हैरत मे डालने वाला मामला:बिना SEX के प्रेग्नेंट हुई महिला कारण जान हो जाएंगे आप हैरान – Channelindia News
Connect with us

channel india

हैरत मे डालने वाला मामला:बिना SEX के प्रेग्नेंट हुई महिला कारण जान हो जाएंगे आप हैरान

Published

on


दुनिया मे अजब गजब हकीकतों का सामना होता है,कई बार तो घटना ऐसे होती है,की पैरो तले जमीन खिसक जाती है,बता दे यह हैरान कर देने वाला यह मामला UK के हैम्पशायर का है,यहा एक महिला ने सोशल मीडिया में अपनी प्रेग्नेंसी को लेकर हैरान करने वाली बात शेयर की है। जो आपको हैरानी मे डाल देगी|

दरसल 28 साल की महिला निकोल ने बताया है कि वो बिना सेक्स के ही प्रेग्नेंट हुई थी। महिला का नाम निकोल है,वह बताती है की जब वो 18 साल की थी तब वो अपने ब्वॉयफ्रेंड को डेट कर रही थी, एक दिन ऑफिस में काम करते हुए अचानक निकोल के सीने में जलन होने लगी और चक्कर आने लगे, निकोल को उसकी दोस्त ने प्रेग्नेंसी टेस्ट करने की सलाह दी|जिसके बाद निकोल का प्रेग्नेंसी टेस्ट पॉजिटिव आया और ये जानकर उसके पैरों तले जमीन खिसक गई,

कभी नहीं हुआ था दोनों के बीच सेक्स

इस मामले पर निकोल का कहना था की वह वर्जिन थीं और उसने कभी भी अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ शारीरिक संबंध नहीं बनाए थे, निकोल ने बताया, ‘मैं टैम्पोन तक का इस्तेमाल नहीं कर पाती थी, बहुत कोशिश करने के बावजूद हम कभी भी सेक्स नहीं कर पाए क्योंकि मुझे इस दौरान बहुत तेज दर्द होता था, मुझे समझ नहीं आता था कि आखिर इसकी क्या वजह है, मैं उस समय डॉक्टर से भी मिली थी और चेकअप के बाद उन्होंने भी कहा कि सबकुछ ठीक है।’

आखिरकार प्रेग्नेंसी चेकअप्स के दौरान निकोल को पता चला कि उन्हें वेजिनीस्मस नाम की बीमारी है, इस मेडिकल कंडीशन में वजाइना की मांसपेशियां इतनी सिकुड़नें लगती हैं कि शारीरिक संबंध बनाना मुश्किल हो जाता है, ऐसे में अपनी प्रेग्नेंसी को लेकर वो और हैरान हो गई थी, निकोल ने बताया कि दिक्कत महसूस होने पर उस समय वो और उसके ब्वॉयफ्रेंड इंटीमेट होने के दूसरे तरीके आजमाते थे, डॉक्टर ने बताया कि सेक्स ना होने के बावजूद भी अगर किसी तरह स्पर्म या फ्लूड वजाइना में चला जाता है तो भी प्रेग्नेंसी हो सकती है, हालांकि ये बहुत ही दुर्लभ मामलों में होता है और निकोल का मामला उनमें से ही एक था।निकोल को इस बात की भी चिंता थी कि प्रेग्नेंसी की खबर सुनकर उसका ब्वॉयफ्रेंड उस पर शक करेगा, हालांकि ऐसा नहीं हुआ और उसने पूरी प्रेग्नेंसी में निकोल का साथ दिया, निकोल ने कहा कि पूरी प्रेग्नेंसी के दौरान तमाम डॉक्टर्स को उनकी बात का यकीन नहीं होता था, निकोल ने कहा, ‘मेरा ब्वॉयफ्रेंड हर अप्वाइंटमेंट पर डॉक्टर से मिलने मेरे साथ जाता था ताकि वो भी डॉक्टर को बता सके कि हमने वाकई में सेक्स नहीं किया है, रूटीन चेकअप के दौरान प्रेग्नेंसी के चौथे महीने में जब डॉक्टर ने मुझे वेजिनीस्मस होने के बारे में बताया तो मैंने इसे गूगल पर ढूंढा, आखिरकार मुझे एहसास हुआ कि इसमें कुछ भी गलत नहीं है और ये बस मेरी एक मेडिकल कंडीशन है।’

बीमारी का पता चलने के बाद निकोल एक वेजिनीस्मस थेरेपिस्ट से मिली और उसकी मदद से अपनी मेडिकल कंडीशन से बाहर आ सकी, निकोल ने बताया कि जैसा उसे डर था वैसा नहीं हुआ और डिलीवरी के समय उसे कोई दिक्कत नहीं हुई, हालांकि, निकोल और उसका ब्वॉयफ्रेंड अब साथ नहीं हैं लेकिन निकोल अब अपनी बीमारी से काफी हद तक उबर चुकी हैं, निकोल ने कहा, ‘मेरी बेटी मेरे लिए किसी चमत्कार की तरह है, कई लोग मुझे अभी भी ‘वर्जिन मैरी’ बोलते हैं और ये सुनकर मुझे बहुत हंसी आती है,’ निकोल की सेक्स लाइफ अब नॉर्मल हो चुकी है लेकिन प्रेग्नेंसी की उनकी ये कहानी लोगों को अब भी हैरान करती है|और निकोल के साथ होने वाली घटना को देश विदेश के लोग भी जान चुके है,और वे भी इस बात पर हैरान हो जाते है|

आखिरकार प्रेग्नेंसी चेकअप्स के दौरान निकोल को पता चला कि उन्हें वेजिनीस्मस नाम की बीमारी है, इस मेडिकल कंडीशन में वजाइना की मांसपेशियां इतनी सिकुड़नें लगती हैं कि शारीरिक संबंध बनाना मुश्किल हो जाता है, ऐसे में अपनी प्रेग्नेंसी को लेकर वो और हैरान हो गई थी, निकोल ने बताया कि दिक्कत महसूस होने पर उस समय वो और उसके ब्वॉयफ्रेंड इंटीमेट होने के दूसरे तरीके आजमाते थे, डॉक्टर ने बताया कि सेक्स ना होने के बावजूद भी अगर किसी तरह स्पर्म या फ्लूड वजाइना में चला जाता है तो भी प्रेग्नेंसी हो सकती है, हालांकि ये बहुत ही दुर्लभ मामलों में होता है और निकोल का मामला उनमें से ही एक था।

निकोल को इस बात की भी चिंता थी कि प्रेग्नेंसी की खबर सुनकर उसका ब्वॉयफ्रेंड उस पर शक करेगा, हालांकि ऐसा नहीं हुआ और उसने पूरी प्रेग्नेंसी में निकोल का साथ दिया, निकोल ने कहा कि पूरी प्रेग्नेंसी के दौरान तमाम डॉक्टर्स को उनकी बात का यकीन नहीं होता था, निकोल ने कहा, ‘मेरा ब्वॉयफ्रेंड हर अप्वाइंटमेंट पर डॉक्टर से मिलने मेरे साथ जाता था ताकि वो भी डॉक्टर को बता सके कि हमने वाकई में सेक्स नहीं किया है, रूटीन चेकअप के दौरान प्रेग्नेंसी के चौथे महीने में जब डॉक्टर ने मुझे वेजिनीस्मस होने के बारे में बताया तो मैंने इसे गूगल पर ढूंढा, आखिरकार मुझे एहसास हुआ कि इसमें कुछ भी गलत नहीं है और ये बस मेरी एक मेडिकल कंडीशन है।’

बीमारी का पता चलने के बाद निकोल एक वेजिनीस्मस थेरेपिस्ट से मिली और उसकी मदद से अपनी मेडिकल कंडीशन से बाहर आ सकी, निकोल ने बताया कि जैसा उसे डर था वैसा नहीं हुआ और डिलीवरी के समय उसे कोई दिक्कत नहीं हुई, हालांकि, निकोल और उसका ब्वॉयफ्रेंड अब साथ नहीं हैं लेकिन निकोल अब अपनी बीमारी से काफी हद तक उबर चुकी हैं, निकोल ने कहा, ‘मेरी बेटी मेरे लिए किसी चमत्कार की तरह है, कई लोग मुझे अभी भी ‘वर्जिन मैरी’ बोलते हैं और ये सुनकर मुझे बहुत हंसी आती है,’ निकोल की सेक्स लाइफ अब नॉर्मल हो चुकी है लेकिन प्रेग्नेंसी की उनकी ये कहानी लोगों को अब भी हैरान करती है।

 

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

BREAKING4 mins ago

प्रदेश के इन इलाकों में भारी बारिश के आसार, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

रायपुर(चैनल इंडिया)। छत्तीसगढ़ के कई जिलों में मूसलाधार बारिश का दौर जारी है। वहीं मौसम विभाग ने आज प्रदेश में...

BREAKING23 mins ago

साइंस फिक्शन : 2041 तक बदल जाएगी पूरी दुनिया, जानिए क्या होगा धरती का हाल?

20 साल तक सोए रह जाएं और फिर उठें तो दुनिया कैसी दिखेगी? यह बात आपको किसी साइंस फिक्शन मूवी...

 सक्ती38 mins ago

छत्तीसगढ़ को नहीं बनने देंगे अडानीगढ़ – अर्जुन राठौर

सक्ती(चैनल इंडिया)|  जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे विधान  सभा सक्ती के पुर्व प्रभारी  ने कहा कि जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे के...

channel india42 mins ago

नपा लोहारा के शासकीय भूमि पर जनप्रतिनिधियों की नजर   हड़पने का प्रक्रिया जारी प्रशासन मौन

कवर्धा(चैनल इंडिया)| राजीवगांधी आश्रय योजना  अंतर्गत राज्य सरकार के निर्देशों के तहत शहरी क्षेत्रों में  पट्टा प्रदान किया जाना है।जिसमें...

 बलरामपुर45 mins ago

कार्य में लापरवाही बरतने पर कलेक्टर ने पर्यवेक्षक की दो वेतन वृद्धि में रोकी, एक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की सेवा समाप्त

बलरामपुर(चैनल इंडिया)| विकासखण्ड राजपुर के आंगनबाड़ी केन्द्र बाड़ी चलगली पटेलपारा में विगत 10 महीने से गोदाम में रेडी-टू-ईट सड़ने, बच्चों...

Advertisement
Advertisement