विधानसभा चुनाव की सुगबुगाहट तेज, पश्चिम बंगाल समेत चुनावी राज्यों को EC का यह निर्देश – Channelindia News
Connect with us

BREAKING

विधानसभा चुनाव की सुगबुगाहट तेज, पश्चिम बंगाल समेत चुनावी राज्यों को EC का यह निर्देश

Published

on

नई दिल्ली
आने वाले महीनों में जिन राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं, उन राज्यों से इलेक्शन कमिशन ने कहा है कि पूर्व में जिन अधिकारियों पर किसी चुनाव में लापरवाही का आरोप लगा हो उन्हें चुनाव से जुड़ा कोई दायित्व नहीं सौंपा जाए। असम, केरल, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु और पुडुचेरी के मुख्य सचिवों को भेजे परामर्श में ने यह भी कहा कि पूर्व में जिन अधिकारियों के खिलाफ उसने अनुशासनात्मक कार्रवाई की सिफारिश की थी और जिसमें कार्रवाई अब तक लंबित है या फिर दंडित किए गए अधिकारियों को चुनाव से जुड़ी किसी भी ड्यूटी के लिए तैनात नहीं किया जाना चाहिए।

इसे भी पढ़े   AUS vs IND: जांच के बावजूद सिडनी टेस्ट में खेल सकते हैं रोहित, पंत और गिल

पिछले महीने भेजे गए परामर्श में कहा गया है कि अगले 6 महीने में सेवानिवृत्त होने वाले किसी भी अधिकारी को चुनाव से जुड़ा काम नहीं दिया जाना चाहिए। पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, असम, केरल और पुडुचेरी की विधानसभा का कार्यकाल इस साल मई और जून में अलग-अलग तारीखों पर पूरा हो रहा है। अप्रैल और मई के दौरान यहां विधानसभा चुनाव होने की उम्मीद है।

इसे भी पढ़े   अपनी सरकार में किये वित्तीय कुशासन को कोरोना के पर्दे में छुपाने के प्रयास में कांग्रेस : भाजपा, प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में वित्तीय घाटा 5% व ऋण भार 6% तक शिथिल करने सीए अमित चिमनानी ने लिखी सीएम भूपेश को चिट्ठी

आयोग ने राज्यों से यह सुनिश्चित करने को भी कहा है कि चुनाव करवाने में सीधे तौर पर शामिल अधिकारियों की तैनाती उनके गृह जिलों में न हो और जो अधिकारी बीते चार सालों के दौरान तीन साल एक जिले में पूरे कर चुके हों। लोकसभा या विधानसभा चुनावों से पहले चुनाव निगरानीकर्ता की तरफ से इस तरह के परामर्श जारी किया जाना सामान्य है, जिससे यह सुनिश्चित हो कि अधिकारी किसी भी रूप में चुनाव प्रक्रिया में हस्तक्षेप न करें और यह कवायद स्वतंत्र व निष्पक्ष रहे।

इसे भी पढ़े   मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने किया दरिमा एयर पोर्ट का निरीक्षण, 4 महीने में काम पूरा करने के निर्देश

परामर्श में कहा गया है, ‘स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करवाने के लिए आयोग एक सतत नीति अपनाता है कि जिन राज्यों या केंद्र शासित प्रदेशों में चुनाव होने वाले हैं, वहां चुनावी कार्य में सीधे तौर पर जुड़े अधिकारियों की तैनाती उनके गृह जनपदों या ऐसी जगह न हो, जहां वह लंबे समय से तैनात रहे हों।’

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

R.O. No. 11359/53

CG Trending News

channel india6 hours ago

4 सूत्री मांगों को लेकर शिवसेना के भारतीय कामगार ऑटो यूनियन ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

रायपुर। शिवसेना की कामगार इकाई भारतीय कामगार सेना के ऑटो यूनियन के द्वारा बुधवार को 4 सूत्रीय मांगों को लेकर...

https://channelindia.news/breaking-twitter-banned-over-550-accounts-after-tractor-rally-violence-in-delhi/ https://channelindia.news/breaking-twitter-banned-over-550-accounts-after-tractor-rally-violence-in-delhi/
BREAKING7 hours ago

BREAKING: ट्रैक्टर रैली हिंसा के बाद ट्विटर ने 550 से अधिक अकाउंट्स किये बैन

नई दिल्ली। BREAKING: Twitter banned over 550 accounts after tractor rally violence in Delhi: किसानों के गणतंत्र दिवस ट्रैक्टर रैली...

balodabazar c.g.7 hours ago

तीन दिवसीय जनपद स्तरीय गोधन न्याय योजना की समीक्षा शुरू, कलेक्टर ने पहले दिन सिमगा एवं भाटापारा के गौठानो की समीक्षा

बलौदाबाजार| जिला पंचायत बलौदाबाजार के सभागार मे आज से तीन दिवसीय जनपद स्तरीय गोधन न्याय योजना की समीक्षा बैठक की...

channel india8 hours ago

राज्य में जशपुर कलेक्ट्रेट को लोक प्रशासन गतिविधियों के लिए पहला आईएसओ 9001-2015 प्रमाण पत्र प्रदान किया गया

जशपुर| गणतंत्र दिवस के दिन जशपुर जिला कलेक्ट्रेट ने राज्य में सार्वजनिक प्रशासनिक सेवाएं प्रदान करने के लिए पहला आईएसओ...

rape in balia, up rape in balia, up
BREAKING9 hours ago

यूपी: नाबालिग हिन्दू लड़की से रेप, अश्लील वीडियो बना कर धर्म परिवर्तन की साजिश

बलिया। उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में एक नाबालिग के साथ रेप करने, उसका अश्लील वीडियो बनाने और शादी के...

खबरे अब तक

Advertisement
Advertisement