चाणक्य नीति: इन 4 तरह की स्त्रियों से विवाह करने से पहले दस बार सोचें, वरना जीवन हो सकता है बर्बाद – Channelindia News
Connect with us

देश-विदेश

चाणक्य नीति: इन 4 तरह की स्त्रियों से विवाह करने से पहले दस बार सोचें, वरना जीवन हो सकता है बर्बाद

Published

on



आचार्य चाणक्य एक महान कूटनीतिज्ञ, राजनीतिज्ञ व महान शिक्षाविद थे। आचार्य चाणक्य ने नीति शास्त्र में जीवन से जुड़े कई पहलुओं पर प्रकाश डाला है। चाणक्य ने धर्म, न्याय, दोस्ती, दुश्मनी, विवाह, धन और तरक्की आदि से जुड़ी कई नीतियों का वर्णन किया है। आचार्य चाणक्य ने एक श्लोक के जरिए महिलाओं के स्वभाव के बारे में बताया है। चाणक्य बताते हैं कि व्यक्ति को विवाह करने से पहले किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। चाणक्य के अनुसार, किन तीन तरह की औरतों से विवाह नहीं करना चाहिए

1. सुंदरता ही सब कुछ नहीं- चाणक्य कहते हैं कि स्त्रियों की सुंदरता ही सब कुछ नहीं होती है। अगर कोई पुरुष सुंदरता के आधार पर विवाह करता है, तो सकता है कि बाद में उसे पछताना पड़े। चाणक्य कहते हैं कि हो सकता है कि स्त्री की सुंदर काया के साथ ही उसका मन काला हो। ऐसे में व्यक्ति को आने वाले समय में मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

2. संस्कार धर्म- चाणक्य के अनुसार, अच्छे संस्कार वाली स्त्री घर को स्वर्ग बना देती है। लेकिन बुरे संस्कार वाली स्त्री परिवार में तनाव पैदा करती है। जिसके कारण आपसी कलह हो सकती है। चाणक्य कहते हैं कि जिस स्त्री में संस्कारों की कमी हो, ऐसी स्त्री से विवाह करने से बचना चाहिए।

इसे भी पढ़े   मुस्लिम लड़की बालिग न हो तो भी उसका निकाह वैध: हाईकोर्ट

3. नकारात्मक विचार- चाणक्य कहते हैं कि रिश्तों का मोल सर्वोत्तम होता है। रिश्ते में बैलेंस बनाकर रखने के लिए पति-पत्नी को तालमेल बनाना जरूरी होता है। नीति शास्त्र के अनुसार, जो स्त्रियां बात-बात पर झगड़ाकर रिश्ता खत्म करने की बात कहती है। ऐसी स्त्री परिवार में नकारात्मकता लाती हैं और दुख पहुंचाती हैं।

इसे भी पढ़े   Big Offer: सस्ते में हवाई सफर करने का सुनहरा मौका, करें मात्र 899 में हवाई यात्रा साथ ही पाएँ 1,000 रुपये तक के वाउचर

4. लोभी- चाणक्य के अनुसार, धन को प्राप्त करने की लालसा रखने वाली महिलाओं से बचना चाहिए। चाणक्य कहते हैं कि जिन महिलाओं का स्वभाव लोभी होता है, वह अच्छे-बुरे का अंतर नहीं करती है। इस स्वभाव की महिलाएं खुले हाथ से पैसे खर्च करती हैं। चाणक्य कहते हैं कि पैसों को हमेशा सोच-समझकर ही खर्च करना चाहिए।

इसे भी पढ़े   शहीदों के सलाम दिवस पर शहर कांग्रेस की मौन श्रद्धांजलि - गिरीश दुबे

 “वरयेत् कुलजां प्राज्ञो विरूपामपि कन्यकाम्।
रूपशीलां न नीचस्य विवाह: सदृशे कुले।।”

इस श्लोक में आचार्य चाणक्य ने बताया है कि विवाह के लिए किस तरह की स्त्री को चुनना चाहिए और किस तरह की स्त्री से दूर रहना चाहिए। चाणक्य का मानना है कि विवाह के लिए हमेशा संस्कारी और समझदार स्त्री का ही चुनाव करना चाहिए।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

channel india8 hours ago

पुलिस चौकी के सामने खड़ी एंबुलेंस अचानक लगी हिलने, पास जा कर देखा तो उड़ गए लोगों के होश…

एक तरफ कोरोना से हाहाकार मचा है। शहरों से लेकर गांवों तक देश का शायद ही कोई ऐसा कोना हो...

CHANNEL INDIA NEWS9 hours ago

प्रदेश के इस जिले में करना है प्रवेश तो देना होगा स्टेमिना टेस्ट, जानिए क्या करना पड़ेगा?

मध्य प्रदेश के निवाड़ी जिला सीमा पर प्रवेश पर सख्ती दिखाने के लिए पुलिस अधीक्षक निवाड़ी आलोक कुमार सिंह ने...

channel india10 hours ago

10 साल की बच्ची को ब्लैक फंगस ने जकड़ा, इलाज जारी…

रायपुर(चैनल इंडिया)। कोरोना संक्रमण के बाद अब ब्लैक फंगस का खतरा बढ़ गया है. छत्तीसगढ़ में इसके चौकाने वाले मामले...

BREAKING11 hours ago

ब्रेकिंग न्यूज़: कोविड -19 के बढ़ते संक्रमण के रोकथाम और नियंत्रण के लिए संपूर्ण कबीरधाम जिले में आगामी 31 मई सुबह 6 बजे तक कन्टेन्टमेंट क्षेत्र की समय सीमा बढ़ाई

कवर्धा(चैनल इंडिया)|  कलेक्टर एवं जिला  दंडाधिकारी रमेश कुमार शर्मा ने आज इस आदेश के आदेश एवं विस्तृत दिशा- निर्देश जारी...

BREAKING11 hours ago

बुजुर्ग ने किया कुत्ते का रेप, पुलिस ने दर्ज किया केस…

महाराष्ट्र के नालासोपारा जिले से चौंकाने वाला मामला सामने आया है. यहां एक शख्स ने इंसानियत को शर्मशार कर कुत्ते...

Advertisement
Advertisement