कलेक्टर और एसपी ने ग्राम आकाबेड़ा पुलिस सिविक एक्शन कार्यक्रम में शिरकत की

कलेक्टर और एसपी ने ग्राम आकाबेड़ा पुलिस सिविक एक्शन कार्यक्रम में शिरकत की

छत्तीसगढ़ डेस्क 

नारायणपुर। कलेक्टर अजीत वसन्त एवं पुलिस अधीक्षक सदानंद कुमार मुख्यालय के वनांचल ग्राम आकाबेड़ा पहुंच कर पुलिस सिविक एक्शन कार्यक्रम में शिरकत किया। और कार्यक्रम में उपस्थित ग्रामीणों से रूबरू होते हुए कलेक्टर ने उनसे क्षेत्र की समस्याओं एवं मांगो को लेकर चर्चा की। उन्होने कहा कि क्षेत्र के विकास को मुख्य धारा से जोड़ने के लिए निर्माण कार्यो में ग्रामीणो का सहयोग अपेक्षित है। इससे लिए जल, जंगल, जमीन का संरक्षण हम सभी का उत्तर दायित्व है।चुकि स्वास्थ्य शिक्षा और सुपोशण हमारी प्राथमिक आवश्कताएं है। और अच्छे रोड कनेक्टिविटी से ही ये सेवाएं त्वरित इन दुर्गम पहाड़ों में बसे गांव तक पहुंच सकते हैं। और मैदानी कर्मचारी भी पूरी कार्य कुशलता से इन ग्रामो तक पहुंचकर अपने कार्य संपादित कर सकेंगे। अतः ग्रामीणजन भावी पीढ़ी के भविश्य को देखते हुए गंभीरता पूर्वक अपना विचार कर सहयोग देवे। इसके साथ ही उन्होने स्वास्थ्य विभाग को निर्देशित करते हुए कहा कि हाट बाजारों में स्वास्थ्य शिविर लगाने के साथ-साथ वें स्वास्थ्य जागरूकता संबंधी मुनादी अवश्य करवायें।

जिससे जल जनित रोग से बचाव हेतु उबले पानी का सेवन और मच्छरदानी के उपयोग के महत्व के संदेश को अधिक से अधिक ग्रामीणों तक पहुंचाया जा सके। इसके अलावा महत्वपूर्ण शासकीय योजनाओं के प्रचार प्रसार को भी इस मुनादी के माध्यम से भी करवाया जा सकता है। इसके साथ ही उन्होने वृद्धा पेशन योजना, पीडीएस सेवाएं, स्कूल तथा आंगनबाड़ी भवन की उपलब्धता के बारे में भी ग्रामीणो से जानकारी ली और कहा कि जिन ग्रामीणों के पास राशन कार्ड नही है वंे सचिव के पास अथवा जनपद कार्यालय में अपना नाम दर्ज करावें। कार्यक्रम में ग्रामीणों ने भी अपने समस्याओं और मांगो के बारे में भी कलेक्टर को अवगत कराया। इस क्रम में ग्राम एनामेटा के रमेश जूर्री ने अधूरे आंगनबाड़ी तथा बोर पंप की मांग, ग्राम आकाबेड़ा के राजकुमार ने पेयजल समस्या, ग्राम कुतूलनार के ग्रामीणो ने विद्युत ट्रांसफारमर खराब होने तथा ग्राम ताड़नार में स्कूल एवं आंगनबाड़ी भवन को पक्का बनाने की मांग की। इसके लिए कलेक्टर ने उपस्थित अधिकारियो को निरीक्षण कर इसके निराकरण करने को कहा।

इस क्रम में नारायणपुर पुलिस द्वारा ''गोतियाल पुलिस'' ''निया पुलिस निया नार'' (मित्र पुलिस) के तहत् मेडिकल कैम्प लगाकर ग्रामीणों में दवाईयां भी वितरित किया गया। और जरूरतमंद ग्रामीणों को उपहार स्वरूप महिलाओं को साड़ियां एवं ग्रामीणो को लूंगी वस्त्र कलेक्टर एवं एसपी के द्वारा प्रदाय किया गया। साथ ही ग्राम निरामेटा, कोड़कानार और नेलनार के युवाओं को व्हालीबाल एवं फुटबाल किट और आकाबेड़ा के युवाओं को क्रिकेट किट भी दिये गयें। उक्त कार्यक्रम में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी देवेश कुमार ध्रुुव, संयुक्त कलेक्टर प्रदीप वैद्य सहित अन्य विभागो के मैदानी कर्मचारी उपस्थित थे।