दारा शिकोह की कब्र तलाशने के पीछे सरकार का क्या है मकसद? – Channelindia News
Connect with us

BREAKING

दारा शिकोह की कब्र तलाशने के पीछे सरकार का क्या है मकसद?

Published

on

मंजरी चतुर्वेदी/नई दिल्ली
की तलाश हो रही है। यह तलाश कोई और नहीं बल्कि भारत सरकार करा रही है। दिल्ली स्थित हुमायूं के मकबरा में दारा शिकोह दफन तो हैं लेकिन उनकी कब्र कौन सी है यह पता नहीं। इस मकबरे में जो कब्र हैं, उसमें हुमायूं को छोड़कर किसी अन्य पर कोई शिलालेख नहीं है। भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय ने पिछले साल पुरातत्व और इतिहासवेत्ताओं की एक सात सदस्यीय कमिटी बनाई थी, जिसके जिम्मे दारा शिकोह की कब्र की पहचान करने का काम सौंपा गया था।

कोरोना की वजह से वह अपने काम की शुरुआत ही नहीं कर पाई, लेकिन अब यह कमिटी 11 जनवरी को हुमायूं के मकबरे में पहुंच रही है। एएसआई के निदेशक टीजे अलोने की अध्यक्षता में बनी इस कमिटी में जाने-माने पुरातत्ववेत्ता आरएस बिष्ट, सैयद जमाल हसन, केएन दीक्षित, बीआर मणि, केके मुहम्मद, सतीश चंद्रा और बीएम पांडे शामिल हैं। दारा शिकोह शाहजहां के बड़े पुत्र थे, इस नाते वह उनके बाद राजगद्दी के स्वाभाविक दावेदार भी थे लेकिन उनके छोटे भाई औरंगजेब ने उनका सिर कलम करवा कर भारत के सिंघासन पर अपना अधिकार जमाया था।

इसे भी पढ़े   रूस ने चीन को दिया बड़ा झटका: एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम की डिलीवरी रोकी!!

कब्र खोजने की एक कोशिश पहले भी हुई
भले ही इस बार दारा शिकोह की कब्र खोजने में सरकार की कमिटी जुटी हो लेकिन इससे पहले एक कोशिश दिल्ली म्युनिसिपल कॉरपोरेशन के इंजिनियर संजीव कुमार कर चुके हैं। तमाम एतिहासिक दस्तावेजों के आधार पर उन्होंने एक रिपोर्ट तैयार भी की है जोकि अब उन्होंने सरकारी कमिटी को सौंप दी है। परिसर मुगलिया खानदान की शाही कब्रगाह हुआ करता था।

दाराशिकोह की कब्र ढूंढना मुश्किल काम
120 कक्षों में 140 कब्रों वाले इस परिसर से दारा की कब्र ढूंढ निकालना अपने आप में मुश्किल काम है। शाहजहांनामा में उल्लेख मिलता है कि औरंगजेब ने दारा शिकोह को शिकस्त देकर उसे बंदी बना लिया था। बाद में उसे बेड़ियों में कैद कर दिल्ली लाया गया था। जहां बड़ी क्रूरता से उसका सिर कलम कर औरंगजेब ने उसे तोहफे के तौर पर अपने पिता के पास आगरा भेज दिया, जबकि बाकी शरीर को हुमायूं का मकबरा परिसर में दफना दिया गया। कहा जाता है कि औरंगजेब ने दारा का अंतिम संस्कार तक ढंग से नहीं करवाया।

इसे भी पढ़े   Syed Mushtaq Ali Trophy 2021: बंगाल ने ओडिशा और तमिलनाडु ने झारखंड को हराया, कप्तान दिनेश कार्तिक ने खेली तूफानी पारी

क्या हो सकता है सियासी मकसद
कब्र खोज रही सरकारी कमिटी के सदस्य केके मुहम्मद का कहना है कि मुगल परपंरा में अकबर के बाद दारा शिकोह ही ऐसा व्यक्तित्व है, जो सही मायनों में न सिर्फ धर्म निरपेक्ष है, बल्कि सभी धर्मों का आदर करता है। इसके अलावा, दारा शिकोह ने भारतीय दर्शन और हिंदुत्व को पश्चिमी दुनिया के सामने रखने का काम किया। उसने अपने समय में पश्चिमी दुनिया से आए विद्धान यात्रियों की मदद से हिंदुत्व और इस्लाम को दुनिया के सामने रखने का काम किया।’ उधर, अगर सियासी नजरिये से देखा जाए तो संघ और बीजेपी को लगता है कि दारा शिकोह जैसे चेहरे भारतीय संस्कृति की उसी सोच को आगे बढ़ाते थे, जिसमें पर संघ और बीजेपी यकीन रखती है। बीजेपी सरकार साल 2017 में दिल्ली के डलहौजी मार्ग का नाम बदलकर दारा शिकोह मार्ग कर चुकी है।

इसे भी पढ़े   कार में छिपाए 35 पिस्तौल और 60 कारतूस के साथ तस्कर अरेस्ट, कहानी एकदम फिल्मी है

संघ ने किया था संगोष्ठी का आयोजन
सितंबर 2019 में संघ ने दारा की आध्यात्मिक विरासत को सामने लाने के लिए एक राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन भी किया। माना जाता है कि दारा जैसे किरदारों के योगदान को रेखांकित कर बीजेपी और संघ कहीं न कहीं अपनी मुस्लिम विरोधी छवि को भी कम करना चाहते हैं। कब्र की अगर पहचान हो जाती है तो इस तरह के संकेत है कि उसे सरकार के स्तर से खास तवज्जो दी जाएगी ताकि ताकि लोग उनकी विचारों से अवगत हो सकें।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

R.O. No. 11359/53

CG Trending News

BREAKING3 hours ago

बड़ी खबर: नक्सलियों द्वारा लगाए गए बम पर सूअर का पैर पड़ने से हुआ ब्लास्ट, बाल-बाल बचे जवान

बीजापुर। सुरक्षाबलों द्वारा नक्सलियों के विरुद्ध कार्यवाही जारी है,लेकिन बार-बार नक्सली अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे हैं। ताजा मामला बीजापुर...

channel india4 hours ago

केंद्र एवं छत्तीसगढ़ सरकार की किसान व बेरोजगार विरोधी नीतियों से जनता त्रस्त : शिवसेना

अंतागढ। शिवसेना नेता प्रवीण पांडे, रामनारायण उसेंडी, राजेंद्र यादव, राजकुमार कुमरा, जितेंद्र पांडे ने बताया है कि देश एवं प्रदेश...

mahadev kavre mahadev kavre
channel india4 hours ago

कलेक्टर महादेव कावरे के मार्गदर्शन में कल के तीन केन्द्रों में लगभग 300 लोगों को लगाया जाएगा कोरोना वेक्सीन

जशपुर। प्रथम चरण में चिकित्सा विभाग के अधिकारी, कर्मचारी, आंगनबाड़ी कार्यकत्ता,सहायिका और मितानिनों को टीका लगाया जाना है । मुख्य...

channel india5 hours ago

पर्यटन स्थल भोरमदेव एवं मंदिर मे व्याप्त अव्यवस्था को लेकर आरोप-प्रत्यारोप जारी

कवर्धा। भोरमदेव प्रबंध कमेटी के सह-सचिव एवं सामाजिक कार्यकर्ता बृजलाल अग्रवाल ने भोरमदेव पर्यटन स्थल एवं मंदिर मे व्याप्त अव्यवस्था...

channel india5 hours ago

निषाद समाज द्वारा मनाया गया गुहा जंयती, मुख्य अतिथि के रुप मेंशामिल हुए कृषक नेता योगेश तिवारी

  बेमेतरा। बेमेतरा विधानसभा बेरला ब्लाक के ग्राम गबदा में निषाद समाज द्वारा गुहा जंयती मनाया गया मुख्य अतिथि के...

खबरे अब तक

Advertisement
Advertisement