खबरे अब तक

खबरे छत्तीसगढ़

नक्सली हमले में घायल जवान का बड़ा खुलासा, टेकलगुड़ा गांव के घरों में छिपे थे नक्सली



पहले दागे राकेट लांचर फिर बमों की बौछार

बीजापुर। नक्सली हमले में घायल एक जवान ने बड़ा खुलासा किया है, जवान ने बताया कि टेकलगुड़ा गांव के घरों में आधुनिक हथियार के साथ बड़ी संख्या में नक्सली छिपे थे, टेकरी से उतरते ही नक्सलियों के एंबुस में जवान फंस गए थे। नक्सलियों ने जवानों पर पहले तो राकेट लांचर दागे फिर ग्राउंड जीरो में घायल जवानों के उपचार के दौरान बमों की बौछार कर दी।

इसे भी पढ़े   कोरोना संक्रमण को लेकर फेक न्यूज़ पर होगी क़ानूनी कार्यवाही!!

घायल जवान ने बताया कि यह मुठभेड़ लगभग 5 घंटे तक चली। जवान ने बताया कि पहली बार नक्सलियों को आमने सामने की लड़ाई लड़ते देखा है। ज्यादातर हमले में नक्सली छिपकर वार करते हैं।

बता दें कि बीजापुर के तर्रेम में हुए नक्सल हमले में 22 जवानों की शहादत हुई थी, नक्सलियों ने एंबुस लगाकर जवानों को अपना शिकार बनाया था, इस मामले में अभी भी एक जवान लापता है, नक्सलियों ने प्रेस नोट जारी कर जवान को नक्सलियों के कब्जे में होने की बात कही है

इसे भी पढ़े   छत्तीसगढ़ में पहली बार आयोजित हो रहा हैं वर्चुअल मैराथन, करना होगा दौड़ते हुए फोटो या वीडियो को अपलोड… अब तक 57 हजार प्रतिभागियों ने कराया पंजीयन

नक्सली हमले को लेकर नक्सलियों ने प्रेस नोट जारी किया है, जिसमें उन्होंने हमले में 4 नक्सलियों के मारे जाने की पुष्टि की है, साथ ही शहीद जवानों के परिवारों के प्रति नक्सलियों ने खेद प्रकट किया है। नक्सलियों ने हमले में 14 हथियार, 2000 से ज्यादा कारतूस जब्त किया है, यह प्रेस नोट दण्डकारण्य स्पेशल जोनल कमेटी के प्रवक्ता विकल्प ने जारी किया है।

इसे भी पढ़े   नगरीय प्रशासन सचिव श्रीमती अलरमेलमंगई डी. ने किया रायपुर के विभिन्न क्षेत्रों का निरीक्षण, कोरोना व जल जनित बीमारियों से बचाव के लिए की जा रही कार्यवाही की ली जानकारी

वहीं नक्सलियों के प्रवक्ता विकल्प ने नक्सलियों के पास कैद जवान को छोड़ने के संबंध में भी बयान जारी किया है, प्रवक्ता विकल्प ने कहा है कि सरकार मध्यस्थों का ऐलान करें हम जवान को सौंप देंगे।