कलेक्टर: रीपा के निर्माण कार्य गंभीरता एवं प्राथमिकता से पूर्ण किए जाएं

कलेक्टर: रीपा के निर्माण कार्य गंभीरता एवं प्राथमिकता से पूर्ण किए जाएं

छत्तीसगढ़ डेस्क 

कोरबा। कलेक्टर कोरबा संजीव झा ने मंगलवार को समय सीमा की बैठक में विभागीय कार्यों की समीक्षा की। बैठक के दौरान उन्होंने निर्देश दिए कि जिले में 10 रीपा के निर्माण कार्य 31 मार्च के पहले हर हाल में पूर्ण कर लिए जाएं। आगामी 31 मार्च को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के द्वारा जिले के सभी रीपा का उद्घाटन किया जाना है। रीपा के निर्माण कार्य गंभीरता एवं प्राथमिकता से पूर्ण किए जाएं। निश्चित समय पर कार्य पूर्ण न होने या इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही बरतने पर संबंधितों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाएगी। बैठक में अपर कलेक्टर प्रदीप साहू, जिला पंचायत के सीईओ नूतन कंवर, एसडीएम कोरबा सीमा पात्रे, एसडीएम पाली शिव बनर्जी, एसडीएम पोड़ी-उपरोड़ा हरिशंकर पैंकरा, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग माया वाॅरियर सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे। कलेक्टर ने कार्यपालन अभियंता ग्रामीण यांत्रिकी सेवा एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी सर्व जनपद पंचायत को निर्देश दिए कि प्रत्येक रीपा के कार्य पूर्ण करने के लिए नोडल अधिकारी बनाकर, निर्माण कार्यों की हर दिन माॅनिटरिंग की जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि हाल ही में जिले में मुख्यमंत्री जी के भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के दौरान की गई घोषणाओं के अनुसार कार्य प्राथमिकता से पूर्ण किए जाएं। उन्होंने जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि कक्षा छठवीं से बारहवीं तक अध्ययनरत स्कूली विद्यार्थियों के जाति प्रमाण पत्र सहायक विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी के माध्यम से तेज गति से पूर्ण करायें। इसके लिए प्रतिदिन माॅनिटरिंग की जाए।

कलेक्टर झा ने अनुविभागीय अधिकारी एवं तहसीलदारों को निर्देश दिए कि दस्तावेज विहीन पात्र लोगों के जाति प्रमाण पत्र हेतु ग्राम सभा के प्रस्ताव एवं सत्यापन उपरांत स्वीकृति देकर जाति प्रमाण पत्र बनाने में गति लायें। झा ने पात्र हितग्राहियों के वन अधिकार पट्टा, जाति प्रमाण पत्र, फौती नामांतरण आदि राजस्व प्रकरणों का निराकरण करने के निर्देश दिए। उन्होंने यह भी निर्देश कि जिले के सभी ग्राम पंचायतों में गौठान बनाये जाने हैं, इसलिए शेष ग्राम पंचायतों में उपलब्ध राजस्व भूमि/वनभूमि के प्रस्ताव शीघ्र भेजें। उन्होंने कार्यपालन अभियंता सीएसईबी को निर्देशित किया कि सभी रीपा गौठानों में शीघ्र विद्युत व्यवस्था की जाए ताकि सिंचाई कार्य, औद्योगिक लघु इकाईयों के लिए पर्याप्त पानी की व्यवस्था हो सके। साथ ही इस कार्य के लिए तकनीकी टीम के द्वारा जमीनी स्तर पर सर्वे कराया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि जनपद पंचायत कोरबा एवं करतला क्षेत्र के ग्रामों में विद्युत विभाग के द्वारा लगातार शिविर लगाकर बिजली संबंधी समस्याओं एवं शिकायतों का निराकरण किया जाए। उन्होंने एपीओ मनरेगा तथा सीईओ जनपद पंचायत सभी को निर्देशित किया कि मनरेगा के तहत जिले में बनाये जा रहे 75 अमृत सरोवर के गुणवत्ता पूर्ण निर्माण कार्य किए जाएं। मनरेगा के तहत लंबित मजदूरी भुगतान को शीघ्र पूर्ण किया जाए। सभी गौठानों में पैरादान एवं पैरा संग्रहण बढ़ाने के निर्देश दिए।