खबरे अब तक

खबरे छत्तीसगढ़

13 अप्रैल से शुरू हो रहे हैं चैत्र नवरात्र, माँ के अलग स्वरूपों को लगाए यह भोग



चैत्र नवरात्रि 13 अप्रैल से शुरू हो रहे हैं और यह 21 अप्रैल को समाप्त होंगे। आप जानते ही होंगे नवरात्रि के नौ दिनों में माँ दुर्गा के नौ रूपों का पूजन किया जाता है। अब आज हम आपको बताने जा रहे हैं किस दिन मां को क्या भोग लगाना है। आइए बताते हैं।

मां शैलपुत्री – पहले दिन माता शैलपुत्री को घी का भोग लगाएं। ध्यान रहे अगर गाय का घी हो तो शुभ होगा।

मां ब्रह्मचारिणी – कहा जाता है दूसरे दिन माता ब्रह्मचारिणी का पूजन किया जाता है। आप माता को चीनी या मिश्री का भोग लगा सकते हैं।

इसे भी पढ़े   कोरोना का कहर,इस कदर की लगाना पड़ा 12 देशों के लोगो के प्रवेश पर रोक

मां चंद्रघंटा – तीसरा दिन मां चंद्रघंटा को समर्पित माना जाता है। आप माँ को दूध या दूध से बने मिष्ठान जैसे खीर, बर्फी आदि का भोग लगाएं।

इसे भी पढ़े   गौठान में विभिन्न गतिविधियाॅ से जुड़कर महिलाएं हो रही आर्थिक स्वावलंबी, मशरूम उत्पादन व मुर्गी पालन सहित मौसमी सब्जियों का किया जा रहा है उत्पादन

मां कूष्मांडा – चौथे दिन मां कूष्मांडा की आराधना की जाती है। माता कूष्मांडा को आप मालपुआ का भोग लगाएं।

मां स्कंदमाता – पांचवे दिन मां स्कंदमाता की पूजा होती है। आप माता को केले का भोग अर्पित करें।

मां कात्यायनी – छठा दिन मां कात्यायनी का पूजन होता है। इस दिन आप मातारानी को शहद का भोग लगाए।

इसे भी पढ़े   NEET में प्रयास के 17 विद्यार्थियों ने लहराया परचम, 7 आदिवासी बच्चो ने भी मारी बाजी… कलेक्टर ने दी बधाई

मां कालरात्रि – सातवें दिन मां कालरात्रि का पूजन करें। उन्हें गुड़ का भोग लगाए।

मां महागौरी – आठवां दिन महागौरी का है। महागौरी को हलवा और नारियल का भोग लगाए।

मां सिद्धिदात्रि – नौवां और आखिरी दिन माता सिद्धिदात्रि का है। उन्हें काला चना, खीर पूड़ी, हलवा पूड़ी का भोग लगाए।