खबरे अब तक

खबरे छत्तीसगढ़

निस्तारी के लिए सिकासार बांध से पानी छोड़ने रूपसिंग साहू ने जल संसाधन मंत्री को लिखा पत्र



राजिम। गरियाबंद जिला के सामाजिक कार्यकर्ता एवं साहू संघ के युवा प्रकोष्ठ रायपुर संभाग अध्यक्ष रूपसिंग साहू ने जिला के विकासखंड छुरा/फिंगेश्वर के लगभग 30 ग्राम व पंचायतों में भीषण गर्मी के कारण पेयजल संकट तालाब, हैंडपंप बोरिंग, स्थानीय नदी नाला सूख जाने के कारण निस्तारी के लिए पानी की समस्या उत्पन्न हो रही है। जिसे देखते हुए सिकासार बांध से निस्तारी के लिए पानी छोड़ने के लिए जल संसाधन मंत्री रबीन्द्र चैबे, सचिव अविनाश चंपावत से सौजन्य मुलाकात कर लिखित पत्र के माध्यम से अवगत कराया कि विभिन्न ग्राम पंचायत व ग्रामों में पेयजल संकट समस्या हो रही है। श्री साहू ने पेयजल संकट समस्या के बारे में बताया कि आखरी टेल तक में पीने के पानी एवं निस्तारी की विकराल समस्या इन दिनों लगभग सभी ग्रामों में देखने को मिल रहा है। जिसमें वाटर लेवल नीचे होने के कारण सभी ग्रामों के नल जल योजना ठप पड़ा हुआ है। साथ ही गांव के अनेकों हैंड पंप सूखा पड़ा हुआ है। समस्या के बारे में जल संसाधन सचिव ने जल्द ही संबंधित अधिकारी को पत्र लिखकर एवं फोन के माध्यम से सिकासार, तौरेगा व गनियारी बांध से पानी छोड़ने की बात कही। साथ ही नहर नाली में चल रहे माइनिंग काम को जल्द ही पूरा करवा कर निस्तारी पानी के लिए सहमति दी है। ज्ञात हो कि अप्रैल महीने के पहले सप्ताह से ही पानी के लिए हाहाकार मच रहा है। मई-जून माह की भीषण गर्मी को देखते हुए वर्तमान में व्याप्त पानी की गंभीर समस्या बन सकती है। क्योंकि अनेकों तालाब सूखे पड़े हैं, वहीं से किसानों द्वारा आस-पास के गांव में रवि फसल में धान की बुआई की गई है। ऐसे में पांडुका डायवर्सन सिकासेर बांध से पानी मिलने से क्षेत्र की समस्या का समाधान हो सकता है। नहरों में पानी आने से वाटर लेवल की स्थिति सुधर सकती है।

इसे भी पढ़े   कोविड टीकाकरण के लिए नियंत्रण कक्ष की स्थापना, प्रतिदिन सुबह 10 बजे से रात 8 बजे तक काम करेगा कण्ट्रोल रूम