72 साल की उम्र में छत्तीसगढ़ के सबसे बुजुर्ग हाथी 'सिविल बहादुर' की मृत्यु

72 साल की उम्र में छत्तीसगढ़ के सबसे बुजुर्ग हाथी 'सिविल बहादुर' की मृत्यु

छत्तीसगढ़ डेस्क  

सूरजपुर। छत्तीसगढ़ का सबसे बुजुर्ग हाथी 'सिविल बहादुर' ने दुनिया को कहा अलविदा । 'सिविल बहादुर' की 72 साल की उम्र में मौत हो गई। कुसमी के सिविलदाग ग्राम में पकड़े जाने के कारण इसका नामकरण 'सिविल बहादुर' रखा गया था। उम्र संबंधी बीमारियों के कारण हाथी कुछ दिनों से बीमार चल रहा था। इस बीच मंगलवार को सुबह उसकी मौत हो गई जिसके बाद रेस्क्यू सेंटर परिवार सन्नाटा पसर गया और गमगीन स्थिति बन गई क्योंकि वह सबसे पुराना साथी था तथा कर्मचारी ज्यादा समय उसी के साथ व्यतीत करते थे। अंबिकापुर से वन विभाग के उच्चाधिकारी हाथी रेस्क्यू सेंटर के लिए रवाना हो गए है। वन विभाग उसके पोस्टमार्टम की तैयारी कर रहा है ताकि मौत का कारण और स्पष्ट हो सके। बताया जा रहा है कि विभाग सम्मान के साथ हाथी का अंतिम संस्कार करेगा।

वन क्रमियों ने बताया कि 1988 में यह हाथी पहले कुसमी क्षेत्र में घुसा था। कई दिनों तक इसी क्षेत्र में यह रूक गया था। शेष हाथी भी आ गए थे। तब इसे रस्सा से फंसाकर पकड़ लिया गया था। तब से यह वन विभाग की देखरेख में भी रह रहा था। आज 72 साल की उम्र में 'सिविल बहादुर' ने दुनिया को अलविदा कह दिया।