बृहस्पति के चंद्रमा से भेजा गया रेडियो संदेश? NASA के जूनो ने पकड़ा Wifi जैसा सिग्नल – Channelindia News
Connect with us

BREAKING

बृहस्पति के चंद्रमा से भेजा गया रेडियो संदेश? NASA के जूनो ने पकड़ा Wifi जैसा सिग्नल

Published

on

वॉशिंगटन
अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी के एक स्पेसक्राफ्ट ने बृहस्पति ग्रह के चंद्रमा से आ रही एक वाई-फाई जैसे सिग्नल को पकड़ा है। जिसे वैज्ञानिकों ने किसी एफएम सिग्नल के जैसा पाया है। इस अनोखे सिग्नल को 2016 से बृहस्पति की परिक्रमा कर रहे ने पकड़ा है। बताया जा रहा है कि यह सिग्नल बृहस्पति के चंद्रमा गैनीमिड से आया था।

FM रेडियो सिग्नल जैसी थी यह रेडियो तरंग
नासा के वैज्ञानिकों के अनुसार, यह किसी एफएम सिग्नल के जैसा प्रतीत हो रहा है। अधिकतर सिग्नलों को एफएम (FM) और एएम (AM) रेडियो तंरगों के जरिए भेजा जाता है। जिसमें से एफएम रेडियो तरंगों को तकनीकी रूप से ज्यादा उन्नत माना जाता है। क्योंकि, संचरण यानी एक स्थान से दूसरे स्थान तक भेजे जाने के दौरान एफएम सिग्नलों में माध्यम की त्रुटियां जैसे शोरगुल आदि कम होता है। जिससे यह रिसीवर पर ज्यादा साफ सुनाई देती है।

इसे भी पढ़े   रायपुर :वारदात को अंजाम देने की फिराक में निकले आरोपी  गिरफ़्तार

बृहस्पति के चंद्रमा से मिला यह पहला सिग्नल
एबीसी4 की रिपोर्ट के अनुसार, आज से पहले कभी भी सोलर सिस्टम के सबसे बड़े ग्रह बृहस्पति के चंद्रमा से इतनी मजबूत तरंगों को पकड़ा नहीं गया है। जूनो को यह रेडियो वेब गैनीमिड चंद्रमा की गैस से बने ध्रुवीय क्षेत्र की परिक्रमा के दौरान मिला है। इस क्षेत्र में गैनिमेड की चुंबकीय क्षेत्र की रेखाएं गुजरती हैं। वैज्ञानिकों की भाषा में इस प्रक्रिया को आम तौर पर एक डिकैमेट्रिक रेडियो उत्सर्जन के रूप में जाना जाता है।

इसे भी पढ़े   बैंक प्रबंधन के द्वारा बुजुर्ग महिलाओं के लिए धूप से बचने की के लिए नहीं किया जा रहा है इंतजाम

बृहस्पति से पहले भी मिल चुके हैं सिग्नल
Britannica.com के अनुसार, बृहस्पति के रेडियो उत्सर्जन की खोज 1955 में की गई थी। पिछले 66 वर्षों में इस ग्रह से कई ऐसी रेडियो तरंगे मिली हैं। वैज्ञानिक अब यह समझने की कोशिश कर रहे हैं कि ये सिग्नल आखिर कैसे संचालित होते हैं।

इसे भी पढ़े   25 नए मरीज : ब्रेकिंग- छत्तीसगढ़ में मरीजों का आंकड़ा 2627  के पास पहुंचा…. आज कुल 25 नए मरीजो की रिपोर्ट आई पॉज़िटिव

नासा के रिसर्चर्स ने बताया सिग्नल का यह कारण
नासा के शोधकर्ताओं का मानना है कि इस रेडियो सिग्नल्स के लिए इलेक्ट्रॉन जिम्मेदार हैं। इस सिग्नल को जूनो अतंरिक्षयान ने 50 किलोमीटर प्रति सेकेंड की गति से उड़ते हुए केवल 5 सेकेंड तक महसूस किया। हालांकि, वैज्ञानिकों को अभी भी विश्वास नहीं है कि ऐसे किसी ग्रह पर कोई जीवन हो सकता है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

R.O. No. 11359/53

CG Trending News

Vishal Bhandara program on Shakambari Jayanti of Marar Patel Samaj: Mayor Ejaz Dhebar will be the chief guest in Raipur on 28 January Vishal Bhandara program on Shakambari Jayanti of Marar Patel Samaj: Mayor Ejaz Dhebar will be the chief guest in Raipur on 28 January
channel india6 hours ago

मरार पटेल समाज के शाकम्बरी जयंती पर विशाल भंडारा कार्यक्रम: 28 जनवरी को रायपुर में महापौर एजाज ढेबर होंगे मुख्य अतिथि

रायपुर। मरार पटेल समाज रायपुर जिला के तत्वाधान में आगामी 28 जनवरी 2021 गुरुवार को होने वाले माँ शाकंभरी जयन्ती...

channel india7 hours ago

रायपुर: शिवसेना ने मनाई हिंदू ह्रदय सम्राट बाल साहब ठाकरे की जयंती

रायपुर। शिवसेना प्रदेश कार्यालय चौबे कॉलोनी में मा. हिंदू हृदय सम्राट मा. बालासाहेब ठाकरे जी की जयंती पर कार्यक्रम आयोजित...

balodabazar c.g.9 hours ago

सुकन्या खाता खोलने डाकघर में चल रहे विशेष शिविर में एक दिन की हुई वृद्धि

बलौदाबाजार| सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता खोलने के लिए जिला मुख्यालय स्थित मुख्य डाकघर में 21 जनवरी से 23...

balodabazar c.g.9 hours ago

32वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह कार्यक्रम का शुभारंभ, यातायात नियमों के प्रति जागरूकता के लिए चलेंगे एक महीना विविध कार्यक्रम

बलौदाबाजार। आमजनों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने, दो पहिया वाहन चालकों को अनिवार्य रूप से हेलमेट पहनने हेतु प्रेरित...

balodabazar c.g.10 hours ago

शिवसैनिको नें कार्यालय में मनाया ठाकरे सुभाष की जयंती

बलौदाबाजार |शिवसेना छत्तीसगढ़ के प्रमुख माननीय धनंजय सिंह परिहार के निर्देशानुसार बलौदाबाजार जिला कार्यालय में शिवसैनिको ने जिलाध्यक्ष संतोष यदु...

खबरे अब तक

Advertisement
Advertisement