Connect with us

देश-विदेश

*भारत का चंद्रयान-2 कदम दर कदम लक्ष्य की ओर बढ़ रहा का संदेश*

Published

on

Apन्यूज़।  

नई दिल्ली,। भारत का चंद्रयान-2 कदम दर कदम लक्ष्य की ओर बढ़ रहा है। यान ने संदेश भेजा और शानदार यात्रा के बारे में संदेश भेजा है। यान के संदेश में कहा गया है कि वह सात सितंबर को चांद के दक्षिणी धु्रव पर लैंड करेगा।भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने रविवार को इस संबंध में आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया।

इसरो ने लिखा, ‘हेलो! मैं चंद्रयान-2 हूं, विशेष अपडेट के साथ। मैं आप सबको बताना चाहूंगा कि अब तक का मेरा सफर शानदार रहा है और मैं चांद के दक्षिणी ध्रुव पर सात सितंबर को उतरूंगा। मैं कहां हूं और क्या कर रहा हूं, यह जानने के लिए मेरे साथ जुड़े रहें।’22 जुलाई को प्रक्षेपित किया गया चंद्रयान-2 अब तक अपनी कक्षा में छह बदलाव से गुजर चुका है। छठा बदलाव 14 अगस्त को किया गया था।

READ  महाराष्ट्रः शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस की सरकार में ये नेता बन सकते हैं मंत्री, देखिए पूरी List

इस बदलाव के जरिये यान को लुनार ट्रांसफर ट्रेजेक्टरी (एलटीटी) पर पहुंचा दिया गया था। इसके लिए यान के लिक्विड इंजन को 1203 सेकेंड के लिए चलाया गया था। एलटीटी वह पथ है, जिस पर बढ़ते हुए यान चांद की कक्षा में प्रवेश करेगा। इस प्रक्रिया को ट्रांस लुनार इंसर्शन (टीएलआइ) कहा जाता है। एलटीटी पर बढ़ते हुए 20 अगस्त को जब यान चांद के मुहाने पर पहुंचेगा, तब एक बार फिर लिक्विड इंजन चलाकर इसे चांद की कक्षा में प्रवेश कराया जाएगा। इसके बाद यान को चांद की निकटतम कक्षा तक पहुंचाने के लिए कक्षा में चार बदलाव और किए जाएंगे। निकटतम कक्षा चांद की सतह से करीब 100 किलोमीटर पर होगी।

READ  रात होते ही मजनू बन जाता है एसपी, दूसरे की बीवियों के साथ करता है ऐसा काम..

पिछले महीने हुआ था प्रक्षेपण
चंद्रयान-2 को 22 जुलाई को आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से इसरो के सबसे भारी रॉकेट जीएसएलवी-मार्क 3 की मदद से प्रक्षेपित किया गया था। चंद्रयान-2 के तीन हिस्से हैं- ऑर्बिटर, लैंडर ‘विक्रम’ और रोवर ‘प्रज्ञान’।

ऑर्बिटर करीब सालभर चांद की परिक्रमा करते हुए प्रयोगों को अंजाम देगा। वहीं लैंडर और रोवर चांद के दक्षिणी ध्रुव पर उतरेंगे। लैंडिंग के साथ ही भारत यह उपलब्धि हासिल करने वाला चौथा देश बन जाएगा। अब तक अमेरिका, रूस और चीन अपना यान चांद पर उतार चुके हैं।

READ  अगर आपके फ़ोन में है ये App तो हो जाइये सावधान, बिना जानकारी के निकाल रहा है पैसे

चंद्रयान-2 के लैंडर-रोवर चांद के जिस हिस्से पर उतरेंगे, वहां अब तक कोई यान नहीं पहुंचा है। 2008 में भारत ने आर्बिटर मिशन चंद्रयान-1 भेजा था। यान ने करीब 10 महीने चांद की परिक्रमा करते हुए प्रयोगों को अंजाम दिया था। चांद पर पानी की खोज का श्रेय भारत के इसी अभियान को जाता है।





Advertisement http://channelindia.news/wp-content/uploads/2020/01/WhatsApp-Image-2020-01-04-at-12.28.08-PM.jpeg
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

क्राइम3 hours ago

लाठी डंडे से पीट-पीटकर दो युवकों की हत्या, घटना से इलाके में फैली सनसनी

राजनादगांव (चैनल इंडिया) जिले के कन्हारपुरी लखोली बाईपास पर फ्लाईओवर के नीचे दो युवकों की हत्या कर दी गई. मृतकों...

खबरे छत्तीसगढ़5 hours ago

ग्राम पंचायत घाना में तीन दिवसीय जयंती समारोह का हुआ समापन..

भटगांव (चैनल इंडिया) ग्राम-घाना में तीन दिवसीय जयंती समारोह का आयोजन किया गया जिसमें पंथी पार्टी को प्रथम पुरस्कार 5001...

क्राइम5 hours ago

भिलाई ब्रेकिंग : स्कूल से लापता हुआ छात्र, जांच में जुटी पुलिस

बीते दिन भिलाई नगर दुर्ग जिला से सड़क नंबर 3 प्लॉट 225 नगर मंडल 10 किराए से अपने छोटे भाई...

क्राइम6 hours ago

बड़ी खबर – राजधानी में पति ने पत्नी व अपने मासूम बच्ची की हत्या की , फिर खुद फांसी लगाकर दी जान

रायपुर (चैनल इंडिया) राजधानी से लगे फुंडहर में एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी और बच्ची की हत्या कर खुद भी...

खबरे छत्तीसगढ़6 hours ago

बढ़ती बेरोज़गारी के खिलाफ छग युवा कांग्रेस का अनोखा प्रदर्शन, मोदी सरकार के खिलाफ जूते पालिश और पकौड़े तल कर बेरोजगारी का कर रहे प्रदर्शन

रायपुर(चैनल इंडिया) देश में बढ़ते बेरोजगारी संकट के आलोक में छत्तीसगढ़ प्रदेश युवा कांग्रेस अध्यक्ष पूर्णचंद कोको पाढ़ी के नेतृत्व...

खबरे अब तक