क्या इंसान सभ्यता भूल बनता जा रहा हैवान !

क्या इंसान सभ्यता  भूल बनता जा रहा हैवान !

अपराध डेस्क 

रिबिका पहाड़िन (22 ) ने अपने परिवार के खिलाफ जाकर एक महीने पहले ही दिलदार अंसारी (25) से लव मैरिज की थी। शनिवार 17 दिसंबर को रिबिका की हत्या की गई और सबूत मिटाने के लिए दिलदार और उसके परिवार ने रिबिका के शव के 50 टुकड़े किए थे। कुछ टुकड़े घर में छिपा दिए, जबकि अन्य टुकड़े मोहल्ले के आसपास सुनसान जगहों पर फेंके दिए। जिसे कुत्ते नोंच-नोंच कर खा रहे थे। जब लोगों ने कुत्तों को इंसान का मांस खाते देखा तो इसकी सूचना पुलिस को दी। इसके बाद मामले का खुलासा हुआ।

रिबिका की  जिस तरह क्रूरता हुई, उसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती है। हत्यारों ने रिबिका के शरीर से चमड़ी तक छील डाली। शव के जितने छोटे-छोटे टुकड़े किए गए हैं, उसे देखकर लगता है कि काटने में 7 से 8 घंटे लगे हाेंगे।

फूलो-झानो मेडिकल कॉलेज और अस्पताल दुमका के डॉक्टरों की टीम रिबिका पहाड़िया के शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट गुरुवार तक दे देगी। टीम में तीन डॉक्टर शामिल थे।पोस्टमार्टम के लिए शरीर के 28 टुकड़े लाए गए थे। इनमें सिर, फेफड़ा, 7 अंगुलियां, बाएं हिस्से की पसली, पेट का हिस्सा समेत कई अंग नहीं हैं। दोनों किडनियां आधी मिलीं।

डॉक्टर भी है हैरान 

बिसरा भी ज्यादा नहीं है। बच्चेदानी मिली है, जिसे जांच के लिए संरक्षित कर लिया गया है। हड्डी, नाखून और बच्चेदानी का विसरा जांच के लिए भेजा जाएगा। हत्या दो-तीन दिन पहले की गई होगी, क्योंकि शव डि-कंपोस्ट होना शुरू हो चुका था। हमने जीवन में पहली बार ऐसा पोस्टमार्टम किया है।