सतनामी समाज द्वारा कलेक्ट्रेट एसपी कार्यालय का घेराव कर उग्र आंदोलन की दी चेतावनी...

सतनामी समाज द्वारा कलेक्ट्रेट एसपी कार्यालय का घेराव कर उग्र आंदोलन की दी चेतावनी...

छत्तीसगढ़ डेस्क 

धमतरी। रावां गांव में सतनामी समाज को प्रताड़ित करने और अभद्र व्यवहार करने की शिकायत एसपी कार्यालय में पहुंची है. धमतरी बहुजन समाज पार्टी के जिला अध्यक्ष आशीष रात्रे के नेतृत्व में रावां गांव के सतनामी समाज के लोग धमतरी पुलिस कार्यालय पहुंचे. जहां उन्होंने गांव के ही एक व्यक्ति के खिलाफ गैर संवैधानिक शब्दों के प्रयोग करने को लेकर एससी-एसटी एक्ट के तहत कड़ी कानूनी कार्रवाई की मांग की. सतनामी समाज के लोगों ने पुलिस कार्यालय में आवेदन देकर कार्रवाई की मांग की है.

धमतरी बहुजन समाज पार्टी जिलाध्यक्ष आशीष रात्रे ने बताया कि "लगातार धमतरी जिले में एससी-एसटी समाज के साथ अन्याय अत्याचार हो रहा है. जिस पर पुलिस विभाग द्वारा तत्काल कार्रवाई नहीं की जा रही है. इस पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए. रावां गांव में कुछ दिनों पहले जैतखाम टूट जाने के बाद इस नया जैतखाम बनाने के लिए गांव में मीटिंग के दौरान सतनामी समाज ने बात रखी. गांव में लगभग 600 परिवार अलग अलग जाति के निवास करते है. जिनमें 25 से 30 परिवार सतनामी समाज के हैं. इस दौरान हमसे बदसलूकी हुई"

बैठक के दौरान गांव के प्रमुख ने सतनामी समाज के लोगों के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग किया. जिसकी शिकायत थाना में भी की गई. लेकिन पुलिस ने कार्रवाई नहीं की है. जिसके चलते एक बार फिर सतनामी समाज ने एसपी कार्यालय पहुंचकर कार्रवाई की मांग की है". शिकायतकर्ताओं का कहना है कि "अगर चार दिनों के भीतर संबंधित व्यक्ति पर कार्रवाई नहीं की गई तो कलेक्ट्रेट एसपी कार्यालय का घेराव कर उग्र आंदोलन किया जाएगा".