नाबालिग को भगाकर की शादी और बनाया शारीरिक संबंध, 6 माह का शिशु….पढ़िए क्या है पूरा मामला – Channelindia News
Connect with us

देश-विदेश

नाबालिग को भगाकर की शादी और बनाया शारीरिक संबंध, 6 माह का शिशु….पढ़िए क्या है पूरा मामला

Published

on


बिहारशरीफ में किशोर न्याय परिषद के प्रधान दंडाधिकारी मानवेंद्र मिश्रा ने सोमवार को ऐतिहासिक फैसला सुनाया है। नाबालिग लड़की को भगा कर शादी करने और शारीरिक संबंध बनाने के आरोपी किशोर के खिलाफ पर्याप्त साक्ष्य थे। बावजूद इसके कोर्ट ने किशोर को दोष मुक्त करते हुए नाबालिग पति-पत्नी को साथ रहने का फैसला सुनाया। ताकि उनके छह माह के नवजात शिशु का पालन पोषण प्रभावित ना हो मानवेंद्र मिश्रा ने कहा कि सजा देने से तीन नाबालिग जिंदगी प्रभावित होंगी।।

क्या था मामला

हिलसा थाना इलाके के एक गांव की है। जहां सरस्वती पूजा में शामिल होने गई किशोरी अपने प्रेमी के साथ फरार हो गयी थी। इसके बाद किशोरी के पिता ने 11 फरवरी 2019 को गांव के ही एक किशोर पर अपहरण का मामला हिलसा थाने में दर्ज कराया था। इधर गांव से भागकर दोनों दिल्ली चल गए थे। जहां आरोपी ने नाबालिग लड़की के साथ शादी कर ली। दोनों का एक 6 माह का बच्चा हो गया। तबतक किशोर अपनी मौसी के यहां रह रहा था। इसी बीच उसे पता चला कि किशोरी के पिता ने थाने में मामला दर्ज कराया है। इसके बाद वह गांव लौट आया। गांव लौटने की सूचना मिलते ही पुलिस आरोपी किशोर को न्यायालय के सुपुर्द किया, जहां से उसे सेफ्टी होम शेखपुरा भेज दिया गया।

ट्रायल के 3 दिन के भीतर फैसला सुनाया:

अधिवक्ता धर्मेंद्र कुमार किशोर अभी वह सेफ्टी होम में ही रह रहा है। पास्को कोर्ट से यह मामला 19 मार्च 2021 को किशोर न्याय परिषद पहुंचा। जहां तीन जिंदगियों को देखते हुए महज 3 दिन में ही जज मानवेंद्र मिश्र ने ऐतिहासिक फैसला सुनाया। जबकि लड़की को भगाकर ले जाने और शारीरिक संबंध बनाने के आरोप में किशोर को सजा हो सकती थी। किशोर न्याय परिषद के सदस्य अधिवक्ता धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि किशोर और लड़की दोनों नाबालिग हैं। उनके एक बच्चा है। कोर्ट में मामला आने पर दोनों परिवार एक दूसरे को अपनाने पर तैयार हो गए। उन्होंने कहा कि स्पीडी ट्रायल का यह सबसे कम दिन में सुनाया गया फैसला है। अब तक भारत के किसी भी न्यायालय में ट्रायल के 3 दिन के भीतर फैसला नहीं सुनाया गया है। सुना चुके हैं कई ऐतिहासिक फैसला जज मानवेंद्र मिश्र अब तक कई ऐतिहासिक फैसले सुना चुके हैं। इसके पहले उन्होंने 26 फरवरी 21 को नूरसराय थाना इलाके के एक गांव का इसी तरह का फैसला सुनाया था। जबकि दारोगा और पुलिस में नौकरी लगने वाले आरोपी किशोर को आरोप से बरी कर दिया था।

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

balod district4 mins ago

भारतीय युंका द्वारा 5 अगस्त को दिल्ली संसद घेराव में बालोद जिला युवा कांग्रेस के सभी कार्यकर्ता होंगे शामिल…पढ़े पूरी खबर…

दल्लीराजहरा(चैनल इंडिया)| बालोद जिला युवा कांग्रेस के प्रभारी महासचिव परितोष हंसपाल  से प्राप्त जानकारी अनुसार, भारतीय राष्ट्रीय युवा कांग्रेस अध्यक्ष...

channel india12 mins ago

छत्तीसगढ़ : धारदार हथियार से युवक की हत्या, सड़क किनारे दलदल में फंसा हुआ मिला शव, जांच में जुटी पुलिस…

बिलासपुर(चैनल इंडिया)। मोपका इलाके के आवासपारा में अज्ञात आरोपियों ने धारदार हथियार से एक युवक की हत्या कर दी. मृतक...

BREAKING31 mins ago

PF खाताधारकों को मिलेगा 1 लाख रुपये का फायदा, जानिए कैसे निकाल सकते हैं आप?

पीएफ खाताधारकों के लिए बड़ी खुशखबरी है. अब अगर आपको पैसों की जरूरत है तो EPFO आपको एक लाख रुपये ...

channel india39 mins ago

‘चवन्नी’ जैसा दिखने वाला यह सिक्का बिक सकता है 2 करोड़ में, हजारों साल पहले बने Golden Coin पर बनी है इस राजा की मुहर…

ब्रिटेन में खजाने की तलाश करने वाले एक शख्स के हाथ पिछले साल एक प्राचीन और बेहद कीमती सिक्का लगा...

channel india1 hour ago

आम आदमी पर बढ़ा बोझ : अब बिजली इस्तेमाल की हो या नहीं, मगर हर महीने देने होंगे इतने रुपए

राजस्थान में अब बिजली उपभोक्ताओं पर बोझ बढ़ने जा रहा है. अब अघरेलू और इंडस्ट्रियल उपभोक्ताओं की तरह घरेलू उपभोक्ताओं...

Advertisement
Advertisement