खबरे अब तक

देश-विदेश

चाणक्य नीति के अनुसार ज्यादातर महिलाओं में होती हैं ये 5 बुराइयां



आचार्य चाणक्य ने नीति शास्त्र में स्त्री व पुरुष के स्वभाव का वर्णन किया है। आचार्य चाणक्य ने अपने ग्रंथ में स्त्री व पुरुष में होने वाली बुराइयां भी बताई हैं। चाणक्य कहते हैं कि कुछ बातें ऐसी होती हैं जो ज्यादातर महिलाओं के स्वभाव में हती हैं। महिलाओं के स्वभाव को लेकर एक कहावत आज भी प्रचलित है कि खुद भगवान भी आज तक ये नहीं जान पाए कि किसी स्त्री के मन में क्या चल रहा है। जानिए स्त्री के स्वभाव से जुड़ी किन बातों को आचार्य चाणक्य ने अपने ग्रंथ में बताया है।

इसे भी पढ़े   РM Kisаn Sаmmаn Nidhi: आज 12 बजे आपके बैंक अकाउंट में जमा होंगे 2000 रुपये, अपना खाता जरूर करें चेक

अनृतं साहसं माया मूर्खत्वमतिलोभिता।
अशौचत्वं निर्दयत्वं स्त्रीणां दोषा: स्वभावजा:।।

इस श्लोक के जरिए आचार्य चाणक्य ने महिलाओं के बारे में 5 बुराइयों का वर्णन किया है। पढ़ें आज की चाणक्य नीति-

इसे भी पढ़े   एक अप्रैल से अनेक नियमों में बदलाव होंगे, जानिए

चाणक्य कहते हैं कि बहुत सारी महिलाएं बात-बात पर नखरे करती हैं। चाणक्य ने नीति शास्त्र में कहा है कि यह स्त्रियों के स्वभाव में होता है कि वो बिना सोचे-समझे अचानक ही कुछ भी काम कर बैठती हैं। ऐसा करना उनके लिए आम बात होती है। चाणक्य कहते हैं कि ज्यादातर महिलाएं बात-बात पर झूठ बोलती हैं। जिसके कारण वह मुश्किलों में फंस जाती हैं।

इसे भी पढ़े   बड़ी खबर: BJP के शहर जिला उपाध्यक्ष व पूर्व पार्षद का निधन, कोरोना से थे संक्रमित....

नीति शास्त्र में महिलाओं के स्वभाव के बारे में आचार्य चाणक्य आगे लिखते हैं कुछ स्त्रियां आत्मविश्वास के कारण मूखर्तापूर्ण कार्य कर देती हैं। जिसके कारण वह मुश्किल में फंस जाती हैं। चाणक्य कहते हैं कि आमतौर पर देखा गया है कि स्त्रियों को गहने व धन अति प्रिय होते हैं।