खबरे अब तक

देश-विदेश

लॉकडाउन में भी महंगाई के असर से बेपरवाह बुजुर्ग महिला 1 रुपये में बेचती हैं इडली…पढ़िये पूरी खबर



तमिलनाडु: कोयटंबूर में एक महिला  30 सालों से आज भी एक रुपये में इडली बेच रही है. लॉकडाउन में जहां खाने-पीने के सामान के दाम भाग गए हैं वहीं 85 वर्षीय बुजुर्ग महिला ने इडली का दाम नहीं बढ़ाया है. बुजुर्ग महिला एम कमलथल आज भी एक रुपये में ग्राहकों को इडली परोसती हैं.

 

अलंदुरैई के नजदीक अपने घर से खाने-पीने का आउटलेट चला रही बुजुर्ग महिला के यहां प्रतिदिन करीब 300 लोग  इडली खाकर अपनी भूख मिटाते  हैं. कुछ लोग ऐसे भी हैं जो लॉकडाउन के कारण घर नहीं  जा सके हैं. कमलथल बताती हैं, “उरद दाल का दाम 100 से 150 रुपये हो गया है. मिर्च की कीमत भी 150 रुपये से 200 रुपये हो गई है मगर मैंने कीमत नहीं बढ़ाई है. मैं एक रुपये में इडली बेचकर किसी तरह संतुलन बना लेती हूं.” अपने ग्राहकों को महिला सोशल डिस्टेंसिंग का पाठ भी पढ़ाती हैं. उनका कहना है, “कुछ ऐसे लोग भी हैं जो दूसरी जगहों से आए हैं. इसलिए उन्हें चाहिए कि अपनी जगहों पर रहते हुए इडली खाएं.”

इसे भी पढ़े   घर के पीछे दिखा शेर तो लोगों ने बुलाई पुलिस, बंदूक लेकर पास पहुंचे तो निकला ये....

 

30 सालों से बुजुर्ग महिला महंगाई के झंझावतों का  सामना कर रही हैं. इसके बावजूद उन्होंने अपने यहां के खाने-पीने का दाम नहीं बढ़ाया है. हालांकि उनके शुभ चिंतक महंगाई की खाई को पाटने के लिए सब्जी. खाने-पीने का सामान पहुंचाकर मदद करते हैं. महिला ने कहा कि लोग दाल, सब्जी और चावल दे रहे हैं. इससे उन्हें बहुत ज्यादा खुशी मिली है. DMK अध्यक्ष एम के स्टालिन तक जब महिला की खबर पहुंती तो उन्होंने शनिवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए उनसे बात की. सितंबर महीने में महिला की दयालुता की खबर वायरल होने पर उनकी शोहरत दूर तक फैल गई. कई मशहूर हस्तियों ने उन तक मदद के हाथ बढ़ाए हैं.

इसे भी पढ़े   किसान आंदोलन: आज सड़क पर उतरेंगे राहुल गांधी, राष्ट्रपति भवन तक होगा पैदल विरोध मार्च