खबरे अब तक

BREAKINGchannel indiaCHANNEL INDIA NEWSchhattisgarh newscorona covid 19 newsSpecial Newsउत्तर प्रदेशदेश-विदेश

सिडनी टेस्ट: हनुमा विहारी की बैटिंग पर बिफरे बाबुल सुप्रियो, कहा- क्रिकेट का हत्यारा



कोलकाता
ऑस्ट्रेलिया में खेली जा रही के तीसरे मैच के पांचवें दिन भारत की शुरुआत काफी अच्छी रही। लेकिन ऋषभ पंत के 97 रन पर आउट होने के बाद भारत के हनुमा विहारी ने मोर्चा संभाला और मैच को ड्रॉ की ओर मोड़ दिया। मैच बचाने के लिए उनके इस प्रदर्शन की तारीफ हो रही है। वहीं बीजेपी नेता बाबुल सुप्रियो इससे खुश नहीं हैं। सुप्रियो ने हनुमा विहारी के ज्यादा गेंद खेलने पर उनकी कड़ी आलोचना की है।

बीजेपी नेता ने मैच के दौरान इसको लेकर ट्वीट भी किया। इस ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि 7 रन बनाने के लिए हनुमा विहारी ने 109 गेंदें खेली हैं। हनुमा विहारी ने ऐतिहासिक जीत हासिल करने के लिए ना केवल भारत के लिए किसी भी संभावना को मार दिया है, बल्कि क्रिकेट की भी हत्या कर दी है। बीजेपी नेता ने आगे लिखा कि मुझे क्रिकेट के बारे में कुछ भी नहीं पता है।

इसे भी पढ़े   MP में राजगढ़ जिले के 2 गांवों में पिछले 5 दिनों से पार्वती नदी को क्यों खोद रहे हैं लोग, जानिए यहां

पढ़ें:

पुजारा, पंत और हनुमा की पारी ने टेस्ट कराया ड्रॉ
बता दें कि एडिलेड में खेले गए पहले टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 8 विकेट से हरा दिया था। मेलबर्न में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 8 विकेट से मात देकर सीरीज 1-1 से बराबर कर ली। वहीं, सिडनी में खेले गए तीसरे टेस्ट को भारत ने ड्रॉ करा लिया है। हनुमा विहारी अंत तक आउट नहीं हुए। उन्होंने जीवट भरी पारी खेलते हुए चोट के बावजूद 161 गेंदों का सामना करते हुए 23 रन बनाए। पुजारा, पंत औप हनुमा की कोशिशों की बदौलत भारत ने टेस्ट बचा लिया।

इसे भी पढ़े   AUS vs IND सिडनी टेस्ट LIVE, देखिए चौथे दिन के खेल का लाइव अपडेट्स

हनुमा विहारी ने जैसी जीवटता सिडनी के मैदान पर दिखाई, वैसी विरले ही दिखा पाते हैं। दर्द की वजह से वह दौड़ नहीं सकते थे और शॉट खेलकर विकेट नहीं गंवाना चाहते थे। विहारी ने इस पारी में टेस्‍ट क्रिकेट के भीतर 100 से ज्‍यादा गेंदें खेलकर दूसरा सबसे धीमा स्‍ट्राइक रेट का रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया है।

इसे भी पढ़े   कोरोना त्रासदी के दौरान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की निष्क्रियता और चुप्पी पर मरकाम के सवाल, कहां हैं आरएसएस और कहां गई उनकी जनसेवा : कांग्रेस, क्यों चुप हैं मोहन भागवत, कहां गई उनकी हिंदू सेवा?

सिडनी टेस्‍ट के आखिरी दिन जब भारत को मैच बचाने के लिए पूरे दिन बैटिंग करनी थी तो वही फैंस जो कल तक पुजारा को खरी-खोटी सुना रहे थे, उम्‍मीद लगाए बैठे थे कि पुजारा अपने अंदाज में बल्‍लेबाजी करेंगे। पुजारा ने वही किया। 205 गेंदें खेलीं और 77 रन बनाए। सबसे अहम बात, ऋषभ पंत के साथ मिलकर उन्‍होंने वो साझेदारी की जिसने ऑस्‍ट्रेलिया के जीतने की संभावनाओं को और कम कर दिया। इस दौरान पुजारा ने टेस्‍ट करियर में 6,000 रन भी पूरे किए।