खबरे अब तक

देश-विदेश

गृहक्लेश से छुटकारा दिलाते हैं ये छोटे-छोटे उपाय



दुनिया में परिवार से बढ़कर कोई सुख नहीं है परन्तु आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में गृह क्लेश एक गंभीर मुद्दा बना हुआ है, जिसके कारण परिवार के सुख से ज्यादातर लोग वंचित हो रहे है। इसका एक मुख्य कारण यह भी है कि अगर घर में नकारात्मकता बहुत अधिक बढ़ जाए तो गृह क्लेश आम बात हो जाती है। कुछ घर ऐसे होते हैं जहां लड़ाई झगड़ा रोज की बात होती हैं।

ऐसे घरों में ना तो सुख-शान्ति का वास होता है और ना ही लक्ष्मी जी वहां पधारती हैं। ग्रहों के दोष, राहु-केतु का चक्कर, शनि की कुदृष्टि जैसे बहुत से कारण हो सकते हैं। इस समस्या को बढ़ाने में कई बार कुछ वास्तु दोष भी अहम किरदार निभाते हैं। इस संकट को काटने के लिए ऐसे ही कुछ उपाय हैं जो इन परेशानियों से मुक्ति दिलाएंगे।

-घर के दक्षिण-पूर्वी दिशा में वास्तु पिरामिड की स्थापना से गृहक्लेश नहीं होता। दरअसल दक्षिण-पूर्वी दिशा को अग्नि कोण माना जाता है। इस दिशा में वास्तु पिरामिड की स्थापना करने से कलह में कमी आती है और परिजन निरोगी और अच्छे विचारों के होते हैं।

इसे भी पढ़े   खबर काम की - PM मोदी ने मुख्यमंत्रियों को किया सावधान....पढे पूरी खबर

-घर में लक्ष्मी जी के साथ श्री हरि विष्णु जी मूर्ति रखने से गृहक्लेश की समस्या को काफी हद तक दूर करती है। इनकी जोड़ी दांपत्य जीवन में समर्पण भाव को दर्शाती है। हफ्ते में किसी भी एक दिन विष्णु मंदिर जाएं और भगवान को बेसन के लड्डू अर्पित करें। प्रसाद के ये लड्डू पूरी श्रद्धा के साथ गरीबों में बांट दें।

कलह से निपटने में केसर का उपाय अत्यंत लाभदायक है। इसके लिए आपको चुटकी भर केसर को पानी में मिलाना होगा। सुबह उठकर स्नान आदि के बाद पूजा पाठ करें और केसर का तिलक लगाएं। केसर वाला दूध पीने से भी आपको शांति की प्राप्ति होगी।

-पति-पत्नी में अगर आए दिन झगड़े, वाद-विवाद या मन मुटाव रहता है तो ऐसे दंपति को अपने शयनकक्ष में राधा-कृष्ण की बड़ी से फोटो दीवार पर लगानी चाहिए। ऐसा करने से अभूतपूर्व बदलाव देखने को मिलेगा और दंपति के बीच प्रेम की स्थापना होगी।

इसे भी पढ़े   पुलिस की खड़ी गाड़ियां पी गईं लाखों का डीजल, पैसे बंटवारे में हुआ विवाद तो खुला राज

-जिस प्रकार आप दीवाली की रात दीपक जलाकर लक्ष्मी माता से आशीर्वाद मांगते हैं और उनकी कृपा खुद पर बनाए रखने के लिए प्रार्थना करते हैं उसी प्रकार गाय के घी का दिया प्रतिदिन तुलसी के पौधे पर जलाएं। दीप प्रज्वलित कर तुलसी माता से गृह शांति की प्रार्थना करें। ऐसा लगातार करने से परिवार में सुख-शांति बनी रहती है।

-अगर दाम्पत्य जीवन में कड़वाहट आ रही है, पति-पत्नी के बीच छोटी-छोटी बातों को लेकर मतभेद उत्पन्न हो रहे हैं तो सोमवार के दिन दो-मुखी रुद्राक्ष धारण करने से गृह क्लेश समाप्त हो जाते हैं। दो मुखी रुद्राक्ष में साक्षात शिव और पार्वती बसते हैं। इसे धारण करने के बाद आपके बिगड़े काम संवर जाते है। पति-पत्नी के बीच प्यार बढ़ता है।

-घर पर बनने वाली सुबह की पहली रोटी गाय के लिए निकालें। घर के आसपास गाय हो तो उसे अपने हाथों से रोटी खिलाकर आएं और कलह से मुक्ति की प्रार्थना करें। गौ माता की सेवा करने से आपके मन को शांति मिलेगी।

इसे भी पढ़े   मृत कोरोना मरीजो के पोस्टमार्टम,पर हुआ बड़ा खुलासा

-गुरुवार के दिन परिवार के सभी सदस्यों के साथ मिलकर सामर्थ्यानुसार केले गरीबों को बांटें।

नमक का पोछा गृह कलेश से मुक्ति पाने के लिए काफी लाभदायक होता है। घर में पोछा लगाने के लिए पानी में नमक मिला लें। समुद्री नमक उपलब्ध हो तो वो पानी में डालकर घर में पोछा लगाएं। इस तरह से पोछा लगाने से घर की नकारात्मकता दूर होती है। यह उपाय घर के वास्तु दोषों को भी दूर करता है।

-आपके घर में जूते-चप्पल बिखरे पड़े रहते हैं तो आपके घर में नेगेटिव एनर्जी बनी रहेगी। ऐसे घर में कलेश होना आम बात है। जूतों का एक निश्चित स्थान बनाएं और सुनिश्चित करें कि सब वहीं जूते वगैरह रखें। ध्यान रहे घर के दरवाजों पर उल्टी चप्पल ना पड़ी रह जाएं।