गोधन न्याय योजना में लापरवाही बरतने पर 2 पंचायत सचिव निलंबित, 5 को नोटिस – Channelindia News
Connect with us

channel india

गोधन न्याय योजना में लापरवाही बरतने पर 2 पंचायत सचिव निलंबित, 5 को नोटिस

Published

on



 

बलौदाबाजार। तीन दिवसीय जनपद स्तरीय गोधन न्याय योजना की समीक्षा बैठक के आज अंतिम दिन कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने कसडोल एवं बिलाईगढ़ जनपद क्षेत्र के गौठानो में चल रहे कार्यो की समीक्षा किए।

इस दौरान कलेक्टर के निर्देश पर जिला पंचायत सीईओ ने योजना की क्रियान्वयन मे लापरवाही बरतने पर 2 पंचायत सचिवों को निलंबित करतें हुए 5 पंचायत सचिवों को नोटिस जारी किया गया है।निलंबित पंचायत सचिव कसडोल जनपद के है। जिनमें ग्राम पंचायत बल्दाकछार के सचिव ईश्वर सिंह दिवान एवं ग्राम पंचायत खपराडीह के सचिव रामायण सिंह पैकरा को गोधन न्याय योजना एवं गोठान के कार्यो में लापरवाही बरतने के साथ ही कलेक्टर को भ्रामक एवं झूठी जानकारी देने पर निलंबित किया गया है।

इसे भी पढ़े   14वें राउंड तक कांग्रेस की निर्णायक बढ़त, जमकर थिरके मरकाम और जयसिंह, राजीव भवन में जश्न शुरू

निलबंन के दौरान इन दोनों को केवल जीवन निर्वाह भत्ता दिया जायेगा एवं इनका मुख्यालय जनपद पंचायत कसडोल होगा।

इसी तरह गोधन न्याय योजन मे ही शिथिलता बरतने पर ग्राम नगेड़ी पंचायत सचिव नीलाम्बर नायक एवं ग्राम पंचायत पाडादाह चैनसिंह यादव सहित समीक्षा बैठक में बिना जानकारी अनुपस्थित होने पर कसडोल जनपद के अंतर्गत ग्राम पंचायत पीपरछेड़ी के सचिव चन्द्रभान पटेल, ग्राम मुड़पार म के जगदीश कैवर्त बिलाईगढ़ के अंतर्गत ग्राम पंचायत डुरूमगढ़ श्रीमती ममता सिदार को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने सभी सम्बंधित अधिकारियों एवं कर्मचारियों को दो टूक कहा की गोधन न्याय योजना सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है। इस योजना का उद्देश्य केवल गोबर खरीदी करना नही है। बल्कि गोठान के माध्यम से लोगों को हम कैसे आत्मनिर्भर और रोजगार में लगाया जा सकें उसके लिए यह योजना चलायी जा रही है। साथ ही हम गोबर खरीद कर कितना उसे जैविक खाद में परिवर्तन हो रहे है इसका भी सतत मुल्यांकन आप सभी को करते रहना है।

इसे भी पढ़े   बस्तर राजपरिवार द्वारा जनहित और जनसेवा का रखा जा रहा विशेष ख्याल , राजपरिवार का इतिहास जनहित और जनसेवा का रहा है – कमलचन्द्र भंज देव

जिले में इस योजना के क्रियान्वयन में जो प्रगति दिख रही है। वे काफी अप्रर्याप्त है। हमें और अधिक तेज गति से काम कर गौठानो के विकास में कार्य करना है। इसके साथ ही जिले के प्रत्येक गौठानो को मल्टीएक्टिविटी सेंटर में बदलना ही हमारा लक्ष्य है।

इस दौरान कलेक्टर जैन ने गोठान में गोबर खरीदी से लेकर, उनके खाद बनने की प्रक्रिया, उनका टेस्टिंग, पैकेजिंग एवं विक्रय की उचित व्यवस्था सहित खाद की स्थिती,वर्मी की उपलब्धता,बाड़ी के कार्य,महिला समूहों के कार्य सहित,चारागाहों की स्थिती का बिंदुवार जायजा लिया।

इसे भी पढ़े   ब्रह्मांड का 85% हिस्सा माना जाता रहा डार्क मैटर असल में है ही नहीं? नई स्टडी में दावा, तारों की अजीब हरकतों के पीछे ग्रैविटी का असर

श्री जैन ने आज कसडोल के 25,बिलाईगढ़ के 22 एवं 2 नगरीय निकायों की गोठान सहित कुल 49 गोठानो के कार्यो की समीक्षा किए।

जिला पंचायत सीईओ डॉ फरिहा आलम सिद्दीकी ने सचिवों को गोधन न्याय योजना के तहत खरीदी जा रही गोबर की ऑनलाइन पोर्टल में शत प्रतिशत एंट्री सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है।

इस दौरान जिला पंचायत,अतिरिक्त जिला पंचायत सीईओ हरिशंकर चौहान,उपसंचालक कृषि मोनेश साहू,पंचायत एवं राजस्व विभाग के अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे। बैठक में समस्त गौठानो के नोडल अधिकारी, सचिव, पंचायत एवं कृषि विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी गण उपस्थित थे।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

खबरे अब तक

Advertisement
Advertisement