पाकिस्‍तानी एयरफोर्स में शामिल हुए JF-17 लड़ाकू विमान, राफेल से होगी सीधी टक्‍कर – Channelindia News
Connect with us

BREAKING

पाकिस्‍तानी एयरफोर्स में शामिल हुए JF-17 लड़ाकू विमान, राफेल से होगी सीधी टक्‍कर

Published

on

इस्‍लामाबाद
पाकिस्‍तान की वायुसेना में बुधवार को 14 JF-17 थंडर ब्‍लॉक-3 फाइटर जेट शामिल किए गए। पाकिस्‍तान ने चीन की मदद से देश में ही इन नए लड़ाकू विमानों का निर्माण किया है। पाकिस्‍तान ने कहा है कि ये विमान लंबी दूरी तक निगरानी रखने में सक्षम अत्‍याधुनिक रेडार सिस्‍टम और हवाई हमला करने की ताकत से लैस हैं। पाकिस्‍तानी एयरफोर्स के चीफ मुजाहिद अनवर खान ने दावा किया कि ये विमान भारतीय वायुसेना के पाकिस्‍तानी एयर स्‍पेस का उल्‍लंघन करने पर जवाबी कार्रवाई करके युद्ध में अपनी क्षमता साबित कर चुके हैं।

इस मौके पर चीन के राजदूत नोंग रोंग ने कहा कि पाकिस्‍तान के पास अब इस विमान को बनाने की क्षमता आ गई है। चीनी राजदूत ने कहा, ‘पाकिस्‍तान ने अब जेएफ-17 थंडर विमान बनाने की क्षमता हासिल कर ली है और अब वह अत्‍याधुनिक फाइटर जेट बनाने वाले दुनिया के देशों में शामिल हो गया है।’ उन्‍होंने कहा कि जेएफ-17 अंतत: पाकिस्‍तारी डिफेंस की रीढ़ बन गए हैं। बता दें कि पाकिस्‍तान ने चीनी विमानों को ऐसे समय पर अपनी एयरफोर्स में शामिल किया है जब भारत ने फ्रांस से आए राफेल विमानों को पाकिस्‍तान और चीन की सीमा से बेहद करीब अंबाला एयरबेस पर तैनात किया है। आइए जानते हैं कि राफेल बनाम जेएफ-17 की जंग में कौन सा फाइटर जेट पड़ेगा भारी….

इसे भी पढ़े   सिनेन फाउंडेशन, मोवा रायपुर में मुफ्त में दी जा रही है काउंसलिंग

पाकिस्‍तानी-चीनी फाइटर जेट JF-17 में जानें कितना दम
पाकिस्तान ने चीन के साथ मिलकर जेएफ-17 थंडर लड़ाकू विमान डेवलप किया है। यह मल्‍टी रोल एयरक्राफ्ट है जो हवा से हवा और हवा से जमीन में मार कर सकता है। चीन ने इसमें कुछ नई चीजें जोड़ी हैं जिसके बाद इसकी क्षमता बढ़ गई है। इसमें PF-15 मिसाइलें यूज होने लगी हैं जिसमें इन्‍फ्रारेड सिस्‍टम भी लगा है। इस मिसाइल की रेंज 300 किलोमीटर है और यह सबसे अडवांस्‍ड मिसाइल्‍स में से एक है। जब PF-15 मिसाइलें इसमें जोड़ी गई थीं तो अमेरिका ने भी विरोध किया था। राफेल में यूज होने वाली मिसाइल्‍स की रेंज इससे कम है। बेहद हल्‍के, सिंगल-इंजन, मल्टी-रोल JF-17 फाइटर को पाकिस्तानी वायु सेना के मद्देनजर डिजाइन किया गया है।

इस विमान को पाकिस्‍तान के पुराने लड़ाकू विमानों जैसे ए-5सी, एफ-7पी / पीजी, मिराज 3 और मिराज-5 की रिप्लेसमेंट के तौर पर शामिल किया गया है। JF-17 विमान को पाकिस्तान एरोनॉटिकल कॉम्प्लेक्स ने चीन के चेंगदू एयरक्राफ्ट कॉरपोरेशन (सीएसी) के सहयोग से बनाया है। वर्तमान में पाकिस्तान के पास 100 से ज्‍यादा JF-17 लड़ाकू विमान हैं। जेएफ-17 विमान की अधिकतम स्पीड 1975 किलोमीटर प्रतिघंटा है, जबकि राफेल जेट्स की अधिकतम स्पीड 2130 किलोमीटर प्रति घंटा है। यही नहीं राफेल जेएफ-17 की तुलना में ज्‍यादा हथियार और ईंधन ले जा सकता है। लंबी दूरी तक हमला करने में भी जेएफ-17 राफेल जेट के आगे कहीं नहीं ठहरता है। राफेल 3700 किमी तक मार कर सकता है, वहीं जेएफ-17 विमान केवल 2037 किमी तक हमला कर सकता है।

इसे भी पढ़े   पत्रकार गोरे लाल सोनी बने बालोद जिलाध्यक्ष, चिल्फीघाटी पत्रकार सम्मेलन में हुई घोषणा

घातक मिसाइलों और बमों से लैस है राफेल फाइटर जेट
राफेल को भारत की जरूरतों के हिसाब से मॉडिफाई किया गया है। राफेल की रेंज 3,700 किलोमीटर है, यह अपने साथ चार मिसाइल ले जा सकता है। राफेल की लंबाई 15.30 मीटर और ऊंचाई 5.30 मीटर है। राफेल का विंगस्‍पैन सिर्फ 10.90 मीटर है जो इसे पहाड़ी इलाकों में उड़ने के लिए आदर्श एयरक्राफ्ट बनाता है। विमान छोटा होने से उसकी मैनुवरिंग में आसानी होती है। भारत में राफेल बियांड विजुअल रेंज मिसाइल्‍स से लैस है। यानी बिना टारगेट प्‍लेन को देखते ही उसे उड़ाया जा सकता है। राफेल में ऐक्टिव रडार सीकर लगा है जिससे किसी भी मौसम में जेट ऑपरेट करने की सुविधा मिलती है। स्कैल्प मिसाइल या स्ट्रॉम शैडो जैसी मिसाइलें किसी भी बंकर को आसानी से तबाह कर सकती है। इसकी रेंज लगभग 560 किमी होती है। राफेल परमाणु हथियार ले जाने में भी सक्षम है।

इसे भी पढ़े   कोरोनावायरस ने बिगाड़े हालात, ज़िन्दगी की सबसे बड़ी मंदी का सामना कर रही है दुनिया!!

राफेल फाइटर जेट की क्षमता
1- राफेल एक ऐसा लड़ाकू विमान है जिसे कम से कम 7 तरह के मिशन पर भेजा जा सकता है।
2- यह एक मिनट में 60 हजार फुट की ऊंचाई तक जा सकता है। इसकी फ्यूल कपैसिटी 17 हजार किलोग्राम है।
3- चूंकि राफेल जेट हर तरह के मौसम में एक साथ कई काम करने में सक्षम है, इसलिए इसे मल्टिरोल फाइटर एयरक्राफ्ट के नाम से भी जाना जाता है।
4- इसमें स्काल्प मिसाइल है जो हवा से जमीन पर 600 किमी तक वार करने में सक्षम है।
5- राफेल की मारक क्षमता 3700 किलोमीटर तक है, जबकि स्काल्प क्रूज मिसाइल की रेंज 300 किलोमीटर है।
6- विमान में फ्यूल क्षमता- 17,000 किलोग्राम है।
7- यह ऐंटी शिप अटैक से लेकर परमाणु अटैक, क्लोज एयर सपॉर्ट और लेजर डायरेक्ट लॉन्ग रेंज मिसाइल अटैक में भी अव्वल है।
8- यह 24,500 किलो तक का वजन ले जाने में सक्षम है और 60 घंटे की अतिरिक्त उड़ान भी भर सकता है।
9- इसकी स्पीड 2,223 किलोमीटर प्रति घंटा है।
10- मिटिऑर मिसाइलों से लैस राफेल विमान 120 किमी की दूरी से एफ-16 को मार गिरा सकता है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

R.O. No. 11359/53

CG Trending News

BREAKING15 hours ago

छतीसगढ़ ब्रकिंग ;रायपुर के 240 निजी स्कूलों की मान्यता रद्द

रायपुर ;जिला शिक्षा नें अधिकारी  जिले के 240 निजी स्कूलों की मान्यता तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दी है| इसके...

channel india15 hours ago

धान से लदा ट्रेक्टर अचानक पलटा

चिरमिरी – ग्राम मेंड्रा में उस समय अफरातफरी का माहौल बन गया जब धान से लदा ट्रेक्टर अचानक पलट गया।...

channel india16 hours ago

वेब सीरीज “तांडव” पर छतीसगढ़ में भी मंचा तांडव, भारतीय जनता युवा मोर्चा ने किया पुतला दहन

रायपुर। वेब सीरीज  पर जब से “तांडव” आई है तब से इस वेब सीरीज नें देश के हर कोनें में...

बेरोजगार किसान रैली महाराष्ट्र से रैली कर रायपुर वापस लौटे शिवसैनिक बेरोजगार किसान रैली महाराष्ट्र से रैली कर रायपुर वापस लौटे शिवसैनिक
channel india17 hours ago

बेरोजगार किसान मोर्चा: महाराष्ट्र से रैली कर रायपुर वापस लौटे शिवसैनिक

रायपुर। छत्तीसगढ़ से शिव सेना के प्रदेश सचिव संजय नाग ने प्रेस को जानकारी देते हुए बताया कि शिवसेना प्रदेश...

channel india17 hours ago

औघड़ आश्रम स्थापना दिवस कार्यक्रम: जरूरतमंदों को बांटा गया कंबल वितरण

जशपुर। जशपुर कलेक्टर महादेव कावरे एवं पुलिस अधीक्षक बालाजी राव पत्थलगांव विकासखंड के शेखरपुर में स्थित औघड़ आश्रम  एवं औघड़...

खबरे अब तक

Advertisement
Advertisement