प्रयागराज के MP-MLA कोर्ट की चिट्ठी, जिससे उड़ी हुई है माफिया मुख्तार अंसारी और उसके रहनुमाओं की नींद – Channelindia News
Connect with us

channel india

प्रयागराज के MP-MLA कोर्ट की चिट्ठी, जिससे उड़ी हुई है माफिया मुख्तार अंसारी और उसके रहनुमाओं की नींद

Published

on

प्रयागराज/लखनऊ
उत्तर प्रदेश की मऊ सीट से विधायक माफिया () एक बार फिर लगातार सुर्खियों में है। फिलहाल पंजाब की में बंद मुख्तार को उत्तर प्रदेश वापस लाने की कवायद चल रही है। ने मेडिकल रिपोर्ट को आधार बनाकर मुख्तार को यूपी पुलिस को सौंपने से इनकार कर दिया। दरअसल, एक चिट्ठी ही मुख्तार और उसके रहनुमाओं के लिए आफत बन गई है।

मुख्तार के खिलाफ यह नोटिस 2014 में एक मर्डर से जुड़े मामले में जारी हुआ है। प्रयागराज की एमपी-एमएलए कोर्ट के स्पेशल जज ने रोपड़ जेल के अधीक्षक और सीनियर पुलिस अधिकारियों को पत्र लिखा है। 12 अक्टूबर 2020 की तारीख में मुख्तार के गाजीपुर के मोहम्मदाबाद स्थित घर का पता दर्ज है।

इसे भी पढ़े   Madhya Pradesh के कई भागों में कोहरा और बारिश, ठंड भी बढ़ी

फरवरी 2014 में आजमगढ़ जिले के तरवां थाना क्षेत्र के ऐराकला गांव में निर्माणाधीन एक सड़क के ठेके को लेकर एक मजदूर की हत्या कर दी गई थी। वर्चस्व की लड़ाई में मुख्तार गैंग की तरफ से घटना को अंजाम दिया गया था। इस मामले में मुख्तार अंसारी सहित अन्य के खिलाफ मामला दर्ज हुआ था। इसके सिलसिले में पुलिस को मुख्तार को पेश कराना है।

सुप्रीम कोर्ट का नोटिस लेकर बीएसपी विधायक मुख्तार अंसारी को यूपी लाने पहुंची गाजीपुर पुलिस को पंजाब की रोपड़ पुलिस ने खाली हाथ वापस भेज दिया। यूपी पुलिस द्वारा लाए गए सुप्रीम कोर्ट का नोटिस लेने के बाद रोपड़ जेल अधीक्षक ने इसका जवाब सर्वोच्च अदालत में दाखिल करने की बात कही और गाजीपुर पुलिस को वापस भेज दिया।

इसे भी पढ़े   एक्ट्रेस ने मुंबई पुलिस से कर दी शिकायत, जब फिल्ममेकर ने शूटिंग करते हुए Photo की शेयर!!

पहले भी खाली हाथ लौट चुकी है यूपी पुलिस
हालांकि, यह पहली बार नहीं है जब अंसारी को लाने पहुंची गाजीपुर पुलिस को रोपड़ से खाली हाथ वापस आना पड़ा है। इससे पहले बीते साल 11 अक्टूबर को प्रयागराज के एमपी-एमएलए कोर्ट में अंसारी की पेशी के लिए गाजीपुर पुलिस रोपड़ गई थी। तब मेडिकल बोर्ड ने अंसारी को काफी अस्वस्थ बताकर उसे तीन महीने के लिए बेड रेस्ट की सलाह दी थी। इस वजह से गाजीपुर पुलिस को बिना अंसारी के वापस आना पड़ा था।

इसे भी पढ़े   दिल्ली एयरपोर्ट पर 2 अफगानी नागरिकों से 60 किलो केसर जब्त

मुख्तार अंसारी को साल 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले यूपी के बांदा से पंजाब की रोपड़ जेल में शिफ्ट किया गया था। उस पर पंजाब में रंगदारी के एक मामले में केस दर्ज कराया गया था। मामले को लेकर राजनीति भी तेज होने लगी है। बीजेपी और कांग्रेस के आरोप-प्रत्यारोप के बीच उत्तर प्रदेश के पूर्व डीजीपी एके जैन ने भी मुख्तार अन्सारी को संरक्षण देने का आरोप पंजाब पुलिस पर लगाया है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

R.O. No. 11359/53

CG Trending News

BREAKING2 hours ago

Breaking: सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, 8 लाख का इनामी नक्सली ढेर

बीजापुर। थाना कुटरू इलाके के कुटरू और केतुलनार के मध्य जंगलों में पुलिस और माओवादियों के बीच मुठभेड़ हुआ। बता...

channel india2 hours ago

कबीरधाम जिले में 95 प्रतिशत किसानों से धान खरीदी पूरी, निर्धारित समय तक होगी धान की खरीदी

कवर्धा। कबीरधाम जिले में खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में किसानों से समर्थन मूल्य पर सुचारू रूप से धान खरीदी की...

channel india3 hours ago

नायब तहसीलदार शिव कुमार डनसेना के द्वारा गौठान के लिए शासकीय भूमि को कराया गया मुक्त

सक्ती। आज तहसील क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत डड़ई में नायब तहसीलदार शिवकुमार डनसेना जनपद सीईओ आर एस साहू अपने टीम...

channel india3 hours ago

कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा के निर्देश पर अवैध खनन तथा परिवहनों पर कार्यवाही जारी, कई गाडियाँ जब्त

कवर्धा। कबीरधाम जिले में चुना पत्थर, ईट, रेत और मुरुम के अवैध परिहन व खनन करने वालो पर कार्यवही की...

channel india3 hours ago

जिला पंचायत की सामान्य सभा की बैठक रही हंगामेदार, राजिम विधायक प्रतिनिधि के प्रश्नो से अधिकारियों मे मचा हड़कंप

गरियाबंद। जिला पंचायत की सामान्य सभा की बैठक मे प्रथम पंचायत मंत्री और राजिम विधायक अमितेश शुक्ल के प्रतिनिधी नरेंद्र...

खबरे अब तक

Advertisement
Advertisement