खबरे अब तक

देश-विदेश

रहस्यमयी : शख़्स ने पहाड़ों पर छिपाया है 18 किलो सोना, ढूंढ़ते हुए 4 लोगों की हो चुकी है मौत….पढ़िये पूरी खबर



अगर आपसे कोई यह कहे कि किसी सुदूर पहाड़ी इलाके मैं मैंने एक खजाना छिपा रखा है तो क्या आप इसे ढूंढने जाएंगे? अमेरिका में एक ऐसा ही मामला सामने आया है. 85 साल के एक अमेरिकी बिज़नेसमैन ने करोड़ों रुपये की कीमत का सोना किसी पहाड़ी इलाके मे छिपा रखा है. इस शख़्स का दावा है कि इस सोने को उसने ऐसी जगह पर छिपा रखा है, जिसे खोजने में 1,000 साल लग जाएंगे. उन्होंने इस बारे में एक कविता लिखकर हिंट भी दिया है. फॉरेस्ट फेन्न नाम के इस शख्स द्वारा छिपाए गए सोने को खोजने के लिए अब तक लाखों लोगों ने ट्राई भी किया है. कई रिपोर्ट्स में कहा गया है कि इस शख्स ने पहाड़ी इलकों में करीब 18 किलो सोना छिपा रखा है.

साल 2010 में मिस्टर फेन्न ने खुलासा किया कि यह सोना उन्होंने किसी पहाड़ पर 3 हजार ​मील की दूरी पर छिपा रखा है. उन्होंने इस खोजनों वालों की मदद के लिए एक मैप और एक कविता भी जारी किया था. हालांकि, उन्होंने यह भी कहा था कि इसे खोजने में करीब 1,000 साल भी जग जाएंगे. खजाना खोजने में 4 लोगों की मौत साल 2018 में इस खजाने को खोजने में जुटे 4 लोगों की मौत भी हो चुकी है, माना जा रहा है कि आज के समय में इस सोने की कीमत करीब 14.51 करोड़ रुपये है. मिस्टर फेन्न पहले अमेरिकी एयर फोर्स में काम करते थे. यहां से रिटायर होने के बाद वो अब एक आर्ट गैलरी चलाते हैं.

साढ़े तीन लाख लोगों ने की कोशिश इस खजाने के बारे में पता करने के लिए उनके पास हर रोज हजारों की संख्या में ईमेल आते हैं. एक अनुमान में कहा गया है कि अब तक करीब साढ़े ​तीन लाख लोगों ने इस खजाने को खोजने की कोशिश की है. लेकिन इनमें से किसी भी यह आइडिया तक नहीं लग सका है कि आखिर यह खजाना कहां है. मेक्सिको शहर के सांता फ़े में आर्ट गैलरी चलाने वाले मिस्टर फेन्न के पास 70 और 80 के दशक में कई सिलेब्रिटी आते थे. उनका कहना है कि जब उन्हें कैंसर की बीमारी के बारे में पता चला तो सोचा कि इस खजाने के राज उनके साथ ही दफ़्न हो जाएंगे. उन्हें अपनी कैंसर की बीमारी के बारे में 1988 में पता चला था. लेकिन, बाद में उन्होंने सही इलाज के बाद उन्होंने कैंसर को मात दे दी.

इसे भी पढ़े   ध्यान से देखिए... फ़ोटोग्राफ़र को इसकी उम्मीद नहीं थी

इस कविता में छिपा है हिंट इसके बाद उन्होंने अपने बारें में लिखते हुए इस खजाने के बारे में जानकारी दी. उस दौरान उन्होंने 24 लाइन की एक ​कविता भी लिखी. इस कविता का शीर्षक है, ‘द ​थ्रील ऑफ द चेज़’. कई मीडिया रिपोर्ट्स में उनके हवाले से कहा गया है कि इस खुलासे के बाद उनकी पॉपुलेरिटी किसी सपने से कम नहीं है. लोगों की ज़िंदगी जोख़िम में डालने का आरोप फेन्न पर पुलिस ने लोगों की जिंदगी को जोख़िम में डालने का भी आरोप लगाया है. दरअसल, इस खजाने की खोज में निकले कई लोगों की मौत हो चुकी है. जुलाई 2017 में ही एरिक एश्बी नाम के एक 31 साल के शख़्स को कोलोराडा के अरकांसास नदी से निकाला गया. एरिक एश्बी के परिवार का कहना था कि वो इस खजाने की खोज में कुछ समय पहले निकले थे. कई लोगों की मौत को इस खोज से जोड़ा गया है.

फेन्न ने क्यों रखा है ये चैलेंज? फेन्न का कहना है कि उन्होंने इस चैलेंज के बारे में सभी के सामने इसलिए रखा ताकि लोग अपना ज्यादातर समय घर से बाहर बिताएं. एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा, ‘मैं चाहता था कि लोग घर से ज्यादा समय बाहार ही बिताएं. आज के समय में लोग अपना अधिकतर समय घर पर बिताते हैं.’ उन्होंने उम्मीद जताई कि मात-पिता अपने बच्चों को पहाड़ों पर कैम्पिंग और हाईकिंग के लिए ले जाएंगे

इसे भी पढ़े   भंडारा हादसा: नवजातों को मरने के लिए छोड़ दिया, कोई देखने वाला तक नहीं था!