी को बताया कि दो व्यक्ति पुराने मंदिर के पीछे घूम रहे हैं,तब प्रार्थी अपने दुकान से करीबन 10:40 बजे मंदिर के पीछे प्रांगण में जाकर देखा तो कुंआ के पास वाले कमरे का ताला टूटा हुआ था। दरवाजा खुला हुआ था अंदर जाकर देखा तो पुराना कलश सेट नहीं था। आसपास देखा पतातलाश किया पता नहीं चला।
मुखबिर सूचना के आधार पर प्रदीप कुमार वर्मा एवं नारायण प्रसाद वर्मा को हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर जुर्म करना स्वीकार किए। आरोपी प्रदीप कुमार वर्मा से घटना में प्रयुक्त लोहे के रॉड व कटर मशीन तथा हुंडी प्लेट का टुकड़ा को जब्त किया गया। आरोपी नारायण प्रसाद वर्मा से घटना में प्रयुक्त बाइक एच.एफ.डीलक्स क्रमांक सीजी 04 के.एफ. 0682 तथा बटवारा में मिले एक गोल हुण्डी को मुताबिक जब्त किया गया। आरोपियों को विधिवत गिरफ्तार कर न्यायायिक रिमांड पर न्यायालय पेश किया गया।