खबरे अब तक

देश-विदेश

मैंने किया था BJP नेता को कॉल, पर बातचीत लीक करना अपराध : CM ममता बनर्जी



कोलकाता:

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को कहा कि उनकी पार्टी के एक पूर्व नेता (जो अब भाजपा में शामिल हो गए हैं)  को कॉल करना अपराध नहीं है. दोषी उन्हें ठहराया जाना चाहिए, उन्होंने भरोसा तोड़ा और बातचीत को लीक किया. बातचीत प्रालय पाल के साथ हुई थी, टीएमसी पहले तो इससे इनकार कर रही थी, लेकिन बाद में बताया कि हां, वास्तव में यह बातचीत हुई थी.

हां, मैंने नंदीग्राम में भाजपा नेता को फोन किया था. मुझे यह फीडबैक मिली थी कि कोई मुझसे बात करना चाहता है. इसलिए मैंने उनका नंबर लेने के बाद उनसे बात की. मैंने उनसे कहा कि वह अच्छे से रहे, अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखे. मेरा अपराध क्या है?’ नंदीग्राम में चुनाव प्रचार खत्म करने के बाद ममता बनर्जी ने यह कहा.

इसे भी पढ़े   चीन के एक फैसले से कोरोना वायरस से बच गए लाखों लोग, दुनिया में हो रही तारीफ

साथ ही उन्होंने कहा, ‘निर्वाचन क्षेत्र के उम्मीदवार होने के नाते मैं किसी भी मतदाता की मदद ले सकती हूं, मैं किसी को भी कॉल कर सकती हूं. इसमें कोई बुराई नहीं है. यह कोई अपराध नहीं है. लेकिन अगर कोई बातचीत को लीक करता है, तो एक अपराध है. मेरे खिलाफ नहीं, बल्कि उस व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए, जिसने मेरी बातचीत को लीक किया.’ यह ऑडियो क्लिप शनिवार को लीक हुई थी

इसे भी पढ़े   लालू के लाल ने मिलाए मुलायम पुत्र के सुर में सुर, Corona Vaccine पर कहा- पहले पीएम मोदी कोरोना वाला टीका लें फिर हम लेंगे

ऑडियो में ममता बनर्जी को पाल से यह कहते हुए सुना जा सकता है, ‘तुम्हें नंदीग्राम में हमारी मदद करनी चाहिए. देखिए, मुझे पता है कि आपकी कुछ शिकायतें हैं, लेकिन यह ज्यादातर अधिकारी की वजह हैं, जिन्होंने मुझे कभी नंदीग्राम या पूर्वी मिदनापुर आने ही नहीं दिया. मैं अब से सब कुछ संभाल  लूंगी.’

इसके बाद पाल ममता बनर्जी को जवाब देते हैं, ‘दीदी आपने मुझे कॉल किया मुझे अच्छा लगा. लेकिन में अधिकारी को धोखा नहीं दे सकता, क्योंकि वे मेरे साथ हर वक्त खड़े रहे.’ बाद में उन्होंने मीडिया से कहा कि उन्होंने ममता बनर्जी की टीएमसी में वापस जाने की गुहार ठुकरा दी. उन्होंने कहा, ‘मैं अब भाजपा के लिए काम करता हूं और उन्हें धोखा नहीं दे सकता.’

इसे भी पढ़े   महाराष्ट्र मे आज से खुलेंगे सिनेमा हाल, जनता मे उत्साह की लहर

भाजपा ने इस ऑडियो को सबूत के तौर पर इस्तेमाल करते हुए कहा था कि मुख्यमंत्री अपने पद का इस्तेमाल करके चुनाव को प्रभावित कर रही हैं. बंगाल भाजपा प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल ने चुनाव आयोग को शिकायत दर्ज करवाई थी और ऑडियो भी सौंपा था.