रसोईया ने खाना नहीं बनाया तो कर्मचारियों ने गला घोट ले ली जान, बाइक पर कंबल लपेट कर बैठाया फिर लाश को लगाया ठिकाने

रसोईया ने खाना नहीं बनाया तो कर्मचारियों ने गला घोट ले ली जान, बाइक पर कंबल लपेट कर बैठाया फिर लाश को लगाया ठिकाने

खंडवा(निशात सिद्दिकी) : मध्यप्रदेश के खंडवा में सिमरन ग्रुप कंपनी के दो नशेड़ी कर्मचारियों ने एक रसोइए का गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी क्योंकि उसमें समय पर खाना नहीं बनाया था। हत्या के बाद लाश को बाइक पर रखकर उसे कंबल से लपेट कर बैठाया और तीन किलोमीटर तक वे घूमते रहे। झागरिया गांव के पास नाले में लाश फेंककर गायब हो गए। पीएम रिपोर्ट में भी जब यह बात स्पष्ट हुई तो हत्यारों की तलाश शुरू हुई। पुलिस ने सिमरन ग्रुप के अन्य कर्मचारियों से पूछताछ की तो यह खुलासा हुआ।

एसडीओपी रवींद्र वास्कले के अनुसार नरसिंहपुर का दीपक उर्फ अर्जुन पिता खड़क सिंह सिमरन ग्रुप में रसोई बनाने का काम करता था। उसकी ड्यूटी धनवानी पाइंट पर लगाई थी। इसी पाइंट पर जूनापानी निवासी आत्माराम पिता बंशीलाल व विश्राम पिता कोमल बोट चलाने और बर्फ लाने की ड्यूटी करते हैं। 21 नबंवर की शाम सात बजे आत्माराम और विश्राम नशे में धुत थे। दोनों दीपक से करने लगे कि तूने खाना क्यों नहीं बनाया। बाद में हत्या कर दी।

बाइक पर लाश को बैठाकर कंबल लपेटकर ले गए

एएसआई कैलाश गुर्जर ने बताया कि आरोपी विश्राम और आत्माराम दोनों ने दीपक के शव को बाइक की सीट पर इस तरह बीच में रखा जैसे वह बैठा हो। उसके बाद उसे कंबल औढ़ा दिया। दोनों लाश को धनवानी पाइंट से तीन किलोमीटर दूर झागरिया के बेकवाटर में ले गए। वहां दीपक के शव को पानी में फेंक दिया। आरोपी घटना के बाद दो दिन तक काम पर नहीं लौटे। इधर, दीपक ने भी घर जाने के लिए छुट्टी मांग रखी थी। सभी को अंदेशा था कि दीपक अपने गांव गया हुआ है।

कर्मचारियों के बयान से हत्यारों का पता चला, दोनों हुए गिरफ्तार

एएसआई गुर्जर ने बताया कि जब शव मिला तो उसके गले पर लाल रंग के निशान थे। जिसे देख यही लगा कि संभवतः गला घोंटा गया है। पीएम रिपोर्ट में भी यह बात स्पष्ट हो गई तो साथी कर्मचारियों से पूछताछ की। जो घटना वाले दिन गायब था उनकी जानकारी निकलवाई। तब खुलासा हुआ कि विश्राम और आत्माराम का दीपक से विवाद हुआ था। शक के बिनाह पर दोनों को पकड़कर सख्ती बरती तो उन्होंने हत्या करना कबूल लिया। हत्या का केस दर्ज कर दोनों को गिरफ्तार कर लिया है।