इम्युनिटी बढ़ाने के लिए खा रहे हैं खूब संतरे, तो हो जाइए सावधान…. – Channelindia News
Connect with us

देश-विदेश

इम्युनिटी बढ़ाने के लिए खा रहे हैं खूब संतरे, तो हो जाइए सावधान….

Published

on


नई दिल्ली: आमतौर पर सभी जानते हैं कि फलों के सेवन से सेहत को कई लाभ होते हैं. हम सभी बचपन से सुनते आ रहे हैं कि संतरा खाने से ढेरों फायदे होते हैं. लेकिन क्या आपने सुना है कि ज्यादा संतरा खाने से शरीर को नुकसान भी हो सकता है. जी हां, ज्यादा संतरा खाने से हमारे शरीर को नुकसान पहुंचता है.

कोरोना वायरस के चलते लोग अपनी इम्यूनिटी (Immunity) मजबूत करने के लिए खूब ‘विटामिन-सी’ ले रहे हैं. ऐसे में सबसे ज्यादा सेवन विटामिन-सी से भरपूर संतरे खूब खाया जा रहा है. संतरा इम्यूनिटी को मजबूत करता है. बहुत से लोग इम्यून सिस्टम मजबूत बनाने के लिए संतरे का अधिक सेवन करने लगते हैं.

संतरा वैसे तो सेहत के लिए बेहद फायदेमंद है, पर कुछ परिस्थितियों में इसका सेवन हानिकारक हो जाता है, तो चलिए आपको बताते हैं कि बेहतरीन स्वाद और पौष्टिकता से भरपूर संतरा कैसे नुकसानदेह साबित हो सकता है..

सीने में जलन की समस्या हो सकती है
संतरा आपके दिल को स्वस्थ्य रखता है. ये आपके आंखों के लिए भी फायदेमंद है लेकिन ज्यादा संतरा खाने से सीने में जलन, वजन बढ़ने जैसी कई समस्याएं हो सकती हैं.

पाचन क्रिया पर पड़ता है सीधा असर
इस फल का ज्यादा सेवन करने से पाचन क्रिया पर भी सीधा असर पड़ता है. ज्यादा सेवन आपकी पाचन क्रिया को प्रभावित करता है.  इसमें फाइबर ज्यादा पाया जाता है. जिस वजह से पेट में दर्द और दस्त जैसी समस्याएं पैदा हो सकती हैं.

ज्यादा जूस बढ़ाता है ब्लड शुगर लेवल
इसका जूस ज्यादा पीने से ब्लड शुगर लेवल बढ़ता है. ऐसे में ब्लड शुगर लेवल को संतुलित बनाए रखने के लिए ऑरेंज जूस का कम  पीना चाहिए.  इसमें मौजूद ग्लाइसेमिक इंडेक्स के लोड को बढ़ा देता है. जोकि आपका वजन बढ़ाता है.

फाइबर, कार्बोहाइड्रेट की मात्रा बढ़ने से लगती है ज्यादा भूख
संतरे को ज्यादा मात्रा में खाने से शरीर में फाइबर, कार्बोहाइड्रेट की मात्रा बढ़ती है और ज्यादा भूख भी लगती है ऐसे में ज्यादा भूख लगना वजन बढ़ने का कारण बन जाता है.

हड्डियों पर पड़ता है असर
संतरे का सेवन हड्डियों को भी कमजोर करता है. गलत समय पर संतरा खाने से हड्डियों पर भी असर पड़ता है.

गर्भवती महिलाओं को कम खाने चाहिए संतरे
वहीं गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी अधिक मात्रा में ही संतरे का सेवन नहीं करना चाहिए.

हार्ट के मरीज कम खाएं
इसके अलावा जिन लोगों को हार्ट की समस्या हो उन्हें संतरे का सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि संतरे में एसिड की काफी मात्रा पाई जाती है, ऐसे में ये हार्ट के लिए नुकसानदायक साबित हो सकती है.

दांतों के लिए भी हानिकारक
संतरा दांतों के लिए भी हानिकारक होता है. दांतों की इनेमल सुरक्षा करता है. लेकिन संतरे में मौजूद एसिड दांतों के इनेमल में मौजूद कैल्शियम से मिलकर रिएक्शन करने लगता है. संतरा खाने से दांतों को सुरक्षा देने वाली परत को नुकसान हो सकता है. संतरे में एसिड की अधिक मात्रा होने की वजह से दांतों में मौजूद कैल्शियम से यह एसिड रिएक्शन कर सकता है, जिससे दांत धीरे-धीरे खराब होने लगते हैं.

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

BREAKING21 seconds ago

अब जहरीली शराब बेचने पर होगी फांसी या सलाखों के पीछे कटेगी पूरी जिंदगी, पढ़े पूरी खबर…

जहरीली शराब बेचने वालों को अब आजीवन कारावास और फांसी दी जाएगी. मध्य प्रदेश कैबिनेट ने आज अधिकतम 10 साल...

accident news10 mins ago

दर्दनाक सड़क हादसा : 2 बाइक की जोरदार भिड़ंत, 1 चालक सिर कटा, घायलों का उपचार जारी…

जांजगीर-चांपा(चैनल इंडिया)| जिला के पामगढ़ थाना क्षेत्र से एक दिल दहला देने वाला सड़क दुर्घटना सामने आया है जिसमें पामगढ़...

channel india1 hour ago

राज्य गौ सेवा आयोग के नव पदाधिकारियों का पदभार ग्रहण कार्यक्रम, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सहित मंत्री रविन्द्र चौबे भी हुए शामिल

जशपुर(चैनल इंडिया)|  राज्य गौ सेवा आयोग के नव पदाधिकारियों के पदभार  ग्रहण कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा...

channel india2 hours ago

कलेक्टर ने एसडीएम, लोक निर्माण विभाग राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों की ली समीक्षा बैठक

जशपुरनगर(चैनल इंडिया)|  कलेक्टर महादेव कावरे ने आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में अनुविभागीय दंडाधिकारी, लोक निर्माण विभाग, राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों की...

BREAKING2 hours ago

शोध में खुलासा : Covid-19 महामारी में इन्फ्लूएंजा वैक्सीान दे रहा है सुरक्षा कवच, कोरोना के गंभीर प्रभावों से कर रहा बचाव

कोरोना संक्रमण से बचाव में इन्फ्लूएंजा वैक्सीन काफी असरदार साबित हो रहा है. यह बात एक शोध में सामने आई...

Advertisement
Advertisement