दोस्त की चाकू गोद कर हत्या, वजह जान कर हो जायँगे हैरान...

दोस्त की चाकू गोद कर हत्या, वजह जान कर हो जायँगे हैरान...

छत्तीसगढ़ डेस्क  

गरियाबंद। मामला देवभोग थाना क्षेत्र की है। 6 जनवरी की रात से उरमाल का बाइक मैकेनिक वाहिद अली अपनी दुकान को छोड़कर लापता हो गया था। उसका छोटा भाई शामिद अली जब दुकान पहुंचा, तो उसने देखा कि दुकान खुली हुई है और सारा सामान बिखरा हुआ पड़ा है। पहले तो उसे लगा कि भाई यहीं आसपास कहीं होगा, लेकिन जब वो वापस नहीं लौटा, तो उसने परिजनों को जानकारी दी। परिजनों ने आसपास के लोगों से पूछताछ की, लेकिन कुछ पता नहीं चला।

7 जनवरी को देवभोग थाने में परिजनों ने अपहरण का मामला दर्ज कराया। वाहिद का उसके दोस्तों के साथ पैसे को लेकर झगड़ा हुआ था, इसलिए परिजनों को उसके दोस्तों पर कुछ गलत कर देने की आशंका थी। SDOP अनुज गुप्ता ने संदिग्ध दोस्तों को हिरासत में ले लिया। शुरुआती पूछताछ में उन्होंने पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की। हालांकि 9 जनवरी की सुबह एक बार फिर पुलिस ने संदिग्धों को हिरासत में लिया और कड़ाई से पूछताछ की, तो आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया। उन्होंने बताया कि हत्या कर उन्होंने वाहिद की लाश को दफना दिया था। उनकी निशानदेही पर कार्यपालक मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में कब्र खोदकर खून से लथपथ लाश निकलवाई गई।

पूछताछ में आरोपियों ने हत्या की जो वजह बताई, वो बेहद चौंकाने वाली है। उन्होंने बताया कि 6 जनवरी को जयप्रकाश और भोज अपनी बाइक बनाने वाहिद के पास आए थे। बाइक बनाने का खर्च 200 रुपए आया। जब वाहिद ने अपने पैसे मांगे, तो दोस्तों को ये नागवार गुजरा। उन्होंने अपनी दोस्ती का हवाला देते हुए पैसे नहीं देने की बात कही, जिस पर वाहिद और दोस्तों का आपस में विवाद हो गया। वाहिद ने पैसे नहीं देने पर जयप्रकाश और भोज को गालियां दे दीं, जिससे वे आक्रोशित हो गए।

उस वक्त तो दोनों दोस्त वहां से चले गए, लेकिन रात में अपने 5 अन्य दोस्तों के साथ वाहिद की दुकान पर पहुंचे। उन्होंने उसके साथ जमकर मारपीट की और उसे 3 किलोमीटर दूर सरगीगुडा के खंडहर पड़े स्कूल में ले गए। वहां चाकुओं से गोदकर उसकी हत्या कर दी और लाश को दफन कर दिया। मृतक और आरोपियों को नशे की भी लत थी। वे अक्सर साथ में नशा करते थे।

देवभोग थाना प्रभारी बोधन लाल साहू ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ धारा 302, 365, 364, 201, 147, 148, 149 के तहत केस दर्ज किया गया है। आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया। एक आरोपी फरार है, जिसकी तलाश की जा रही है।