खबरे अब तक

खबरे छत्तीसगढ़

चैंबर का महासंग्राम कल , पांच जिलों के 9048 व्यापारी करेंगे मतदान



रायपुर. छत्तीसगढ़ चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज के प्रतिष्ठापूर्ण चुनाव में चैंबर का ताज किसके सिर सजेगा, किसकी इस बार मात होगी, कौन कितने मतों से बाजी जीत कर व्यापार जगत में डंका बजाएगा, इन सब बातों का दारोमदार 20 मार्च को राजधानी रायपुर में चैंबर के महासंग्राम में देखने को मिलेगा। गुजराती स्कूल देवेन्द्र नगर में 50 से अधिक सीसीटीवी कैमराें की निगरानी और 20 सुरक्षा गार्डाें व पुलिस जवानों की तगड़ी सुरक्षा के बीच मतदान होगा। सुबह 10 से शाम 5 बजे तक होने वाले मतदान में 9048 मतदाता अपनी पसंद के प्रतिनिधि चुनने मतदान करेंगे। रायपुर जिला का किला फतह करने दोनों ही पैनल के सामने कड़ी चुनौती है। यहां 55 फीसदी वोटर चैंबर की बागडोर संभालने वाले सशक्त प्रत्याशी को चुनने उत्साहित हैं। रायपुर के बूथ में ना केवल रायपुर, बल्कि भाटापारा, बलौदाबाजार, महासमुंद, गरियाबंद क्षेत्र के वोटर वोटिंग के लिए पहुंचेंगे। सूत्रों के मुताबिक जिस पैनल को रायपुर जिले में बढ़त मिलेगी, उसका चैंबर पर कब्जा होना तय है। यही कारण है कि दोनों पैनल ने अब रायपुर जिले में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है।

ना जातिवाद, ना परिवार वाद, चलेगा केवल व्यापारी वाद जय व्यापार पैनल के मुख्य चुनाव संचालक नरेंद्र दुग्गड़, सह संचालक जितेंद्र दोषी, विक्रम सिंह देव एवं परमानंद जैन का कहना है, छत्तीसगढ़ चैंबर आफ कामर्स 2021 के चार चरणों में मतदान होने के बाद जो तस्वीर साफ होकर सामने आई है, उसमें सभी जिलों से अच्छा मतदान होने से चुनाव रोमांचक हो चला है। इसमें ना जातिवाद, ना परिवारवाद, बल्कि केवल व्यापारी वाद का असर देखने को मिल रहा है। वोटर परिवर्तन की लहर देखना चाहते हैं। इसीलिए रायपुर में भी इस बार रिकार्ड मतदान की उम्मीद है। बड़ी लीड से जीतने का किया दावा चैंबर चुनाव को लेकर व्यापारी एकता पैनल के अध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी ने दावा किया है, 20 मार्च से पूर्व पहले पांच चरण के मतदान में जो दृश्य परिलक्षित हो रहा है, उसमें पैनल को 1300 की लीड हो चुकी है। 21 को जब मतगणना होगी, तब उनका पैनल बड़ी लीड के साथ जीत सुनिश्चित कर सकता है। पत्रकारों से चर्चा करते हुए पैनल से प्रदेश अध्यक्ष पद के प्रत्याशी योगेश अग्रवाल ने अपना घोषणापत्र जारी करते हुए कहा, हमारी प्राथमिकता में छोटे व मंझोले कारोबारी हैं, जो विदेशी कंपनियों की तुलना में बाजार में टिक नहीं पा रहे। उनका पैनल यदि चैंबर चुनाव में जीतकर आता है, तो मल्टीनेशनल कंपनियों से छोटे व मंझोले व्यापारियों को डिस्काउंट दिलवाएंगे। चैंबर का अपना ऑनलाइन पोर्टल तैयार होगा। इसमें प्रदेशभर के व्यापारियों को पंजीकृत किया जाएगा। श्री अग्रवाल ने कहा, साल में 2 बार प्रदेश का दौरा कर व्यापारियों की समस्या का समाधान करना उनकी प्राथमिकता में शामिल है। जिला मुख्यालय में थोक बाजार बनाने का भी प्रस्ताव है। कमलविहार में नया थोक बाजार बनाया जाएगा। इसमें 1250 दुकानें रहेंगी। इसके साथ जीएसटी के सरलीकरण, व्यापार कल्याण बोर्ड छत्तीसगढ़ में बनाने हरसंभव प्रयास किया जाएगा। पत्रकारवार्ता में पैनल के महामंत्री पद के प्रत्याशी राजेश वासवानी, कोषाध्यक्ष प्रत्याशी निकेश बरड़िया, विनय बजाज, त्रिलोक बरड़िया, गुरजीत सिंह संधु उपस्थित रहे।