लॉकडाउन में 1.5 लाख से अध‍िक लोगों को सोनू सूद ने पहुंचाया घर, बोले- राजनीति में एंट्री का इरादा नहीं – Channelindia News
Connect with us

bollywood

लॉकडाउन में 1.5 लाख से अध‍िक लोगों को सोनू सूद ने पहुंचाया घर, बोले- राजनीति में एंट्री का इरादा नहीं

Published

on

कोरोना काल में मजदूरों और मजबूरों के मसीहा बनकर उभरे। लॉकडाउन के दौर में जिन लोगों तक सरकार भी सुध लेने नहीं पहुंच रही थी, सोनू सूद ने उन गरीब प्रवासी मजदूरों और मजबूरों की हर संभव मदद की। लॉकडाउन के दौर में शुरू हुई सोनू सूद की मदद की मुहिम आज भी जारी है। किसी का इलाज करवाना हो, किसी के स्‍कूल की फीस भरनी हो, किसी को रोजगार दिलवाना हो या फिर किसी को सिर पर छत की जरूरत हो। सोनू सूद आज भी मदद के लिए एक पैर पर खड़े दिखते हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि सोनू सूद लॉकडाउन पीरियड में 1.5 लाख से अध‍िक प्रवासियों को उनके घर पहुंचाने का काम किया है। यह आंकड़े खुद सोनू सूद ने बताए हैं।

विदेशों में फंसे 6700 भारतीयों को लेकर आए देशन्‍यूज चैनल ‘आजतक’ के बातचीत में सोनू सूद इन आंकड़ों का खुलासा किया है। सोनू सूद से जब पूछा गया कि बीते 7-8 महीनों में अब तक उन्‍होंने कितने प्रवासियों को उनके घर पहुंचाया? जवाब में ऐक्‍टर ने कहा, ‘बीते कुछ महीनों में एक दौर ऐसा भी था, जब हमने बस की बजाय ट्रेन से लोगों को भेजना शुरू कर दिया। मेरे घर के बाहर 2500 लोग लाइन में खड़े रहते थे। मैं अभी तक 1.5 लाख से अधिक लोगों को उनके घर भेज पाया हूं। जबकि विदेशों में फंसे 6700 लोगों को हम अपने देश लेकर आए हैं।

इसे भी पढ़े   किसानों के सब्र का इम्तिहान, कड़ाके की ठंड के बीच पड़ रही बारिश की मार

‘राजनीति में एंट्री नहीं, जो कर रहा हूं करता रहूंगा’क्या सोनू सूद आगे राजनीति में एंट्री लेने वाले हैं? सोनू सूद को लेकर कई लोगों ने यह आशंका जाहिर की है कि वह आगे राजनीति की दुनिया में कदम रखने वाले हैं। लेकिन ऐक्‍टर ने ऐसी किसी भी संभावना से इनकार किया है। सोनू सूद ने कहा, ‘मुझे कई जगहों से ऑफर आए हैं। मुझे सारी पार्टियों से ऑफर मिले हैं, लेकिन मैं इसमें रुचि नहीं रखता हूं। मैंने उन सभी से यही कहा कि मैं जो कर रहा हूं, मुझे करने दीजिए।

प्रॉपर्टीज गिरवी रखने पर नहीं करनी है बातबीते दिनों ऐसी खबरें आईं कि सोनू सूद ने अपनी 8 प्रॉपर्टीज गिरवी रख दी है, ताकि वह लोगों की मदद कर सकें। इस बारे में पूछे जाने पर सोनू ने कहा, ‘मैं इस बारे में बात करना सही नहीं समझता। मैं लोगों की सर्जरी करवा रहा हूं। मेरा लक्ष्य है कि मैं एक महीने में 1000 सर्जरी करवा सकूं। इसी कड़ी में मेरा कनेक्शन गौतम भाई से हुआ और फिर मैंने देशभर के डॉक्टर्स से बात की। आज 47 डॉक्टर्स हमारे साथ जुड़े हुए हैं। हमने सभी डॉक्‍टर्स से यही कहा है कि कोई गरीब आदमी सर्जरी के लिए आए तो आप उनसे पैसे मत लेना, फीस हमलोग भर देंगे।

इसे भी पढ़े   मां-बेटी से रेप, विडियो वायरल, दो आरोपी समेत तीन गिरफ्तार

कहां से आया लोगों की मदद के लिए पैसा?बीते 7-8 महीनों में सोनू सूद ने लोगों को बस, ट्रेन और यहां तक कि विमान से उनके घर पहुंचाया है। जरूरतमंदों के घर हर जरूरी सामान की आपूर्ति की है। लेकिन इन सब के लिए उनके पास इतना पैसा आया कहां से? इस सवाल का जवाब देते हुए सोनू कहते हैं, ‘जो लोग मुझे सम्‍मान या ट्रॉफी देना चाहते हैं, उनसे मैं अब डोनेशन देने के लिए कहता हूं। मैं उनसे कहता हूं कि आप ट्रॉफी देने की बजाय एक काम कीजिए, मुझे आपके डॉक्टर और नर्स दे दीजिए। मैं पेशेंट दे देता हूं। हम लोग 24-25 सर्जरी अभी भी हर रोज करवा रहे हैं। अब तो मैं भी थोड़ा-बहुत डॉक्टर बन गया हूं। मैं जब सुबह जिम जाता हूं तो लोग रिपोर्ट लेकर बाहर खड़े रहते हैं। मैं उन्हें देखता हूं और फोटो खींचकर भेजता हूं, जब तक जिम में वर्कआउट खत्म होता है तब तक 3-4 लोग अस्पताल में एडमिट हो चुके होते हैं। लोग पैसे देने आते हैं तो मैं कहता हूं कि थोड़ा और मिलाकर मदद कर दीजिए। मुझे कुछ मत दीजिए।

विदेशों में रह रहे भारतीय लोगों की मदद कैसे की?सोनू सूद से पूछा गया कि उन्हें विदेशों में फंसे लोगों की मदद का ख्याल कैसे आया? जवाब मिला, ‘किर्गिस्तान में कुछ मेडिकल स्टूडेंट्स फंसे हुए थे। वहां से मैसेज आया। मैं कभी किर्गिस्तान गया नहीं था, इसलिए मुझे वहां से बारे में कोई जानकारी नहीं थी। लेकिन इस बीच वहां एक बच्चे की मौत हो गई। किर्गिस्तान, कजाकिस्तान, जॉर्जिया, रूस, और फिलिपीन्स में करीब साढ़े 14 हजार स्टूडेंट फंसे हुए थे। मैंने वहां के एम्बेसडर और एम्बेसी से बात की। फिर पेपर वर्क किया। 7-8 दिन लगे। पहली जो फ्लाइट उड़ी उसमें किर्गिस्तान से 180 स्टूडेंट्स आए थे। उसके बाद मैंने बाकी देशों के एम्बेसडर और एम्बेसी से भी बात की और इस तरह राह आसान हो गई।

इसे भी पढ़े   टाइगर श्रॉफ ने अपने सॉन्‍ग 'कैसानोवा' का टीजर किया रिलीज, दिशा पाटनी ने की जमकर तारीफ

निजी जीवन और करियर में कितना बदलाव आया?सोनू सूद ने इंटरव्‍यू में बताया कि अब डायरेक्‍टर्स उन्हें पर्दे पर विलन के रोल में दिखाने से कतरा रहे हैं। वह कहते हैं, ‘मैं एक साउथ इंडियन मूवी कर रहा हूं। उसमें प्रकाश राज सर को मेरा कॉलर पकड़ना था। लेकिन उन्होंने मना कर दिया। उन्होंने कहा कि ऐसा करेंगे तो लोग बुरा बोलेंगे। फिर चिरंजिवी सर के साथ शूट कर रहा था। उन्होंने भी कहा कि वह 40-45 साल से काम कर रहे हैं। पर्दे पर उनकी एंट्री पर तालियां बजती हैं। लेकिन पहली बार है पर्दे पर उनके साथ कोई दूसरा एक्टर आएगा तो उसके लिए उनसे ज्यादा तालियां बजेंगी।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

R.O. No. 11359/53

CG Trending News

BREAKING2 hours ago

Breaking: सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, 8 लाख का इनामी नक्सली ढेर

बीजापुर। थाना कुटरू इलाके के कुटरू और केतुलनार के मध्य जंगलों में पुलिस और माओवादियों के बीच मुठभेड़ हुआ। बता...

channel india2 hours ago

कबीरधाम जिले में 95 प्रतिशत किसानों से धान खरीदी पूरी, निर्धारित समय तक होगी धान की खरीदी

कवर्धा। कबीरधाम जिले में खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में किसानों से समर्थन मूल्य पर सुचारू रूप से धान खरीदी की...

channel india3 hours ago

नायब तहसीलदार शिव कुमार डनसेना के द्वारा गौठान के लिए शासकीय भूमि को कराया गया मुक्त

सक्ती। आज तहसील क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत डड़ई में नायब तहसीलदार शिवकुमार डनसेना जनपद सीईओ आर एस साहू अपने टीम...

channel india3 hours ago

कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा के निर्देश पर अवैध खनन तथा परिवहनों पर कार्यवाही जारी, कई गाडियाँ जब्त

कवर्धा। कबीरधाम जिले में चुना पत्थर, ईट, रेत और मुरुम के अवैध परिहन व खनन करने वालो पर कार्यवही की...

channel india3 hours ago

जिला पंचायत की सामान्य सभा की बैठक रही हंगामेदार, राजिम विधायक प्रतिनिधि के प्रश्नो से अधिकारियों मे मचा हड़कंप

गरियाबंद। जिला पंचायत की सामान्य सभा की बैठक मे प्रथम पंचायत मंत्री और राजिम विधायक अमितेश शुक्ल के प्रतिनिधी नरेंद्र...

खबरे अब तक

Advertisement
Advertisement