खबरे अब तक

क्राइमदेश-विदेश

बेहद खौफनाक : घर में बनाया कब्रिस्तान, माता-पिता और बहन को दफनाया, किचन में मां की खोपड़ी रखी



पंजाब के अबोहर के सिद्धू नगरी गली नंबर 4 स्थित घर में शुक्रवार दोपहर लगी आग के दौरान रसोई से इंसानी खोपड़ी मिलने पर इलाके में सनसनी फैल गई। पड़ोसियों का कहना है कि जांच में घर से अन्य परिजनों के कंकाल भी मिल सकते हैं। थाना नंबर 2 पुलिस मामले की जांच कर रही है। जानकारी के अनुसार सिद्धू नगरी गली नंबर 4 निवासी मंदबुद्धि व्यक्ति राजिंदर भाटिया के घर में शुक्रवार को अचानक आग लग गई, जिसे दमकल विभाग ने बड़ी मुश्किल से बुझाया। इस दौरान रसोई में से एक इंसानी खोपड़ी मिली तो टीम सकते में आ गई।

पड़ोसियों ने नगर निगम को शिकायत दी कि राजिंदर भाटिया के घर में कई दशकों से सफाई नहीं हुई है। जिससे घर जंगल का रूपधारण कर चुका है। इस घर की गंदगी से आसपास के लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है। इस बीच शुक्रवार को उस घर में आग लग गई तो दमकल विभाग ने बड़ी मुश्किल से बुझाया। इसके बाद निगम के सैनेटरी इंस्पेक्टर टीम के साथ घर में घुसे तो वहां का भयावह दृश्य देखकर उनके होश उड़ गए। घर की रसोई में एक इंसानी खोपड़ी रखी थी।

इस बारे में भाटिया ने जो कुछ बताया, उससे सुनने वालों के पैरों तले जमीन खिसक गई। उसका कहना है कि माता-पिता और बहन के साथ वह इस घर में रहता था। माता की मौत हुई तो उसने शव घर में ही दफना दिया। उसके कुछ समय बाद पिता का भी निधन हो गया। इस पर उसने माता की दफनाई गई जगह खोदकर उसका कंकाल बाहर निकाल लिया और वहां पिता को दफना दिया। बाद में माता की खोपड़ी उसने रसोई में रख ली तथा बाकी अस्थियां थैले में भरकर रख दी।

इसे भी पढ़े   वैक्सीन वॉरः कौन हैं कोवैक्सीन बनाने वाली कंपनी के चीफ कृष्णा इल्ला, क्यों हो रही उनकी इतनी चर्चा

कुछ समय बाद उसकी बहन की भी मौत हो गई तो उसने पिता का कंकाल बाहर निकाला और उसी स्थान पर बहन को दफना दिया, जो अभी तक जमीन में ही दफन है। उसने टीम को बताया कि पिता की खोपड़ी ऊपर वाले कमरे में रखी थी जो शुक्रवार को आग लगने से भस्म हो गई। निगम कर्मचारियों ने बताया कि उसके घर में पुरानी से पुरानी चीजों के कबाड़ के ढेर लगे हैं। रसोई में शराब की खाली बोतलें सजाई हुई हैं। निगम कर्मचारियों ने पूरे घटनाक्रम की रिपोर्ट निगम कमिश्नर अभिजीत कपलिश को दे दी है।

इसे भी पढ़े   Quadrantid Meteor Shower: नए साल की शुरुआत 'आसमानी आतिशबाजी' के साथ, हर घंटे लगेगा 200 टूटते तारों का जमघट

अब पुलिस को साथ लेकर आगे की कार्रवाई की जाएगी। उधर, सूचना मिलने पर थाना नंबर 2 की पुलिस मौके पर पहुंचीं और मामले की जानकारी उच्चाधिकारियों को दी गई। मोहल्ले के लोगों का कहना है कि भाटिया के माता-पिता, भाई, बहन आदि की मौत होने के बाद इसने किसी के शव को घर से बाहर नहीं निकाला और न ही किसी रिश्तेदार को सूचना दी। अब नगर निगम की ओर से उसके घर की सफाई करवाने और जमीन को खंगालने की योजना बनाई जा रही है।

इसे भी पढ़े   स्नो रेसिंग, आइस हॉकी, स्केटिंग...न्यू ईयर पर कश्मीर के गुलमर्ग में विंटर गेम्स की धूम

राजिंदर भाटिया के घर में उसकी माता की अस्थियां मिली हैं। जिसकी रिपोर्ट संबंधित अधिकारियों को भेज दी गई है। उच्चाधिकारियों के आदेश पर ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।