बिलासा एयरपोर्ट पहुंचे यात्रियों ने प्रबंधन को खरी-खोटी सुनाई

बिलासा एयरपोर्ट पहुंचे यात्रियों ने प्रबंधन को खरी-खोटी सुनाई

छत्तीसगढ़ डेस्क 

बिलासपुर। कोहरे के चलते आए दिन फ्लाइट कैंसिल कर देने से यात्री परेशान हो रहे हैं। शुक्रवार को जबलपुर और इंदौर की फ्लाइट कैंसिल होने पर सफर के लिए बिलासा एयरपोर्ट पहुंच चुके यात्रियों ने प्रबंधन को खरी-खोटी सुनाई, साथ ही राज्य के अधिकारियों पर जरूरी उपकरण लगाने में देरी के लिए रोष व्यक्त किया। यात्रियों ने कहा कि दो साल से हवाई सेवा के नाम पर लोगों को परेशान किया जा रहा है, नहीं संभाला जा रहा है तो एयरपोर्ट को बंद कर देना चाहिए।

शुक्रवार को चकरभाटा स्थित बिलासा एयरपोर्ट पर पहले इंदौर और फिर उसके बाद जबलपुर की फ्लाइट की लैंडिंग कैंसिल कर दी गई। इनमें सफर करने के लिए करीब 55 लोग पहुंचे हुए थे। एयरपोर्ट पहुंचने के बाद उन्हें एन वक्त पर फ्लाइट कैंसिल होने की जानकारी मिली। उल्लेखनीय है कि मौसम की सटीक जानकारी देने वाली डिजिटल करंट वेदर इनफार्मेशन सिस्टम मशीन बिलासपुर एयरपोर्ट में 2 साल से रखी हुई है लेकिन उसे अभी तक लगाया नहीं गया है। मौसम की सटीक जानकारी इससे मिलती है जिससे समय पर फ्लाइट को टेक ऑफ और लैंडिंग के लिए पहले से निर्णय लिया जा सकता है। बाद में मौसम साफ होने पर लैंडिंग भी हो सकती है। शुक्रवार को जिस समय फ्लाइट कैंसिल करने की घोषणा की गई उस समय बिलासपुर मौसम साफ हो चुका था। इसके बावजूद इंदौर से आने वाली फिर जबलपुर से बिलासपुर आने वाली फ्लाइट को सीधे रायपुर ले जाया गया। जनवरी महीने में अब तक 7 बार फ्लाइट कैंसिल की जा चुकी है। बिलासपुर एयरपोर्ट में मामूली कोहरे की स्थिति में विमानों को उतारने के लिए आईएफआर श्रेणी में उन्नयन की आवश्यकता है जिसके लिए राज्य सरकार ने बजट जारी कर दिया है लेकिन पीडब्ल्यूडी का यह काम काफी धीमी गति से चल रहा है।