खबरे अब तक

देश-विदेश

राजधानी – व्हाट्सएप ग्रुप से संचालित सेक्स रैकेट का भंडाफोड़



नई दिल्ली। एक 12 साल की गुमशुदा बच्ची की तलाश के दौरान दिल्ली पुलिस ने बड़ा खुलासा कर दिया है. इस जांच के दौरान पुलिस के एक बड़े ‘सेक्स रैकेट’ का पता चला. मासूम बच्ची को भी उसी दलदल में फंसा दिया गया था. पुलिस ने इस मामले में दो महिलाओं सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने बताया है कि यह हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट व्हाट्सएप ग्रुप के जरिए चलता था. एस्कार्ट सर्विस की तरह इसे चलाया जाता था. पुलिस इस मामले में और भी जांच कर रही है कि आखिर अन्य किन लड़कियों और महिलाओं को इस रैकेट में जबरन शामिल कराया गया है. पूरा मामला ऑनलाइन ही चलाया जा रहा था

इसे भी पढ़े   PM Cares Fund में जमा हुए पैसे को NDRF में ट्रांसफर नहीं किया जा सकता, सुप्रीम कोर्ट का फैसला

सबसे बड़ी बात है कि देह व्यापार का यह जाल पूरे देश में फैला हुआ था. पुलिस को इनके एक हजार से भी ज्यादा कस्टमर्स का पता लगा है. प्राथमिक जांच के बाद पुलिस ने जिन पांच लोगों को गिरफ्तार किया है उनके नाम संजय, अंशू, रॉबिन, सपना और कनिका है. पुलिस इनसे पूछाताछ कर रही है. इससे पहले 22 जनवरी को 12 साल की बच्ची के अपहरण का मुकदमा दर्ज किया गया था. कई लोगों से पुलिस ने पूछताछ की और फिर जानकारी मिली कि देह व्यापार से जुड़े गिरोह ने उसका अपहरण किया है. इसके बाद पुलिस ने डोर-टू-डोर कैंपेन चला कर बहुत सारी जानकारी इकट्ठा की. दो महीने की कड़ी मेहनत के बाद पुलिस को बच्ची के स्थान के बारे में जानकारी मिल गई. इसके बाद मजनू के टीले के पास पुलिस ने छापेमारी की. यहीं पर पांच आरोपियों को पकड़ा गया. साथ ही उस बच्ची को भी रिहा करा लिया गया जिसका अपहरण किया गया था. चिप्स के पैकेट के नाम पर बहला कर उसका अपहरण किया गया था.

 

इसे भी पढ़े   बड़ी खबर: एक नशेड़ी ने प्रधानमंत्री मोदी को कॉल कर दी जान से मारने की धमकी, पुलिस ने किया गिरफ्तार