आखिरकार 19 साल बाद भारत लाया गया सटोरिया संजीव चावला, खुलेंगे मैच फिक्सिंग के कई राज – Channelindia News
Connect with us

क्राइम

आखिरकार 19 साल बाद भारत लाया गया सटोरिया संजीव चावला, खुलेंगे मैच फिक्सिंग के कई राज

Published

on


दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच भारतीय मूल के ब्रिटिश नागरिक संजीव चावला को आखिरकार 19 साल बाद लंदन से भारत लाने में सफल रही. संजीव चावला को कई कानूनी प्रक्रिया पूरी करने के बाद प्रत्यर्पण कर भारत लाया जा सका है. संजीव चावला 2000 के मैच फिक्सिंग के मामले में आरोपी है और तभी से उसकी तलाश चल रही थी, उसे भारत आने के बाद मैच फिक्सिंग की दुनिया के तमाम राज खुल सकते हैं और क्रिकेट की दुनिया के कुछ और सितारों के नाम सामने आ सकते हैं. साल 2000 में क्राइम ब्रांच के इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह ने साउथ अफ्रीका के खिलाड़ी हैंसी क्रोनिए और संजीव चावला के बीच बातचीत की रिकॉर्डिंग सुनी थी और तब मैच फिक्सिंग का खुलासा हुआ था.

इसे भी पढ़े   पुलिस को मिली बड़ी सफलता : 8 प्रतिबंधित संगठनों के 644 उग्रवादियों ने 177 हथियारों के साथ किया सरेंडर

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच के डीसीपी राम गोपाल नाइक की टीम जो इस मामले की जांच कर रही है वो गुरुवार सुबह करीब 10:30 बजे संजीव को लेकर दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट पहुंची, एक विशेष संधि के तहत उसे लंदन से भारत प्रत्यर्पित किया गया है.साल 2000 में 16 फरवरी और 20 मार्च को खेले गए भारत-दक्षिण अफ्रीका मैच में फिक्सिंग के आरोप के बाद दिल्ली पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू की थी. पुलिस ने साउथ अफ्रीका टीम के कैप्टन रह चुके दिवंगत हैंसी क्रोनिए समेत 6  लोगों के खिलाफ 2013 में ही चार्जशीट पेश कर दी थी, साउथ अफ्रीका के खिलाड़ी हर्शल गिब्स और निकी बोए के फिक्सिंग से जुड़े होने के पर्याप्त सबूत न मिलने पर उनका नाम चार्जशीट से हटा दिया गया था.

इसे भी पढ़े   पुलिस अधीक्षक  कांकेर एम आर आहिरे के आदेश से स्पंदन कार्यक्रम का हुआ आयोजन

शुरुआती दौर में हैंसी क्रोनिए ने इन तमाम आरोपों से इनकार किया था लेकिन बाद में उन्होंने कबूल किया था कि वह मैच फिक्सिंग में शामिल थे,उन्हें पद से हटा दिया था और साल 2002 में हैंसी क्रोनिए की एक विमान दुर्घटना में मौत हो गई थी. इस चार्जशीट में हैंसी क्रोनिए, सटोरिये संजीव चावला, मनमोहन खट्टर, राजेश कालरा और सुनील दारा सहित टी सीरीज के मालिक के भाई कृष्ण कुमार को  आरोपी बनाया गया था.

इसे भी पढ़े   जानिये क्यों राम मंदिर के लिए दलित पुजारी चुनना चाहती है सरकार

लेकिन संजीव उसके पहले ही लंदन भाग गया था, पुलिस लगातार संजीव को भारत लाने की कोशिश कर रही थी. पुलिस ने साल 2000 में संजीव का पासपोर्ट रद्द करा दिया था,2005 में संजीव चावला को लंदन की नागरिकता भी मिल गई,2016 में उसे भारतीय एजेंसियों की पहल पर लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया था. उसके बाद वो लगातार कानूनी दांवपेंच खेलता रहा ,पिछले महीने उसने अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार कोर्ट में भी अपील की लेकिन उसे कोई राहत नहीं मिली.

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

channel india45 mins ago

सनी लियोनी (Sunny Leone) और उनके पति का ये वीडियो खूब हो रहा वायरल , पति को सबक सिखाते हुए आई नजर , देखे VIDEO

सनी लियोनी (Sunny Leone) ने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर किया है ,जिसमें वह अपने घर के बगीचे में दिखाई...

channel india1 hour ago

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का कोरोना टेस्ट नेगेटिव

मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी  मुक्तेश्वरी बघेल, नान के अध्यक्ष  रामगोपाल अग्रवाल, खनिज विकास निगम के अध्यक्ष  गिरीश देवांगन और मुख्यमंत्री के...

channel india2 hours ago

मुख्यमंत्री ने जो जवाबदारी मुझे प्रदान की है उसका निर्वाह करूंगा – राजेश्री महन्त जी महाराज

रायपुर | राज्य गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष राजेश्री डॉ महन्त रामसुन्दर दास जी महाराज ने आज  दिनांक 9 अगस्त...

channel india3 hours ago

जल्द लॉन्च होगा एन.आई.टी के छात्रों का स्टार्टअप “जिमनैश”, पब्लिक एवं मीडिया रिलेशन सेल, एन. आई. टी. रायपुर

रायपुर | एनआईटी के छात्र आयुष पटेल और उनके साथियों ने मिलकर एक ऐसा प्लेटफॉर्म विकसित किया है जिसके माध्यम...

channel india3 hours ago

सूने मकान का ताला तोड़कर नकबजनी करने वाला आरोपी गिरफ्तार, प्रोफेशनल तरीके से दिया था चोरी की घटना को अंजाम

रायपुर(चैनल इंडिया)। प्रार्थी जय प्रकाश प्रधान ने थाना पुरानी बस्ती में रिपोर्ट दर्ज कराया कि प्रोफेसर कालोनी सेक्टर 02 पुरानी...

खबरे अब तक