केरल: विधानसभा के विशेष सत्र में सीएम विजयन ने रखा कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्‍ताव – Channelindia News
Connect with us

BREAKING

केरल: विधानसभा के विशेष सत्र में सीएम विजयन ने रखा कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्‍ताव

Published

on

तिरुवनंतपुरम
केरल विधानसभा के विशेष सत्र में सीएम पिनराई विजयन ने केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्‍ताव पेश किया है। इस विशेष सत्र को कृषि कानूनों पर चर्चा के लिए बुलाया गया है। इस विशेष सत्र को बुलाए जाने के लिए राज्‍य सरकार ने राज्‍यपाल से सिफारिश की थी जिसे उन्‍होंने पहले ठुकरा दिया था हालांकि सोमवार को उन्‍होंने अनुमति दे दी थी।

केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने तीन विवादास्पद केंद्रीय कृषि कानूनों पर चर्चा करने और उनके खिलाफ प्रस्ताव पारित करने के लिए एक दिवसीय विशेष सत्र बुलाने की 31 दिसंबर को मंजूरी दी है। कुछ दिन पहले सीपीआई-एम नीत वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (एलडीएफ) सरकार ने विधानसभा सत्र बुलाने का एक नया प्रस्ताव भेजा था क्योंकि उससे पहले राज्यपाल ने ऐसी ही सिफारिश खारिज कर दी थी।

इसे भी पढ़े   मेकाहारा में कोरोना के मरीज़ों के इलाज के लिए हो सकेगी बेहतर व्यवस्था, विशेषज्ञ चिकित्सक, प्रशिक्षित स्टाफ, बेड एवं आईसीयू की व्यवस्था के मद्देनज़र लिया गया निर्णय!!

23 दिसंबर को सत्र की मंजूरी से किया था इनकारइस एक दिवसीय सत्र के लिए सरकार ने राज्‍यपाल को कुछ स्‍पष्‍टीकरण दिए थे। एक अप्रत्याशित कदम के तहत राज्यपाल ने 23 दिसंबर को विवादास्पद कानूनों पर चर्चा के लिए विशेष सत्र बुलाने की मंजूरी देने से इनकार कर दिया था और कहा था कि मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन ने इतना संक्षिप्त सत्र बुलाने की आपात स्थिति संबंधी उनके सवाल का जवाब नहीं दिया।

इसे भी पढ़े   ऑफर! Samsung Big TV Days Sale में स्मार्ट टीवी पर छूट के साथ मोबाइल, साउंडबार जीतें

राज्‍यपाल ने कहा था- राज्‍य के अधिकार से बाहर की बातविजयन को भेजे पत्र में राज्यपाल ने यह भी कहा कि सरकार ‘एक ऐसी समस्या पर चर्चा के लिए विशेष सत्र बुलाने चाहती है जिसपर आपको समाधान करने का क्षेत्राधिकार नहीं है।’ विजयन ने मंगलवार को खान को जवाबी पत्र लिखा और यह कहते हुए उनके निर्णय को खेदजनक बताया कि राज्यपाल मंत्रिपरिषद की सलाह से बंधे हैं तथा विधानसभा में प्रस्ताव लाने और चर्चा राज्यपाल की शक्तियों द्वारा संचालित नहीं हो सकती। उसके बाद 24 दिसंबर को मंत्रिमंडल ने बैठक करके फिर सत्र बुलाने की सिफारिश की तथा कानून मंत्री ए के बालान एवं कृषि मंत्री वी एस सुनील कुमार शुक्रवार को राज्यपाल उनसे मिले।

इसे भी पढ़े   सांसद सोनी का तीखा प्रहार कहा- पहले मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री को एम्स भेजें, फिर कांग्रेस के लोग नसीहतें दें
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

R.O. No. 11359/53

CG Trending News

BREAKING13 hours ago

छतीसगढ़ ब्रकिंग ;रायपुर के 240 निजी स्कूलों की मान्यता रद्द

रायपुर ;जिला शिक्षा नें अधिकारी  जिले के 240 निजी स्कूलों की मान्यता तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दी है| इसके...

channel india14 hours ago

धान से लदा ट्रेक्टर अचानक पलटा

चिरमिरी – ग्राम मेंड्रा में उस समय अफरातफरी का माहौल बन गया जब धान से लदा ट्रेक्टर अचानक पलट गया।...

channel india15 hours ago

वेब सीरीज “तांडव” पर छतीसगढ़ में भी मंचा तांडव, भारतीय जनता युवा मोर्चा ने किया पुतला दहन

रायपुर। वेब सीरीज  पर जब से “तांडव” आई है तब से इस वेब सीरीज नें देश के हर कोनें में...

बेरोजगार किसान रैली महाराष्ट्र से रैली कर रायपुर वापस लौटे शिवसैनिक बेरोजगार किसान रैली महाराष्ट्र से रैली कर रायपुर वापस लौटे शिवसैनिक
channel india15 hours ago

बेरोजगार किसान मोर्चा: महाराष्ट्र से रैली कर रायपुर वापस लौटे शिवसैनिक

रायपुर। छत्तीसगढ़ से शिव सेना के प्रदेश सचिव संजय नाग ने प्रेस को जानकारी देते हुए बताया कि शिवसेना प्रदेश...

channel india16 hours ago

औघड़ आश्रम स्थापना दिवस कार्यक्रम: जरूरतमंदों को बांटा गया कंबल वितरण

जशपुर। जशपुर कलेक्टर महादेव कावरे एवं पुलिस अधीक्षक बालाजी राव पत्थलगांव विकासखंड के शेखरपुर में स्थित औघड़ आश्रम  एवं औघड़...

खबरे अब तक

Advertisement
Advertisement