भारतीय संविधान की 15 खास बातें, जो हर देशवासी को जाननी चाहिए… – Channelindia News
Connect with us

BREAKING

भारतीय संविधान की 15 खास बातें, जो हर देशवासी को जाननी चाहिए…

Published

on

आज संविधान दिवस है. हर साल 26 नवंबर को पूरा देश संविधान दिवस के रूप में मनाता है. भारत का संविधान (Constitution of India) 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया था. लेकिन 26 नवंबर 1949 को पहली बार इसे औपचारिक रूप से अपनाया गया था. इसलिए 26 नवंबर को भारत में संविधान दिवस के रूप में मनाया जाता है. इस दिन को राष्ट्रीय कानून दिवस (National Law Day) के रूप में भी जाना जाता है. इस आर्टिकल में हम आपको भारत के संविधान की ऐसी 15 खास बातें बता रहे हैं, जो एक भारतीय होने के नाते हमें जरूर जाननी चाहिए.

Facts about Constitution of India: भारतीय संविधान की खास बातें…
1. मूल रूप से भारत का संविधान हिन्दी और अंग्रेजी दो भाषाओं में लिखा गया था.
2. भारतीय संविधान को बनने में कुल 2 साल, 11 महीने और 18 दिन का वक्त लगा था.
3. भारतीय संविधान के अंग्रेजी संस्करण में कुल 117,369 शब्द हैं.
4. भारतीय संविधान की मूल कॉपी हाथ से लिखी गयी यानी handwritten है. भारतय संविधान को प्रेम बिहारी नारायण रायज़ादा (भारतीय कैलीग्राफर) ने इटैलिक स्टाइल राइटिंग में लिखा है.
5. भारतीय संविधान का हर पेज शांतिनिकेतन के कलाकारों द्वारा सुसज्जित किया गया है.
6. भारतीय संविधान की मूल कॉपी भारत के संसद भवन की सेंट्रल लाइब्रेरी में हीलियम गैस से भरे शीशे के बॉक्स में बेहद सुरक्षा के साथ अनुकूल वातावरण में रखी गई है.
7. अंतिम रूप मिलने से पहले भारतीय संविधान के पहले ड्राफ्ट में करीब 2000 संशोधन किये गये थे.
8. भारत के संविधान की प्रस्तावना (Preamble of Indian Constitution) में दो शब्द सेक्युलर (Secular) और सोशलिस्ट (Socialist) 1976 में आपातकाल के दौरान जोड़े गये थे.
9. भारतीय संविधान में 25 भागों में कुल 470 अनुच्छेद (Articles), 12 शेड्यूल हैं.
10. भारत का संविधान दुनिया का सबसे लंबा संविधान (Longest Constitution in World) है.
11. भारतीय संविधान का जनक (Father of Indian Constitution) डॉ. भीमराव आंबेडकर (Dr Bhimrao Ambedkar) को कहा जाता है. वह राज्यपाल को ज्यादा शक्ति प्रदान करने के लिए संविधान में संशोधन करने के पक्षधर थे. इसपर हो रही बहस के दौरान डॉ. आंबेडकर ने यहां तक कह दिया था कि ‘मैं इस संविधान को जलाने वाला पहला व्यक्ति होऊंगा. मैं ऐसा चाहता नहीं.’
12. भारत के संविधान को ‘Bag of Borrowings’ भी कहा जाता है. क्योंकि इसके ज्यादातर प्रावधान अमेरिका, यूनाइटेड किंगडम, फ्रांस, सोवियत संघ, आयरलैंड समेत अन्य देशों के संविधानों से प्रेरित हैं.
13. भारतीय संविधान सभा में कुल 284 सदस्य थे, जिनमें से 15 महिलाएं थीं.
14. भारतीय संविधान की प्रस्तावना अमेरिकी संविधान की प्रस्तावना से प्रेरित है. दोनों ‘We the people’ से शुरू होती हैं.
15. भारत के संविधान की गिनती दुनिया के सर्वश्रेष्ठ संविधानों में होती है. 1950 से अब तक इसमें 105 संशोधन किये गये हैं.

 

Advertisment

Advertisement

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

BREAKING9 mins ago

यहां के कलेक्टर ने ध्वनि विस्तारक यंत्रों पर लगाया प्रतिबंध

धमतरी(चैनल इंडिया)। छत्तीसगढ़ राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा नगरीय निकायों के उप निर्वाचन 2021 सम्पन्न कराने के लिए घोषित कार्यक्रम को...

BREAKING39 mins ago

कांग्रेस नेता ने खड़ी फसलो पर चलवाई JCB किसानों में दिखा आक्रोश…

जबलपुर(चैनल इंडिया)। प्रदेश की संस्कारधानी जबलपुर में कांग्रेस नेता जितेन्द्र अवस्थी की दबंई सामने आई है। किसानों पर अवैध कब्जा...

BREAKING2 hours ago

CM योगी ने विपक्ष पर किया हमला, कहा-जिन्ना के अनुयायी नहीं समझेंगे गन्ने की मिठास…

गोंडा. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को गोंडा जिले में 450 रुपये करोड़ की लागत से 65.61...

BREAKING2 hours ago

बड़ी कामयाबी: छत्तीसगढ़ पर्यावरण संरक्षण की दिशा में देश में अव्वल

रायपुर (चैनल इंडिया)| छत्तीसगढ़ ने वायु, जल प्रदूषण, ठोस कचरे के प्रबंधन और वनों के संरक्षण और संवर्धन की दिशा...

BREAKING2 hours ago

पत्नी के सामने घर में घुसकर पुलिसकर्मी की हत्या, आरोपी फरार…

जगदलपुर (चैनल इंडिया)| बीजापुर जिले में अज्ञात लोगों ने भैरमगढ़ थाना में पदस्थ सहायक आरक्षक की हत्या कर दी है।...

Advertisement
Advertisement